पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद आमिर ने लिया टेस्ट क्रिकेट से संन्यास

2019-07-31 13:24:25
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

सबसे पहले सुर्खियां

1.पाकिस्तानी बॉलर मो.आमिर ने लिया टेस्ट क्रिकेट से संन्यास

2.जल्द ही शुरू होगी एतिहासिक एशेज़ सीरीज

3.टोक्यो ओलंपिक की तैयारी के लिए विदेश नहीं जाएंगे भारतीय बॉक्सर

4.हरमनप्रीत को टोक्यो के टेस्ट ओलंपिक में हॉकी टीम की कप्तानी

अब समाचार विस्तार से

पाकिस्तान के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। उन्होंने सीमित ओवर के मैच पर ध्यान देने के लिए यह फैसला किया। 27 साल के आमिर ने कहा, ‘क्रिकेट के पारंपरिक प्रारूप में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करना सम्मान की बात है। मैंने इस लंबे फॉर्मेट से दूर जाने का फैसला किया है। अब सीमित ओवरों के मैच पर ध्यान केंद्रित कर सकता हूं।’

आमिर ने 17 साल की उम्र में श्रीलंका के खिलाफ 2009 में पहली बार टेस्ट खेला था। 10 साल लंबे टेस्ट करियर में उन्होंने 36 मैच खेले। इस दौरान 119 विकेट अपने नाम किए। इस दौरान उनका औसत 30.47 रहा। वेस्टइंडीज के खिलाफ अप्रैल 2017 में 44 रन पर 6 विकेट उनका सबसे बेहतरीन प्रदर्शन रहा।

उधर इंग्लैंड अपनी मेजबानी में विश्व चैंपियन बनने के बाद एशेज की मेजबानी के लिए तैयार हो रहा है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक अगस्त से 16 सितंबर के बीचयह सीरीज खेली जाएगी। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच यह सीरीज कईसालों से खेली जा रही है। दोनों के बीच यह 71वीं एशेजश्रृंखला होगी। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहली बार यह सीरीज साल 1877 में मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेलीगईथी

बात 137 साल पुरानी है, एशेज का नाम एक अखबार की हेडलाइन से उपजा था। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच साल 1882 में लंदन के केनिंग्टन ओवल के मैदान पर टेस्ट मैच खेला गया। जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने मेजबान इंग्लैंड को सात रन से मात दी। इंग्लिश सरजमीं पर कंगारुओं की यह पहली जीत थी।
इस हार के बाद ब्रिटिश अखबार स्पोर्टिंग टाइम्स के पत्रकार शिर्ले ब्रूक्स ने इस खबर को इस हेडिंग से छापा था कि, 'शोक समाचार, इंग्लिश क्रिकेट को याद करते हुए इतना ही कहना चाहूंगा कि 29 अगस्त 1882 को ओवल ग्राउंड में इसकी मौत हो गई है।इसे चाहने वाले दुख में हैं। इंग्लिश क्रिकेट मर गया, उसके अंतिम संस्कार के बाद ऐश (राख) ऑस्ट्रेलिया भेज दी जाएगी।' ऐश का मतलब होता है राख।

क्रिकेट के बाद बॉक्सिंग की खबर। ओलंपिक की तैयारियों के लिए भारतीय खिलाड़ियों का विदेश जाना आम बात है, लेकिन अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों के लिए मुक्केबाजी में बदलाव देखने को मिलेगा। दरअसल, विदेशी मुक्केबाज प्रशिक्षण के लिए भारत आएंगे। अगले साल ओलंपिक के क्वालिफाइंग टूर्नामेंट से पहले खिलाड़ियों को यात्रा संबंधी थकान से बचाने के लिए इस साल दिसंबर के पहले पखवाड़े में विदेशी मुक्केबाजों को भारत बुलाने की योजना है।

भारतीय मुक्केबाजी के हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर सैंटियागो नीवा ने कहा, ‘हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारे मुक्केबाज ज्यादा यात्रा कर थके नहीं। मौजूदा सत्र में विभिन्न टूर्नामेंटों में भाग लेने के लिए हम पहले से ही काफी यात्रा कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हमारे लिए यह अच्छा होगा कि अगले साल जनवरी में होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर के लिए घर में तैयारी करें।’

उधर हॉकी में जापान में 17 से 21 अगस्त होने वाले ओलंपिक टेस्ट इवेंट के लिए भारत की 18 सदस्यीय पुरुष हॉकी टीम का कप्तान हरमनप्रीत सिंह को नियुक्त किया गया। ओलंपिक टेस्ट इवेंट में मेजबान जापान,भारत, मलयेशिया और न्यूजीलैंड की टीमें शिरकत करेंगी। भुवनेश्वर में एफआईएच सीरीज फाइनल्स जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम में नौ बदलाव किए गए हैं।

देश के लिए लंबे समय से खेल रहे मनदीप सिंह को टीम का उपकप्तान नियुक्त किया गया है। पिछले करीब एक बरस से बराबर खेल रहे नियमित कप्तान आक्रामक सेंटर हाफ मनप्रीत सिंह, गोलरक्षक पीआर श्रीजेश, फुलबैक सुरेन्दर कुमार, बीरेन्द्र लाकड़ा, अमित रोहिदास, अनुभवी फारवर्ड आकाशदीप सिंह,रमणदीप सिंह और सिमरनजीत सिंह जैसे टीम के ज्यादातर सीनियर खिलाडिय़ों को आराम दिया गया है। भारत के चीफ हाकी कोच ग्राहम रीड का ज्यादातर सीनियर खिलाडिय़ों को ओलंपिक टेस्ट इवेंट के लिए आराम देने के मकसद ओलंपिक क्वॉलिफाइंग से पहले अपने सभी विकल्पों को आजमा लेना है।

हॉकी के बाद फुटबाल की खबर। अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी को वर्ल्ड कप 2022 के लिए उनकी टीम के पहले क्वॉलिफायर मैच से निलंबित कर दिया गया है। साउथ अमेरिका की फुटबॉल संचालन संस्था ने इसके साथ ही उन पर 1500 डॉलर का जुर्माना भी लगाया है।

साउथ अमेरिकी फुटबॉल परिसंघ (कानमिबोल) ने अपना फैसला सुनाया।मेसी को कोपा अमेरिका के तीसरे स्थान के लिए चिली के खिलाफ खेले मैच के दौरान रेड कार्ड मिला था। मेसी खेल के 37वें मिनट में चिली के गैरी मेडल से भिड़ गए थे और इन दोनों को बाहर कर दिया गया था।

उधर थाईलैंड ओपन बॉक्सिंग प्रतियोगिता में हाल में आशीष चौधरी ने भारत को गोल्ड मेडल दिलाया। आशीष चौधरी के पिता एक किसान हैं। समाजसेवा में भी उनकी पहचान हैं।

पिछले दिनों मैच के दौरान आशीष के माता पिता टीवी के साथ फोन पर भी अपने बेटे के फाइनल मैच का अपडेट लेते रहे। उन्होंने कहा कि थाईलैंड में फाइनल मैच से पहले चोट लगने के बावजूद उनके बेटे ने हिम्मत नहीं हारी और देश के लिए स्वर्ण पदक जीता।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories