युन्नान प्रांत नए स्वरूप से उद्योग का परिशुद्धता गरीबी उन्मूलन करता है

2017-11-30 15:42:45
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

युन्नान प्रांत नए स्वरूप से उद्योग का परिशुद्धता गरीबी उन्मूलन करता है

युन्नान प्रांत नए स्वरूप से उद्योग का परिशुद्धता गरीबी उन्मूलन करता है

युन्नान प्रांत दक्षिण-पूर्वी चीन के सीमा क्षेत्र के पठार पर स्थित है। वहां पर सीमा क्षेत्रों, जातीय क्षेत्रों, पहाड़ी क्षेत्रों के साथ साथ गरीबीग्रस्त क्षेत्र भी मौजूद हैं। युन्नान प्रांत में कुल 88 गरीबीग्रस्त काउंटी हैं। यह संख्या देश में सबसे अधिक है। यह प्रांत चीन के गरीबी उन्मूलन के काम का मुख्य प्रांत है। इस प्रांत में गरीब आबादी 31 लाख 50 हजार है। इधर के वर्षों में युन्नान प्रांत ने गरीब लोगों की आय में वृद्धि करने के लक्ष्य से उद्योगों की स्थापना और गरीबी उन्मूलन के अवसर पर कई कदम उठाये हैं, अब गरीबी के उन्मूलन के काम में प्रारंभिक उपलब्धियां हासिल हुईं हैं।

स्थानीय गरीबी की स्थिति की चर्चा करते हुए युन्नान प्रांत की सरकार के गरीबी उन्मूलन और विकास कार्यालय के उप प्रधान यांग ली ने कहा कि युन्नान प्रांत के कुछ क्षेत्रों में दीप गरीबी के अनेक मामले हैं, कुछ क्षेत्रों की प्राकृतिक परिस्थितियां खराब हैं, जनसंख्या ज्यादा है, यातायात के बुनियादी संस्थापन कमज़ोर हैं, सार्वजनिक सेवा में ऋण का बोझ ज्यादा है, व्यक्तिगत उत्पादन और जीवन कठिन है, क्षेत्रीय आर्थिक और सामाजिक विकास पिछड़ रहा है।

हालांकि युन्नान प्रांत में गरीबी की बड़ी समस्या है, लेकिन चाय, कॉफी, फूल, सिगरेट - तंबाकू, औषधीय सामग्री और अखरोट आदि उद्योगों के क्षेत्र का उत्पादन देश में आगे है। युन्नान प्रांत में खनिज संसाधन और पर्यटन सांस्कृतिक संसाधन प्रचुर मात्रा में हैं। कहा जा सकता है कि युन्नान प्रांत में उद्योग के विकास के संसाधनों की कमी नहीं है। इन श्रेष्ठ संसाधनों का उपयोग करना, प्रभावी स्वरूप की खोज करना युन्नान प्रांत में उद्योगों की परिशुद्धता गरीबी उन्मूलन करने का प्रमुख लक्ष्य है।

यांग ली ने कहा कि उद्योग में गरीबी उन्मूलन करने के दौरान युन्नान प्रांत की सरकार, उद्योग, वित्त, बीमा, ग्रामीण स्तर के संगठन, गरीब परिवार आदि छह पक्ष एक साथ सहयोग करते हैं। इस स्वरूप का उल्लेखनीय प्रभाव है। यांग ली ने कहा कि वर्तमान में हमारे स्वरूप हैं छह पक्षों के बीच सहयोग। सरकारी मार्गदर्शन के साथ गरीब परिवारों को अनुवृत्ति दी जाती है। दूसरा, उद्योग इसमें भी भाग लेते हैं, जिससे बाज़ार की भूमिका निभाई जाती है। सरकार बाज़ार का इंतजाम नहीं कर सकती है। पूरा गांव उद्योग धंधों में भाग ले सकता है। सरकार गरीब परिवारों को वित्तीय सहायता देती है।

12MoreTotal 2 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories