बैडमिंटन डबल्स में भारतीय पुरुषों ने रचा इतिहास

2019-08-07 09:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

खेल की दुनिया की हलचल के साथ हाजिर हूं मैं आपका जाना-पहचाना होस्ट अनिल पांडेय। पाँच मिनट के इस प्रोग्राम में आप सुनेंगे दुनिया भर के खेल समाचार व समीक्षा। जिसमें क्रिकेट, हॉकी व फुटबाल से लेकर बैडमिंटन और कबड्डी जैसे खेलों की होगी जानकारी।

सुर्खियां

1. भारत के रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने रचा इतिहास

2. भारत की महिला पहलवान विनेश फोगाट ने जीता गोल्ड

3. भारतीय महिला फुटबाल टीम ने बोलिविया को 3-1 से दी मात

4. अमेरिका की नई सनसनी कोको गॉफ ने जीता डब्लूटीओ खिताब

भारत के सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने इतिहास रच दिया। रविवार कोथाइलैंड ओपन पुरुष एकल का खिताब जीतने वाली यह भारत की पहली जोड़ी बन गई। गैरवरीयता प्राप्त सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी नेफाइनल में चीन की ली जुन हुई और लिउ यू चेन की चीनी जोड़ी को 21-19, 18-21 और 21-18 से हराकर चैंपियनशिप अपने नाम की।

भारतीय जोड़ी ने पहले गेम में 10-6 की बढ़त बनाई। इसके बाद चीनी जोड़ी ने वापसी की और अंतर को कम किया। पहले गेम में ब्रेक के समय भारतीय जोड़ी 11-9 से आगे थी। इसके बाद दोनों जोड़ियों के बीच एक-एक अंक को लेकर कड़ा मुकाबला हुआ। हालांकि भारतीय जोड़ी ने 21-19 से पहला गेम अपने नाम किया।
चीनी जोड़ी ने दूसरे गेम में 21-18 से जीत हासिल कर मैच में वापसी की। आखिरी गेम में युवा भारतीय जोड़ी ने दमदार वापसी की। शुरुआत में चीनी जोड़ी ने 4-1 की बढ़त बनाई, लेकिन भारतीय जोड़ी ने अपने खेल से खुद को मैच में बनाए रखा। चीनी जोड़ी ने कुछ गलतियां कीं जिसका चिराग और रंकीरेड्डी ने फायदा उठाया। अंत में चैंपियनशिप का यह निर्णायक गेम भारतीय जोड़ी ने 21-18 से अपने नाम कर लिया।

उधर भारत की चोटी की पहलवान विनेश फोगाट ने वारसा में पोलैंड ओपन कुश्ती टूर्नामेंट में महिलाओं के 53 किग्रा में स्वर्ण पदक जीता। यह इस भार वर्ग में उनका लगातार तीसरा स्वर्ण पदक है। इस 24 वर्षीय खिलाड़ी ने फाइनल में स्थानीय पहलवान रुकसाना को 3-2 से हराया।

विनेश ने इससे पहले क्वॉर्टर फाइनल में रियो ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता स्वीडन की सोफिया मैटसन को हराया था। इस शीर्ष भारतीय पहलवान ने पिछले महीने स्पेन में ग्रां प्री और तुर्की के इस्ताम्बुल में यासर दोगु अंतरराष्ट्रीय टूर्नमेंट में भी स्वर्ण पदक जीते थे।

उधर भारतीय महिला सीनियर राष्ट्रीय टीम ने स्पेन में कोटिफ कप फुटबाल टूर्नामेंट के अपने दूसरे मैच में बोलिविया को 3-1 से हराया। रतनबाला देवी के दो गोल और बाला देवी के एक गोल की बदौलत भारतीय महिला टीम ने दक्षिण अमेरिकी टीम पर आसान जीत दर्ज की।

स्पेन के क्लब विल्लारीयल सीएफ से 0-2 से पराजय झेलने के बाद भारतीय महिला टीम बोलिविया के खिलाफ दूसरे मिनट में ही पिछड़ गयी। तब स्वीटी देवी ने आत्मघाती गोल कर दिया था। बोलिविया की बढ़त हालांकि अधिक देर तक नहीं रही। पांचवें मिनट में बाला देवी ने विरोधी टीम के पेनल्टी क्षेत्र में गेंद पर कब्जा किया और शानदार शॉट जमाकर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया। रतनबाला देवी ने 36वें मिनट में बायें छोर से मिले क्रास पर हेडर से गोल करके भारतीय टीम को बढ़त दिला दी। इसके कुछ देर बाद रतनबाला ने अपना दूसरा गोल किया और भारत को 3-1 से बढ़त दिलायी।

उधर, भारतीय ओलंपिक संघ की कार्यकारी परिषद अगले महीने होने वाली बैठक में राष्ट्रमंडल खेल 2022 के बहिष्कार को लेकर फैसला लेगी। आईओए महासचिव राजीव मेहता ने शनिवार को यह जानकारी दी।

आईओए ने निशानेबाजी को हटाए जाने के विरोध स्वरूप बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022 के बहिष्कार का प्रस्ताव रखा है।
मेहता ने प्रेस ट्रस्ट से कहा, ‘कई खिलाड़ियों और कुछ राष्ट्रीय खेल महासंघों ने राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लेने के उनके अधिकार की बात कही है। इन सभी पर गौर करते हुए हमारी कार्यकारी परिषद की बैठक अगले महीने होगी और इस पर फैसला लिया जाएगा।’

अब एथलेटिक्स की खबर। दुती चंद के नाम से तो आप वाकिफ होंगे ही।

सामने कोई भी चुनौती आई या फिर मुश्किल आन पड़ी दुती चंद ने उसका सामना हौसले के साथ लड़कर दिया, लेकिन विश्व यूनिवर्सियाड में देश की पहली महिला गोल्ड मेडलिस्ट स्प्रिंटर अब तक यह समझ में नहीं पाई हैं कि उन्हें टॉरगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (टॉप्स) में क्यों शामिल नहीं किया गया है। दुती ने साफ किया है कि वह हमेशा प्रदर्शन से जवाब देती आई हैं। उन्होंने दो से तीन बार खुद को टोकियो ओलंपिक की तैयारियों के लिए टॉप्स में शामिल किए जाने को बोला, लेकिन नहीं किया गया। अब वह टॉप्स में शामिल किए जाने की गुहार नहीं लगाएंगी। वह मदद के लिए उड़ीसा सरकार के आगे हाथ फैला लेंगी।

अब आज के प्रोग्राम की आखिरी खबर...

विंबलडन के चौथे राउंड तक पहुंचकर सबको चौंकाने वाली अमेरिका की 15 साल की नई टेनिस सनसनी कोको गौफ ने शनिवार को अपना पहला डब्लूटीओ खिताब जीत लिया। अपनी 17 साल की हमवतन कैथेरिन मेकनली के साथ मिलकर गौफ ने फैनी स्टालर और मारिया सांचेज की 6-2, 6-2 से हराकर वाशिंगटन ओपन की युगल ट्रॉफी जीत ली।

इससे पहले गौफ ने इसी साल विंबलडन में वीनस विलियम्सन को पहले ही राउंड में हराकर सभी को चौंका दिया था।

इसी जानकारी के साथ संपन्न होता है आज का प्रोग्राम। आपको खेल जगत का नया अंक कैसा लगा, हमें जरूर बताइएगा। इसी उम्मीद के साथ अगले हफ्ते इसी वक्त आपसे फिर होगी मुलाकात, कुछ नई नई खबरों और जानकारियों के साथ। तब तक के लिए दीजिए इजाजत। नमस्कार, बाय-बाय, चाई-च्यान...

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories