सृजन से विकास और चीन की अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा शक्ति बढ़ी

2018-01-08 13:25:57
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

सृजन से विकास और चीन की अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा शक्ति बढ़ी

अलेक्जेंडर ने कहा कि चीन विश्व आर्थिक विकास को आगे बढ़ाने का इंजन बनने के साथ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी और चीन सरकार लोगों के जीवन पर बड़ा ध्यान देती है।

उन्होंने कहा कि आम लोगों के जीवन में बड़ा बदलाव आया है, जीवन की गुणवत्ता में काफी सुधार हुआ है। कुछ निवेशकों ने अपनी अपनी परियोजना को चीन से दक्षिण-पूर्वी एशिया तक पहुंचाया है, क्योंकि दक्षिण-पूर्वी एशिया के उन देशों के जन-जीवन का स्तर चीन से कम है, जिससे यह ज़ाहिर है कि चीन विकास के एक और अधिक चरण में प्रवेश कर गया है।

अलेक्जेंडर ने कहा कि चीन में हर व्यक्ति और और हर परिवार ने देश के विकास और बदलाव को महसूस किया है। इस के साथ चीन देश, समाज और व्यक्ति के बीच सामंजस्यपूर्ण संबंधों का निर्माण कर रहा है, जिससे हर व्यक्ति को विकास का लाभ मिलता है। चीन सरकार लोगों के जीवन की गुणवत्ता को उन्नत करने, सुख को बढ़ाने के साथ तकनीकी सृजन से आर्थिक और सामाजिक विकास को आगे बढ़ाती है।

अलेक्जेंडर ने कहा कि पहले समय में चीन ने विश्व उन्नत तकनीक की उपलब्धियों से देश के आर्थिक विकास में बढ़ावा दिया है, जिससे राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था का बड़ा विकास हो रहा है। इधर के वर्षों में चीन निरंतर संसाधनों के आवंटन के अनुकूलन से सृजन वाले देश का निर्माण कर रहा है।

उन्होंने कहा कि अब चीन विश्व का सृजन केंद्र बन रहा है। कई क्षेत्रों में चीन नेतृत्व के स्थान पर है। चीन धीरे धीरे कुछ नई उपलब्धियों, नए दृष्टिकोण और नए विचारों का नेता बन रहा है। इन नए प्रस्तावों से भविष्य के कुछ वर्षों यहां तक की कई दशकों के लिए रणनीतिक दिशा की पुष्टि की गई है।

HomePrev123MoreTotal 3 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories