सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

स्पेन ने जीता बॉस्केटबॉल विश्व किप

2019-09-18 10:29:24
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

स्पेन ने रविवार को खेले गएफाइनल मुकाबले में अर्जेंटीनाको 95-75 से हराकर बास्केटबॉलविश्व कप जीत लिया।स्पेन की टीम ने पूरे मैच के दौरान बढ़त बनाए रखी और दूसरी बार अंतरराष्ट्रीय बास्केटबॉलका सबसे बड़ा खिताब जीतने में सफल रही।

स्पेन ने 2006 के बाद पहली बार ये खिताब जीता है। फाइनल मुकाबले में स्पेन ने 2004 की ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना को आसानी से मात दे दी।

तीन बार के आल स्टार खिलाड़ी मार्क गेसोल इस दौरान एक ही साल में एनबीए खिताब और विश्व कप जीतने वाले सिर्फ दूसरे खिलाड़ी बने।मार्क 2006 में विश्व खिताब जीतने वाली स्पेन की टीम का भी हिस्सा थे। उस समय उनके भाई पाउ भी टीम में शामिल थे लेकिन चोट के कारण वह इस बार विश्व कप में नहीं खेल पाए।

गेसोल ने टोरंटो रैपटर्स के साथ इस साल एनबीए खिताब जीता था। उन्होंने फाइनल में 14 अंक जुटाए।

भारत की पदक के प्रबल दावेदार विनेश फोगाट को विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कड़ा ड्रा मिला है और उन्हें पहले दौर में ही ओलंपिक कांस्य पदक विजेता सोफिया मैटसन से भिड़ना होगा। विनेश ने विश्व चैंपियनशिप में छह बार की पदक विजेता सोफिया को पिछले महीने पोलैंड ओपन में हराया था लेकिन यहां पहले दौर में स्वीडन की इस दमदार प्रतिद्वंद्वी का सामना करना आसान नहीं होगा।

यूरोपीय चैंपियनशिप में चार स्वर्ण पदक जीतने वाली 29 वर्षीय सोफिया भारतीय उम्मीदों की राह में बड़ा रोड़ा है। वह 55 किग्रा में विश्व में पांचवें नंबर पर हैं जो कि गैर ओलंपिक भार वर्ग है। विनेश 53 किग्रा में छठे नंबर पर हैं और अगर वह सोफिया को हराने में सफल रहती हैं तो उन्हें 55 किग्रा में विश्व में नंबर दो और मौजूदा विश्व चैंपियन मायु मुकैदा का सामना करना पड़ सकता है। यहां पर जीत दर्ज करने के बाद विश्व में नंबर एक और पिछली बार की उप विजेता सराह एन हिल्डरब्रांट क्वार्टर फाइनल में इस भारतीय को चुनौती दे सकती है।

एशियाई खेलों के कांस्य पदक विजेता आशीष कुमार सहित छह सदस्यीय भारतीय टीम चार से 13 अक्टूबर के बीच जर्मनी के स्टटगार्ट में होने वाली कलात्मक जिम्नास्टिक विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लेगी। भारतीय टीम का सोमवार को यहां इंदिरा गांधी स्टेडियम में ट्रायल के बाद चयन किया गया।

एशियाई खेल 2010 में कांस्य पदक जीतने वाले रेलवे के आशीष के अलावा भारतीय पुरुष टीम में सेना के योगेश्वर सिंह और रेलवे के आदित्य सिंह राणा शामिल हैं। इस साल के शुरू में मंगोलिया में सीनियर एशियाई कलात्मक जिम्नास्टिक चैंपियनशिप में वॉल्ट में कांस्य पदक जीतने वाली प्रणति नायक भारतीय महिला टीम की अगुवाई करेंगी।

उनके अलावा टीम में प्रणति दास और अरुणा बुद्धा रेड्डी को भी शामिल किया गया है। अरुणा ने विश्व कप जिम्नास्टिक 2018 में कांस्य पदक जीता था। चयन ट्रायल में 18 पुरुष और 12 महिला खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था।

वहीं युवा टेनिस स्टार सुमित नागल 15 स्थान की छलांग लगाकर करिअर की सर्वश्रेष्ठ 159वीं रैंकिंग पर पहुंच गए हैं। हरियाणा के 22 वर्षीय नागल हाल ही में बांजा लुका एटीपी चैलेंजर में उपविजेता रहे। इससे पहले साल के अंतिम ग्रैंड स्लैम यूएस ओपन के मुख्य दौर में पहुंचे।

उन्होंने पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के मुख्य दौर में जगह बनाई और पहले ही मुकाबले में दिग्गज रोजर फेडरर का सामना किया। नागल ने फेडरर को पहले सेट में मात दी। हालांकि वह इसके बाद अगले तीनों सेट हारकर बाहर हो गए। लेकिन उनके खिलाफ कोई सेट जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने। प्रजनेश गुणेश्वरन तीन स्थान ऊपर 82वें नंबर पर पहुंच गए हैं। रामकुमार रामनाथन तीन स्थान नीचे 179वें स्थान पर खिसक गए हैं।

युगल में रोहन बोपन्ना 43वें और दिविज शरण 49वें स्थान पर कायम हैं। लिएंडर पेस एक स्थान नीचे 78वें नंबर पर लुढ़क गए हैं। महिलाओं की डब्ल्यूटीए रैंकिंग में अंकिता रैना 191वें स्थान के साथ देश की शीर्ष खिलाड़ी बनी हुई हैं।

जबकि वर्ल्ड चैंपियन शटलर पीवी सिंधु मंगलवार से शुरू हो रहे दस लाख डॉलर इनामी चीन ओपन विश्व टूर सुपर-1000 टूर्नामेंट में जब भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगी, तो उनकी नजरें एक बार फिर खिताब जीतने पर होंगी।

दुनिया की पांचवें नंबर की खिलाड़ी सिंधु ने पिछले महीने स्विट्जरलैंड के बासेल में वर्ल्ड चैंपियनशिप के गोल्ड मेडल का भारत का लंबा इंतजार खत्म किया। सिंधु ने विश्व चैंपियनशिप के लगातार तीसरे फाइनल में खेलते हुए यह उपलब्धि हासिल की थी।

चीन ओपन 2016 की विजेता हैदराबाद की 24 साल की सिंधु अपने अभियान की शुरुआत चीन की ली शुररुई के खिलाफ करेंगी जो पूर्व ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट और दुनिया की पूर्व नंबर-1 खिलाड़ी हैं।

सिंधु ने 2012 में चीन ओपन में तत्कालीन ओलिंपिक चैंपियन शुएरुई को हराकर सुर्खियां बटोरी थीं। चीन की दुनिया की 20वें नंबर की खिलाड़ी शुएरुई ने सिंधु के खिलाफ अब तक 6 में से तीन मुकाबले जीते जबकि तीन में उन्हें हार मिली।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories