सुधार और खुलेपन की 40वीं वर्षगांठ पर समारोह पेइचिंग में आयोजित

2018-12-24 16:38:31
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

सुधार और खुलेपन की 40वीं वर्षगांठ पर समारोह पेइचिंग में आयोजित

18 दिसंबर को सुबह चीन के सुधार व खुलेपन की नीति लागू होने की 40वीं वर्षगांठ मनाने का समारोह पेइचिंग में आयोजित हुआ। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव, चीनी राष्ट्रपति और चीनी सैन्य आयोग के अध्यक्ष शी चिनफिंग समारोह में उपस्थित हुए और उन्होंने अहम भाषण दिया। शी चिन फिंग ने कहा कि सुधार और खुलापन चीनी जनता और चीनी राष्ट्र के विकास के इतिहास में एक महान क्रांति है, जो चीनी विशेषता वाला समाजवादी कार्य में बढ़ावा दे रहा है। 18 दिसंबर 1978 को सीपीसी पार्टी की 11वीं कांग्रेस का तीसरा पूर्णाधिवेशन आयोजित किया गया था और चीन में सुधार और खुलेपन की नीति लागू हुई। पिछले 40 सालों तक विश्व आर्थिक विकास के लिये चीन की योगदान दर 30 प्रतिशत से अधिक रही है। पिछले 40 सालों में चीन विश्व का दूसरा बड़ा आर्थिक समुदाय, पहला बड़ा औद्योगिक देश, पहला बड़ा कार्गो व्यापार देश और पहला बड़ा विदेशी मुद्रा का भंडार देश बन चुका है।

शी चिन फिंग ने भाषण में चीन के सुधार और खुलेपन की नीति लागू होने के बाद से अब तक के 40वर्षों में चीन के प्रयास की प्रक्रिया और इससे मिले मूल्यवान अनुभव का सिंहावलोकन किया। उन्होंने कहा कि 40 वर्षों के अनुभव से यह ज़ाहिर है कि सीपीसी पार्टी की 11वीं कांग्रेस के तीसरे पूर्णाधिवेशन से अब तक चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में चीनी जनता के चीनी विशेषता वाला समाजवादी रास्ता, सिद्धांत, प्रणाली और संस्कृति पूरी तरह से सही हैं। चीन का विकास व्यापक विकासशील देशों को आधुनिकीकरण करने के लिए सफल अनुभव देता है और एक उज्जवल भविष्य दिखा रहा है। यह विश्व शांति और विकास को आगे बढ़ाने की मज़बूत शक्ति के साथ मानव सभ्यता की प्रगति में चीनी राष्ट्र का बड़ा योगदान भी है।

शी चिनफिंग ने कहा कि चीन को सुधार व खुलेपन को जनता के केंद्र में रखकर जन मत का सम्मान करते हुए, परिस्थिति पर ध्यान देने के साथ-साथ जन-जीवन के सुधार में काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीपीसी पार्टी को सुन्दर जीवन के प्रति जनता की अभिलाषा को संघर्ष का लक्ष्य बनाना चाहिए। लोकतंत्र व्यवस्था को परिपूर्ण बनाना चाहिए, लोकतंत्र के माध्यम का विस्तार करना चाहिए और कानूनी गारंटी को परिपूर्ण बनाना चाहिए। हमें जनता की मांग को पूरा करने की कोशिश करनी चाहिए। ताकि जनता अर्थव्यवस्था, राजनीति, संस्कृति, समाज और पारिस्थितिकी आदि विभिन्न क्षेत्रों की विकास उपलब्धियों को साझा कर सके।

1234MoreTotal 4 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories