चीन के फल चेरी के गृहनगर थोंगशिन गांव के गरीबी उन्मूलन का रास्ता

2017-08-18 13:58:01
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन के स्छवान प्रांत के याएन शहर के हान य्वान कस्बे के पहाड़ी इलाकों में समतल जमीन पर चीन के फल चेरी का गृहनगर थोंगशिन गांव स्थित है।

थोंगशिन गांव अल्पाइन पहाड़ों पर बसा है। इस वजह से यहां पर आना जाना आसान नहीं है, आर्थिक रूप से भी ये इलाका पिछड़ा हुआ है और यहां के लोग गरीबी में अपनी गुज़र बसर करते हैं। वर्ष 2002 से थोंगशिन गांव में सुधार का काम शुरू हुआ था। इस गांव ने धीरे-धीरे पहले उगाए गए कम आर्थिक मूल्य वाले मक्के और आलू को छोड़कर चेरी उगाना शुरू किया। वर्ष 20 अप्रैल 2013 को यहां आए ज़बर्दस्त भूकंप के बाद थोंगशिन गांव के हान य्वान कस्बे की सरकार ने नए किस्म के ग्रामीण क्षेत्रों के निर्माण को भूकंप के बाद के फिर से बनाने के लिये 3 करोड़ चीनी य्वान की पूंजी इकट्ठा की और उससे नए थोंगशिन गांव का निर्माण शुरू किया।

एक नए गांव का निर्माण करो, एक उद्योग का विकास करो और स्थानीय लोगों को अमीर बनाओ के लक्ष्य के अनुसार भूकंप के बाद के फिर से निर्माण की नीति और पूंजी के समर्थन में नए थोंगशिन गांव ने चेरी उगाने वाले उद्योग का पूरी तरह विकास करना शुरू किया। वर्तमान में इस गांव में चेरी उगाने के उद्योग का बड़ा पैमाना है, जिससे स्थानीय लोग गरीबी से दूर होते जा रहे हैं और धीरे-धीरे आर्थिक लाभ भी हो रहा है।

हान य्वान कस्बे के छिंग शी टाउन के अध्यक्ष यांग च्यी ह्वा ने परिचय देते हुए कहा कि अब तक हमारे प्रमुख उद्योग बड़ी चेरी के केन्द्र का क्षेत्रफल 1 हजार 2 सौ हैक्टर है। गांव में प्रति व्यक्ति दो हैक्टर हैं। इस उद्योग के समर्थन से पूरे गांव में 38 गरीब परिवार वर्ष 2015 में गरीबी बाहर निकले।

 

थोंगशिन गांव की हवा साफ़ है, सूर्य की रोशनी पर्याप्त है, जल संसाधन प्रचुर हैं। श्रेष्ठ प्राकृतिक वातावरण चेरी की गुणवत्ता को उन्नत करने की गारंटी है। लेकिन पहले से चेरी उगाने से चेरी के गृहनगर बनने का एक कठिन रास्ता है। चेरी उगाने की शुरूआत में गांव में चेरी के पेड़ लंबे और बड़े होते हैं लेकिन पेड़ों पर कोई फल नहीं थे। इसकी स्थिति गंभीर है। लोगों को मालूम है कि चेरी मीठी और स्वादिष्ट है लेकिन चेरी के पौधे लगाने से फल मिलने तक 8 वर्षों का लंबा इंतज़ार करना पड़ता है। स्थानीय सरकार ने लोगों को चेरी के उत्पादन और गुणवत्ता को उन्नत करने के लिए पूरी कोशिश की।

यांग च्यी ह्वा ने कहा कि हमारे चेरी उद्योग के विकास में कई कठिनाईयां आईं। इसमें सरकार का प्रमुख कार्य लोगों को तकनीकी स्तर पर उन्नत करने में मदद देना है। प्रमुख कदम है:पहला, खेती की कक्षा लगाने के लिए विशेषज्ञों और प्रोफेसरों को आमंत्रण दिया गया और लोगों को विशेष विषय पर व्याख्यान दिया गया। दूसरा, सबसे पहले चेरी उगाने की तकनीक पाने वाले लोगों ने दूसरों को अपने अनुभव बताए। उन्होंने खेती में लोगों को तकनीक दी।

सिलसिलेवार तकनीक समर्थन से चेरी उगाना इतना कठिन नहीं है। गांव में 2 तिहाई परिवारों की वार्षिक आय 70 हज़ार से 80 हज़ार चीनी य्वान है। चेरी की गुणवत्ता उन्नत होने के बाद बिक्री की स्थिति भी अच्छी हो रही है। इस गांव में ग्रामवासी च्यांग च्येई को इससे लाभ मिला है। 

च्यांग च्येई ने कहा कि खेती में सीधे कक्षा देने के लिए सरकार हर तिमाही स्छवान कृषि विश्वविद्यालय से विशेषज्ञों को बुलाती है। अब हमारे कस्बे के अध्यक्ष छोंगछिंग शहर में हमारी चेरी का परिचय देते हैं।

च्यांग च्येई ने कुछ वर्षों पहले शेनचेन शहर में अपने काम छोड़कर गृहनगर थोंगशिन गांव में वापस लौटे और चेरी उगाने का काम शुरू किया। इधर के वर्षों में उसने अपने गांव में बड़ा बदलाव देखा। पहले के समय में चेरी उगाने का परीक्षण करने से अब तक उसके चेरी ऑर्चिड का क्षेत्रफल एक दर्जन से अधिक हैक्टर है। पहले समय में उसने सड़क के पास चेरी बेची थी, लेकिन अब वह एक्सप्रेस वितरण से चेरी भेजता है। पहले के समय में एक किलो की चेरी 10 य्वान में बिकती थी लेकिन अब एक किलो के लिये 80 से अधिक य्वान चाहिए। चेरी उगाने से पिछले वर्ष च्यांग च्येई की आय एक लाख से अधिक य्वान रही।

याएन से शीछांग तक का हाइवे खोलने के बाद च्यांग च्येई और थोंगशिन गांव के ग्रामवासियों की चेरी न केवल स्छवान प्रांत के लोगों को मिल सकती है, बल्कि बिजली आपूर्तिकर्ता और एक्सप्रेस वितरण से पूरे देश में बेची जा सकती है। चेरी उगाने के उद्योग से थोंगशिन गांव में दर्शनीय स्थलों की यात्रा करने वाली कृषि और गांवों में पर्यटन उद्योग का तेज़ विकास हो रहा है। नीतिगत समर्थन के आधार पर च्यांग च्येई जैसे अपने गृहनगर में वापस लौटकर कार्य का विकास करने वाले के अधिकाधिक लोग हैं। वे अपने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर सुखमय जीवन के लिए कोशिश कर रहे हैं। गांव का तेज विकास और सुखमय जीवन बिताना हर ग्रामवासी की अभिलाषा है।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories