"एक पट्टी एक मार्ग" सहयोग की संभावना पर चीन और अमेरिका के विशेषज्ञों की वार्ता

2018-05-07 11:08:16
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

"एक पट्टी एक मार्ग" सहयोग की संभावना पर चीन और अमेरिका के विशेषज्ञों की वार्ता

इस वर्ष चीन में सुधार और खुलेपन की नीति लागू किये जाने की 40वीं वर्षगांठ के साथ "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव पेश किये जाने की पाँचवीं वर्षगांठ भी है। हाल ही में अमेरिका की वॉशिंगटन ब्रूकिंग्स सोसाइटी ने आईएफएफ चीन रिपोर्ट 2018 जारी करने का एक सम्मेलन आयोजित किया। चीन और अमेरिका के विशेषज्ञों, विद्वानों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रधानों ने समान रूप से "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव को आगे बढ़ाने के दौरान हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बुनियादी संस्थापनों के निर्माण, खतरों की रोकथाम जैसे मामले का मुकाबला करने के कदमों पर विचार-विमर्श किया।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष यानी आईएमएफ़ की अध्यक्षा क्रिस्टीन लगार्ड ने हाल ही में चीन की यात्रा की है। उन्होंने पेइचिंग में कहा कि आईएमएफ़ चीन के साथ सहयोग गहराने में जुटा रहेगा और चीन द्वारा प्रस्तुत "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव का सक्रिय रूप से समर्थन करेगा। आईएमएफ़ के एशिया-प्रशांत ब्यूरो के अध्यक्ष छांग योंग ली ने रिपोर्ट जारी करने के सम्मेलन में कहा कि चीन द्वारा प्रस्तुत "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव से व्यापार, निवेश और वित्त के क्षेत्रों में संबंधित देशों के साथ आगे सहयोग करने और बुनियादी संस्थापनों के निर्माण से आर्थिक वृद्धि होने के लिए मददगार सिद्ध होगी।

उन्होंने कहा कि एशिया में हमें अनेक क्षेत्रों में बुनियादी संस्थापनों का निर्माण करना चाहिए। चीन द्वारा प्रस्तुत "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव से आईएमएफ और चीन सरकार को सफलता से सहयोग करने का एक अच्छा मौका प्रदान किया गया। "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव के कई फायदे हैं। हालांकि उसमें खतरे भी हैं, लेकिन आईएमएफ के लिए इन क्षेत्रों में चीन को सहायता दी जाएगी और जिससे चीन को सफलता मिल सके, चीन और विश्व इससे लाभ मिलेगा।

12MoreTotal 2 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories