सौरभ वर्मा ने जीता सुपर-100 का खिताब

2019-08-14 09:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

सबसे पहले सुर्खियां

1. भारतीय शटलर सौरभ वर्मा ने जीता सुपर-100 का खिताब

2. राफेल नडाल ने मांट्रियल रोजर्स कप किया अपने नाम

3. सेरिना विलियम्स फिर नहीं जीत सकी खिताब

4. एशियन अंडर 23 वालीबॉल चैंपियनशिप से चूकी भारतीय टीम

मौजूदा राष्ट्रीय चैंपियन सौरभ वर्मा ने रविवार को हैदराबाद ओपन बीडब्ल्यूएफ टूर सुपर 100 टूर्नामेंट का पुरूष एकल का खिताब जीत लिया है।सौरभ ने फाइनल में सिंगापुर के लोह कीन यियू को हराकर ये खिताब अपने नाम किया।

मध्य प्रदेश के 26 साल के सौरभ ने शानदार खेल दिखाते हुए विश्व रैंकिंग में 44वें स्थान पर काबिज कीन यियू को 52 मिनट तक चले मुकाबले में 21-13, 14-21 और 21-16 से हराया।
हैदराबाद के गाचीबाउली इंडोर स्टेडियम में खेले गए मुकाबले में सौरभ ने अच्छी शुरूआत करते हुए 6-2 और फिर 11-4 की बढ़त कायम करते हुए आसानी से पहला गेम 21-13 से अपने नाम किया।दूसरे गेम में कीन यियू ने जोरदार खेल दिखाते हुए लगातार पांच अंक बनाकर भारतीय खिलाड़ी को गेम में वापसी का कोई मौका नहीं दिया।
तीसरे और फाइनल गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच कड़ा मुकाबला हुआ जिसमें ब्रेक के समय तक सौरभ ने 11-10 की बढ़त बनाई। उसके बाद सौरभ ने कीन यियू पर बढ़त बरकरार रखते हुए 21-16 की जीत के साथ खिताब अपने नाम कर लिया।
इससे पहले सौरभ ने पिछले साल डच ओपन सुपर 100 और रूस ओपन सुपर 100 में भी खिताब अपने नाम किए थे।

वहीं स्पेन के दिग्गज खिलाड़ी राफेल नडाल ने रविवार को रूस के खिलाड़ी डेनियल मेदवेदेव को 6-3, 6-0 से हराकर मॉन्ट्रियल रोजर्स कप अपने नाम किया।

इससे पहले नडाल शनिवार को बिना किसी गेंद को निशाना बनाए ही मॉन्ट्रियल रोजर्स कप के फाइनल में पहुंच गए थे। वहीं, डेनियल मेदवेदेव ने सेमीफाइनल में अपने हमवतन खिलाड़ी करेन खचानोव को हराकर मॉन्ट्रियल रोजर्स कप के फाइनल में जगह बनाई थी।

उधर, थाईलैंड ओपन के साथ करिअर का पहला बीडब्ल्यूएफ सुपर 500 खिताब जीतने के बाद अब चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी की जोड़ी की निगाह 19 से 25 अगस्त तक स्विट्जरलैंड के बासेल में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के पदक पर हैं।

चिराग ने कहा, ‘विश्व चैंपियनशिप अगले हफ्ते है और इस प्रतियोगिता से पहले हमने अच्छा प्रदर्शन किया है। अधिकतर शीर्ष खिलाड़ियों ने थाईलैंड में हिस्सा लिया था। हमें पता है कि हम प्रबल दावेदार के रूप में नहीं उतरेंगे लेकिन इससे (थाईलैंड में खिताब) पदक जीतने की उम्मीद जागी है। हमारे अंदर विश्व चैंपियन बनने की क्षमता है। थाईलैंड ओपन का स्तर ऊंचा था। यह आसानी से विश्व चैंपियनशिप के स्तर का था इसलिए मुझे लगता है कि हमारे पास पदक जीतने का मौका है।’
इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत चिराग और सात्विक की जोड़ी सात स्थान की छलांग के साथ नौवें स्थान पर पहुंच गई है।चिराग ने कहा कि अब हमें साल के अंत तक शीर्ष दस में जगह बरकरार रखनी है ताकि टोक्यो ओलंपिक में जगह बना सकें।

वहीं दिग्गज एमेरिकी टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स की दो साल में पहला खिताब जीतने की हसरत एक बार फिर अधूरी रह गई। इस बार 23 बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन सेरेना किसी खिलाड़ी से नहीं बल्कि पीठ दर्द से हार गईं। तीन बार की चैंपियन 37 वर्षीय सेरेना को डब्ल्यूटीए टोरंटो ओपन के फाइनल में स्थानिय खिलाड़ी बियांका एंड्रीस्क्यू के खिलाफ मुकाबला से हटना पड़ा।

सेरेना जिस मुकाबले से हटीं बियांका 3-1 से आगे चल रही थी। सेरेना ने आंसुओं के साथ चोट से विदा ली। 2017 में बेटी को जन्म देने के बाद सेरेना ने कोई खिताब नहीं जीता था। उन्होंने ऑस्ट्रेलियन ओपन के साथ 23वें ग्रैंड स्लैम के रूप में अपनी आखिरी ट्रॉपी जीती थी।
19 साल के बियांका पिछले 50 साल में यह खिताब जीतने वाली पही कनाडाई खिलाड़ी बन गई।

जबकि, पहली बार एशियन अंडर 23 वालीबॉल चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची भारतीय टीम खिताब से चूक गई है। अमित गुलिया की अगुआई वाली भारतीय टीम को चीनी ताइपे के हाथों 3-1 (21-25, 20-25, 25-19, 23-25) से शिकस्त का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम ने शनिवार को पाकिस्तान को हराकर फाइनल में प्रवेश किया था। साथ ही आगामी एफआईवीबी पुरुष अंडर-23 चैंपियनशिप का भी टिकट कटाया था। हालांकि टीम अंतिम बाधा पार नहीं कर सकी और उसे उपविजेता बनकर ही संतोष करना पड़ा।

अगली खबर हॉकी से है। भारत की पुरुष और महिला हॉकी टीमों के लिए जापान में 17 से 21 अगस्त तक होने वाला ओलंपिक टेस्ट इवेंट अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलंपिक क्वॉलिफाइंग टूर्नामेंट के लिए अपने सभी विकल्पों को आजमाने का अंतिम मौका है। इसमें पुरुष और महिला दोनों वर्गों में चार-चार कुल आठ टीमें शिरकत करेंगी। पुरुष वर्ग में एफआईएच विश्व हॉकी रैंकिंग में भारत (पांचवें) सबसे उंची वरीयता प्राप्त टीम और उसके बाद न्यूजीलैंड (आठवीं), मलयेशिया (12वीं) और मेजबान जापान (16वीं) की टीमें हैं। भारत की पुरुष टीम के भुवनेश्वर में और महिला टीम के हिरोशिमा में एफआईएच सीरीज फाइनल्स में खिताब जीतने से हौसले बुलंद हैं। भारत की दोनों ही टीमें फिलहाल बेंगलुरू में जापान में होने वाले टेस्ट इवेंट की तैयारी में जुटी है।

भारत की पुरुष हॉकी टीम के चीफ कोच ग्राहम रीड ने कहा, गोलरक्षकों और रक्षापंक्ति के खिलाड़ियोंके शिविरों में शिरकत करने के बाद ओलंपिक टेस्ट इवेंट के पूरी तरह तैयार हैं। हम हर मैच जीत के लिए पूरी ताकत झोंक देंगे।’ भारत की पुरुष हॉकी टीम के कप्तान हरमनप्रीत सिंह ने अपने हॉकी उस्ताद रीड की राय से इत्तफाक जताया।

अब प्रोग्राम की आखिरी खबर। महाराष्ट्र सरकार ने वार्षिक खेल पुरस्कारों के विजेताओं को चुनने के मानदंडों में सुधार करने के लिए पूर्व ओलंपियन हाकी खिलाड़ी धनराज पिल्लै को 11 सदस्यीय समिति अध्यक्ष नियुक्त किया है। खेल मंत्री आशीष सेलार ने सोमवार को समिति का गठन किया जो ‘शिवछत्रपति क्रीड़ा पुरस्कार’ पाने की श्रेणी में अधिक खेलों को शामिल करने का अध्ययन करेगी।

पिल्लै की अध्यक्षता वाली समिति में अनुभवी बल्लेबाज दिलीप वेंगसरकर, पूर्व अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन खिलाड़ी प्रदीप गंधे, बैडमिंटन कोच श्रीकांत वाड और निशानेबाज तेजस्विनी सावंत जैसे दिग्गज शामिल हैं।


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories