तिब्बत की यातायात में बहुत सुधार हुआ है

2019-05-16 15:21:37
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

तिब्बत की यातायात में बहुत सुधार हुआ है

तिब्बत की यातायात में बहुत सुधार

सन 1950 के दशक से नये चीन की सरकार ने तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की यातायात में सुधार लाने के लिए भरसक कोशिश की और क्रमशः सछ्वान-छींगहाई, छींगहाई-तिब्बत और ल्हासा - न्यिंग-ची आदि हाई स्पीड मार्ग प्रशस्त किये। और इन राज्य मार्गों की सुविधाएं उपलब्ध करने के लिए हजारों कर्मचारी और मजदूर भी रोज़ मेहनती से काम कर रहे हैं।

सछ्वान-तिब्बत मार्ग के ईकूंगजांबू नदी भाग पर तीन पुलों का निर्माण किया गया है। वर्ष 2000 के मई में ईकूंग पर्वत पर हुए भूस्खलन से पुराने पुल को नष्ट किया गया। कई महीने बाद इस स्थल पर एक अस्थायी लोहा पुल निर्मित हुआ, ताकि यातायात की गारंटी की जाए। वर्ष 2011 में इसी स्थल पर एक बड़े पुल का निर्माण शुरू किया गया। चार साल बाद यहां 380 मीटर लम्बा एक विशाल पुल निर्मित हो चुका। इस पुल पर ट्रैफिक मेंटेनेंस टीम के प्रधान वांग फ़ा मींग ने कहा,“इस बड़े पुल का निर्माण करने से ऐसे परिवर्तन आये हैं, यानी कि यातायात की स्थितियों में स्पष्ट सुधार आया है, और इसके बाद प्राकृतिक विपत्तियां कम होने लगी हैं। क्योंकि इस बड़े पुल के साथ सुरंग समेत यातायात व्यवस्था का निर्माण भी किया गया है। इस क्षेत्र में प्राकृतिक स्थितियां बहुत मुश्किल हैं। इसलिए यह सकल व्यवस्था पूरी करने के बाद सछ्वान-तिब्बत मार्ग के सबसे कठिन भाग को खोला गया है।”

सछ्वान-तिब्बत मार्ग की ट्रैफिक मेंटेनेंस टीम के कर्मचारियों और मजदूरों का काम अत्यंत कठोर है। लेकिन वे दिन रात इस मार्ग के सुचारू प्रवाह और आने जाने वाले व्यक्तियों की सुरक्षा की रक्षा कर रहे हैं। यहां काम करने में उन्हें बहुत गौरव महसूस है। मेंटेनेंस टीम की नम्बर 13 शाखा के प्रधान रेन च्वन च्ये ने कहा,“जब हम आये थे, तब यहां 14 किलोमीटर लम्बी गंदगी सड़क थी। आज यहां डामर की सड़क बनाई गई है। सड़कों का मेंटेनेंस करते समय हमें जिम्मेदारी को सबसे प्रथम स्थान पर देते रहते हैं।”दूसरे कर्मचारी रेन हूंग पो ने कहा,“पहले मैं गाड़ी से रोज दो बार यहां आया था और रेत से सड़कों के गड्ढों को प्रशस्त करता था। तब यह रास्ता बहुत खतरनाक था। यहां पुल और राज्य मार्ग का निर्माण होने के बाद सब कुछ प्रशस्त हो गया है।”

वर्ष 2014 के अगस्त में सछ्वान-छींगहाई और छींगहाई-तिब्बत राज्य मार्ग का निर्माण करने की 60वीं वर्षगांठ पर चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने यह मांग की कि मेहनती से काम करने और जातीय एकता को मजबूत करने की भावना का प्रसार किया जाएगा। सछ्वान-छींगहाई और छींगहाई-तिब्बत राज्य मार्गों के तटस्थ क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारियों और मजदूरों ने मेंटेनेंस की सेवाएं समाप्त करने में अपनी दक्षता साबित की है। तिब्बत में यातायात की स्थिति दीर्घकाल तक पिछड़ी हुई थी। पहले लोग न्यिंग-ची से ल्हासा तक जाने के लिए आठ घंटे चाहिये। वर्ष 2015 में ल्हासा-न्यिंग-ची हाई स्पीड मार्ग प्रशस्त होने के बाद इसी मार्ग पर चलने में केवल चार घंटे चाहिये। और मार्ग के तट पर सर्विस केंद्र, रेस्क्यू स्टेशन और पार्किंग एरिया आदि की सुविधाएं सब उपलब्ध हैं। इस मार्ग के बा-ई ट्रैफिक मेंटेनेंस दल के अधीन कुल 37 कर्मचारी और सफाई गाड़ी और बर्फ हटाने वाला वाहन समेत कुल 55 मशीन सेट हैं। जो कुल 133 किलोमीटर लम्बे मार्ग की सेवा करने के लिए जिम्मेदार है। इस दल के जिम्मेदार जू च्ये ने कहा,“मेंटेनेंस करने की हमारी संयुक्त व्यवस्था कायम की गयी है। जिसमें पुलिस, सुरक्षा और अग्निशमन आदि विभाग सब शामिल हैं। मिसाल के तौर पर अगर कोई दुर्घटना हो, तो आपातकालीन योजना जल्द ही लागू की जाएगी और विभिन्न विभागों के आदमी जल्द ही दुर्घटनास्थल पर जा पहुंचेंगे।”

तिब्बत तक जाने वाले राज्य मार्गों के प्रशस्त होने से पर्यटकों को तिब्बत जाने की खूब सुविधाएं मिल पायी हैं। इधर के वर्षों में तिब्बत में यातायात के विकास में आर्थिक विकास को बहुत बढ़ावा दिया गया है। मार्गों के निर्माण में अधिक रोजगार मौका तैयार हो गया है। आम लोगों की दृष्टि में तिब्बत तक जाने वाला राज्य मार्ग सुखमय की ओर जाने वाला मार्ग ही है।


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories