अच्छी पारिस्थितिकी को सबसे लोकप्रिय कल्याण बनाना

2019-03-25 14:34:43
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अच्छी पारिस्थितिकी को सबसे लोकप्रिय कल्याण बनाना


13वीं राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा के प्रतिनिधि, तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के न्यिंगची शहर के मेयर वांगतु ने हाल ही में हमारे संवाददाता से बातचीत करते समय कहा कि न्यिंगची शहर प्राकृतिक वातावरण के संरक्षण के लिए किसी भी खनन कारोबार का विकास नहीं हुआ है। पर्यटन के विकास से न्यिंगची शहर के हरित विकास को बढ़ावा दिया गया है और अच्छी पारिस्थितिकी को सबसे लोकप्रिय कल्याण बनाया गया है।

प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 13वीं राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा के दूसरे पूर्णाधिवेशन में सरकार की कार्य रिपोर्ट सुनाते हुए कहा कि हरित विकास आधुनिक आर्थिक व्यवस्था की स्थापना में आवश्यक है और वह प्रदूषण की समस्या को हल करने का मूल भी है। उच्च गुणवत्ता वाले विकास और पारिस्थितिकी संरक्षण को बढ़ाने के लिए संबंधित व्यवस्थाओं में सुधार लाना चाहिये। न्यिंगची तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के दक्षिण-पूर्वी भाग में स्थित है, जो तिब्बत में सबसे कम ऊंचाई, सबसे गर्म जलवायु, सबसे अच्छा पारिस्थितिकी पर्यावरण तथा सबसे अधिक जैव विविधता प्राप्त होने वाला क्षेत्र माना जाता है। न्यिंगची क्षेत्र में विश्व में सबसे अच्छी तरह संरक्षित आदिम जंगल, विश्व में सबसे बड़ी यालूजांबू घाटी और सबसे सुंदर ग्लेशियर आदि का संरक्षण किया गया है। न्यिंगची शहर के मेयर वांगतू ने कहा कि मूल पारिस्थितिक और मानव परिदृश्य न्यिंगची की सबसे बड़ी विशेषता है, और वह भी इस क्षेत्र में आर्थिक विकास की नींव भी है। उन्होंने कहा,“अच्छी तरह संरक्षित पारिस्थितिक न्यिंगची की सबसे बड़ी विशेषता और श्रेष्ठता है, जो न्यिंगची की नींव भी है। बेशक पारिस्थितिक सुरक्षा आर्थिक विकास से बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है। हम वातावरण की कीमत पर आर्थिक विकास कतई नहीं करेंगे।”

वांगतु ने यह भी कहा कि न्यिंगची शहर ने अपने विकास के दौरान पारिस्थितिक संरक्षण को विशेष ध्यान दिया है। हम ने खनन कारोबार न चलाने के साथ साथ जंगल कटाई भी नहीं की। इस के बदले में हम ने पारिस्थितिक और पर्यावरणीय नियम बनाकर हरित विकास का रास्ता चुना है। उन्होंने कहा,“न्यिंगची क्षेत्र में समृद्ध खनिज पदार्थों का भंडारण है। लेकिन अभी तक हम ने किसी भी खनन कारोबारों की स्थापना नहीं की है। हमारे यहां समृद्ध जंगल संसाधन भी है, लेकिन हम इस के आधार पर आर्थिक विकास नहीं करते हैं। हम पारिस्थितिक और पर्यावरणीय नियम के मुताबिक जंगल की कटाई को सख्त रूप से सज़ा देते हैं। इस के साथ-साथ हम ने वनीकरण की मुहिम में भारी निवेश किया है और प्रति वर्ष हमारे यहां सात हजार हेक्टेयर पेड़ लगाए जा रहे हैं।”

न्यिंगची शहर ने अपने समृद्ध पर्यटन संसाधन के माध्यम से हरित अर्थतंत्र के विकास गरीबी उन्मूलन और प्राकृतिक संरक्षण दोनों में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की हैं। गत वर्ष न्यिंगची में कुल 71 लाख पर्यटकों का सत्कार किया गया जो पिछले साल से 37 प्रतिशत अधिक रही, पर्यटन की आय 5.9 अरब युआन तक जा पहुंची जो पिछले साल से 30 प्रतिशत अधिक रही। पर्यटन के विकास से गरीब गांवों को अमीर बनाया गया है। वांगतु ने कहा,“इधर के वर्षों में हम ने पर्यटन और प्राकृतिक संरक्षण के उभय जीत होने का रास्ता चुना है। पर्यटन के बुनियादी उपकरणों और सार्वजनिक सेवा व्यवस्थाओं में सुधार लाने के साथ-साथ 28 पर्यटन मॉडल गांव स्थापित किये गये हैं, किसानों व चरवाहों को अपने होम होटल और होमस्टे खोलने के लिए प्रोत्सहित किया गया है, और बहुत से किसानों व चरवाहों ने पर्यटन का बिजनेस करना शुरू किया है।”

नवीनतम आंकड़े बताते हैं कि न्यिंगची शहर में दर्ज किये गये गरीब परिवारों की संख्या केवल 172 तक रही है, गरीबी दर 0.33 प्रतिशत तक सीमित की गयी है। पर्यटन इस क्षेत्र में आर्थिक विकास को बढ़ाने की प्रमुख शक्ति बना है।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories