माइकल जॉर्डन के जूते हुए 4 करोड़ से अधिक में नीलाम

2020-05-20 15:01:04
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

महान बास्केटबॉल खिलाड़ी माइकल जॉर्डन के नेशनल बास्केटबॉल लीग मैच के दौरान पहने गए ‘एयर जॉर्डन’जूते नीलामी में पांच लाख 60 हजार डॉलर (करीब 4.2 करोड़ रुपये) में बिके जो बास्केटबॉल जूतों के लिए रिकॉर्ड राशि है। सफेद, काले और लाल रंग के यह जूते माइकल जॉर्डन के लिए 1985 में बनाए गए थे।

90 के दशक में शिकागो बुल्स की ओर से खेलने वाले जॉर्डनछह एनबीए टाइटल्स जीतने के अलावा 1984 लॉस एंजिल्स ओलंपिक और 1992 में हुए बार्सिलोना ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली अमेरिकी टीम के सदस्य थे। यह जॉर्डन की लोकप्रियता ही थी कि संन्यास लेने के बाद उनके क्लब ने 23 नंबर की जर्सी कभी किसी खिलाड़ी को नहीं पहनने दी।

वहीं इंग्लिश प्रीमियर लीग के खिलाड़ी और कोच भले ही मैचों से पहले अभ्यास के लिएपर्याप्त समय चाहते हैं, लेकिन इसके बावजूद ब्रिटेन के संस्कृति मंत्री ओलिवर डोवडेन को जून के मध्य तक यह फुटबॉल चैंपियनशिप शुरू होने की उम्मीद है।

प्रीमियर लीग के क्लबों को इस सप्ताह सामाजिक दूरी बनाए रखने के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए अभ्यास पर लौटने के लिए अभी ‘प्रोटोकॉल’ पर हस्ताक्षर करने हैं। इंग्लैंड में शीर्ष लीग का आखिरी मैच नौ मार्च को खेला गया था और न्यूकासल के कोच स्टीव ब्रूस ने कहा कि अगर जून के आखिरी सप्ताह से पहले मैच शुरू होते हैं तो उनके खिलाड़ी चोटिल हो सकते हैं।

इंग्लैंड की राष्ट्रीय टीम के सदस्य रहीम स्टर्लिंग ने भी मैचों की जल्द शुरुआत को लेकर चिंता जताईहै। रिपोर्टों के अनुसार प्रीमियर लीग 12 जून से वापसी कर सकती है। डोवडेन ने कहा कि जनता की सुरक्षा अब भी प्राथमिकता है, लेकिन उन्होंने साथ ही एक महीने में लीग शुरू होने की उम्मीद जताई।

डावडेन ने कहा, ‘‘मेरी गुरुवार को एफए (फुटबाल एसोसिएशन), ईएफएल (इंग्लिश फुटबाल लीग) और प्रीमियर लीग के साथ रचनात्मक बातचीत हुई। हम वापसी के लिए उनके साथ मिलकर काम कर रहे हैं। हमारा लक्ष्य जून के मध्य तक वापसी करना है, लेकिन हमारी पहली प्राथमिकता अब भी जनता की सुरक्षा होगी।'

उधर कोरोनावायरस के प्रसार को कम करने के लिए इंडिया में लॉकडाउन 4.0 की घोषणा हो चुकी है। 54 दिन से जारी लॉकडाउन का तीसरा चरण 17 मई को खत्म हो रहा था, जिसे रविवार को 18 मई से 31 मई तक बढ़ा दिया गया। इस दौरान गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार खेल परिसर और क्रिकेट स्टेडियम खुलेंगे, लेकिन दर्शकों को वहां जाने की अनुमति नहीं होगी। मंत्रालय के इस फैसले के बाद संभवत: खिलाड़ियों का अभ्यास शुरू करने का रास्ता साफ हो गया, जो मार्च के मध्य से ही बंद हैं।

इस तरह देश में खेल प्रतियोगिताएं तो शुरू हो सकती है, लेकिन बिना दर्शकों के। लॉकडाउन 4.0 में यह रियायत खेलफैंस के लिए खुशखबरी लेकर आई है क्योंकि टीवी में घर बैठे तो वो खेल का आनंद ले ही सकते हैं। इस समय भारत में होने वाला एकमात्र बड़ा टूर्नामेंट इंडियन प्रीमियर लीग है, जो लॉकडाउन की वजह से अनिश्चिकाल के लिए टाल दिया गया है। 17 मार्च को घोषित हुए लॉकडाउन के चौथे चरण में कई छूट के बावजूद आईपीएल के हाल फिलहाल खाली स्टेडियमों में शुरू होने की संभावना भी नहीं है क्योंकि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्रा पाबंदियां अब भी पहले की तरह लागू हैं।

वहीं..जर्मन फुटबॉल लीग की शनिवार से खाली स्टेडियम में वापसी महत्वपूर्ण बन गई। कोरोना वायरस महामारी के बाद बहाल होने वाली यह पहली यूरोपीय लीग है। इंग्लैंड, इटली और स्पेन में अभी भी लीग फुटबॉल शुरू होने में एक महीना लगेगा। बुंदेसलीगा के पहले मैच में ‘बोरूसिया डार्टमंड’ का सामना स्थानीय प्रतिद्वंद्वी ‘शाल्के 04’ से हुआ।

इस मुकाबले में सामान्य तौर पर 82,000 के करीब दर्शक आते लेकिन इस बार निर्देश थे कि दोनों टीमों के खिलाड़ियों, सपोर्ट स्टाफ, मीडियाकर्मी व अन्य अधिकारियों को मिलाकर 322 से ज्यादा लोग नहीं होने चाहिए।

लीग के दौरान स्थानापन्न खिलाड़ी मास्क पहने नजर आए। गोल का जश्न कोहनी टकराकर मनाया गया। ना तो खिलाड़ियों ने हाथ मिलाया और ना ही कोई आपस में गले मिला। जो खिलाड़ी मैच में खेले वह पिछले हफ्ते क्वारंटीन में रहे थे। सभी क्लबों के खिलाड़ियों की कोविड-19 टेस्ट हुए हैं। खिलाड़ी और टीम स्टाफ सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए कई बसों में आए थे। निर्देशों के बाद अब ना तो किसी टीम को घर में खेलने का फायदा मिलेगा और ना मेहमान टीम घाटे में रहेगी।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories