नेपाल में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण करने वाले चीनी आदमी नी चिएक्वो की कहानी

2019-10-08 15:19:19
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

नेपाल में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण करने वाले चीनी आदमी नी चिएक्वो की कहानी

नी चिएक्वो का जन्म 1980 में हुआ था। वह चीन के शी पेई नागरिक उड्डयन हवाई अड्डा निर्माण समूह की नेपाली गौतम बुद्ध अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा सुधारने की परियोजना का उप प्रबंधक है। वह चीनी जन मुक्ति सेना का एक सैनिक था और उसने अफ्रीका के अंगोला में काम किया था। 2015 की जनवरी में उसने नेपाल में काम शुरू किया। पिछले 4 वर्षों से वह नेपाल में काम कर रहा है। अपने चीनी नाम के अर्थ की चर्चा करते हुए नी चिएक्वो ने कहा कि मेरा जन्म यान आन शहर के दूरस्थ क्षेत्र में हुआ था। उस समय उस का घर गरीब था और घर में कई बच्चे थे। घर में माता पिता को आशा थी कि बच्चे बाहर की दुनिया में जा कर काम करेंगे। मेरा नाम चिएकवो है, इस का अर्थ है कि देश का निर्माण करना। क्योंकि अच्छी तरह देश का निर्माण करने के बाद लोगों के जीवन का स्तर उन्नत किया जा सकता है। यह मेरे नाम की एक छोटी कहानी है।

इस तरह नी चिएक्वो ने अपने घर से बाहर जाकर विदेश में काम शुरू किया था। उसने न केवल बाहर की दुनिया को देखा, बल्कि विदेशी लोगों की उनके घर के निर्माण में मदद भी की।

नेपाली गौतम बुद्ध अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बुद्ध शाक्यमुनि के जन्म स्थल लुम्बिनी के लिए एक निकटतम हवाई अड्डा है। अब तक यह एक बहुत छोटा हवाई अड्डा है, जो केवल नेपाली घरेलू उड़ानों की उड़ान के काम आता है। अब नी चिएक्वो और उसके सहयोगियों ने इस हवाई अड्डे को सुधारने और इस का विस्तार करने का काम किया। उनके प्रयास से नया अंतरराष्ट्रीय टर्मिनल, प्रशासनिक कार्यालय भवन, नियंत्रण टॉवर, सब-स्टेशन, पार्किंग स्थल समेत विभिन्न सार्वजनिक सुविधाएं बनाई गई।

अब तक नेपाल में केवल एक अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है, जो राजधानी काठमांडू में स्थित है। नेपाली गौतम बुद्ध अंतर्राष्ट्रीय

123MoreTotal 3 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories