चौथे चीनी तिब्बत पर्यटन और संस्कृति अंतरराष्ट्रीय मेले का आयोजन

2018-09-11 18:31:26
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चौथे चीनी तिब्बत पर्यटन और संस्कृति अंतरराष्ट्रीय मेले का आयोजन


चौथा चीनी तिब्बत पर्यटन और संस्कृति अंतरराष्ट्रीय मेला 7 सितंबर की रात को तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की राजधानी ल्हासा में स्थित नागरिक संस्कृति और खेल केंद्र में उद्घाटित हुआ। देसी-विदेशी प्रसिद्ध विशेषज्ञों, बड़े उद्यमों के प्रतिनिधियों और व्यापारियों आदि 1300 से अधिक लोगों ने उद्घाटन समारोह में भाग लिया। मेला 7 से 11 सितंबर तक आयोजित हुआ।  

इस मेले का मुख्य विषय “नये तिब्बत की यात्रा और तीसरे ध्रुव की रक्षा” है। चीनी संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय और तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की सरकार ने इस मेले का संयुक्त रूप से आयोजन किया। ल्हासा शहर में इस एक्सपो का मुख्य प्रदर्शनी स्थल है, जबकि निंगची शहर में शाखा प्रदर्शनी स्थल है। इस एक्सपो में उद्घाटन समारोह, प्रदर्शनी, उत्पादों की प्रदर्शनी, बिक्री, मंच, तिब्बत की यात्रा का परिचय देना, निवेश पदोन्नति, आर्थिक-व्यापार वार्ता, समापन समारोह और हस्ताक्षर समारोह आदि कार्यक्रम शामिल हैं। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की तिब्बत शाखा के सचिव वू ईंग च्ये ने मेले का उत्घाटन घोषित किया। मौजूदा मेले में भागीदारी के लिए ग्रीस, मंगोलिया, स्पेन, हंगरी आदि 9 देशों के प्रतिनिधियों, देश भर में विभिनन प्रांतों और शहरों एवं विभिन्न सामाजिक जगतों के व्यक्तियों को आकृष्ट किया।

इस मेले में उद्योगधंधों के लिए अंतरराष्ट्रीय, उच्च स्तरीय और मानकीकृत प्रदर्शन मंच बनाया गया है। तीसरे मेले की तुलना में वर्तमान मेले का क्षेत्रफल एक हजार वर्ग मीटर अधिक विस्तृत हो गया है। देश विदेश के कुल 230 कारोबारों ने मेले में भाग लिया। उनमें 96 परदेशीय ही हैं। थाइलैंड, मलेशिया और पाकिस्तान समेत पूर्वी दक्षिणी एशिया के देशों के कारोबारों ने भी प्रथम बार मेले में भाग लिया।

मेले में कुल सौ से अधिक किस्मों के उत्पाद प्रदर्शित हैं। उनमें पारंपरिक उत्पादों के अलावा तिब्बती दवा, जौ नूडल्स और मिट्टी के बर्तन चित्र आदि का प्रदर्शन भी किया गया है। दूसरे देशों से आये जेड और हस्तशिल्प वस्तुओं आदि का व्यापक स्वागत किया गया है।

चौथे चीनी तिब्बत पर्यटन और संस्कृति अंतरराष्ट्रीय मेले के तहत 2018 "पृथ्वी का तीसरा ध्रुव" पर्यटन संस्कृति मंच का भी आयोजन 8 सितंबर को हुआ। मंच का विषय है "नए युग में तिब्बती पर्यटन संस्कृति के विकास का मौका और विकल्प", मौके पर उपस्थितों ने तिब्बत में संस्कृति व संस्कृति के विकास पर विचार विनिमय किया है।

मंच में उपस्थित तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के अध्यक्ष चिज़ाला ने भाषण देते हुए कहा, “पर्यटन का जोरों पर विकास करने से तिब्बत के भावी विकास और दीर्घकालीन स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण है। भविष्य में सरकार पर्यटन के विकास के लिए नियम, मुद्दे और पूंजी के संदर्भ में अधिक समर्थन प्रदान करेगी। और तिब्बत में पर्यटन के विकास के जरिये विश्व के तीसरे ध्रुव का अच्छी तरह संरक्षण किया जाएगा ताकि एक रंग-बिरंगे समाजवादी तिब्बत की प्रस्तुति की जाए।”  

चिज़ाला ने मीडिया को इंटरव्यू देते समय कहा कि तिब्बत में आर्थिक विकास करने के दौरान वातावरण संरक्षण को प्राथमिकता दी जाएगी। जूमूलांमा चोटी यानी पर्वत एवेरेस्ट समेत स्थलों को कम यात्रियों, पर उच्च गुणवत्ता के तीर्थस्थल बनाये जाएंगे। इस का मतलब है कि जूमूलांमा चोटी असीमित तौर पर नहीं खुलेगा। चिज़ाला ने कहा कि भविष्य में तिब्बत के छियांगथांग पठार, आली घाटी, और न्यिंग-ची तीन विशेष क्षेत्रों में पृथ्वी की तीसरी ध्रुव पर्यटन की सेवा चलायी जाएगी। तिब्बत पर्यटन और संस्कृति अंतरराष्ट्रीय मेले के दौरान ऐसे मुद्दे पर तिब्बत पठार पर वैज्ञानिक अनुसंधान और विकास की दूसरी परामर्श बैठक, विश्व की तीसरी ध्रुव पर्यटन मंच तथा 2018 तिब्बती पठार पर आर्थिक मंच का आयोजन किया गया। प्रतिनिधियों ने तिब्बत के पर्यटन विकास तथा प्राकृतिक दृश्यों के संरक्षण पर विचार-विमर्श किया। 

केंद्र से आये वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि निजी कारोबार तिब्बत में पर्यटन के विकास को बढ़ावा देने की मुख्य शक्ति बनेंगे। वर्ष 2017 तक तिब्बत में राष्ट्र स्तरीय प्राकृतिक दर्शनीय क्षेत्रों की संख्या 115 तक जा पहुंची है, पर्यटन एजेंसियों की मात्रा 311 रही है और पर्यटन उद्योग का पैमाना बीस अरब युआन तक रहा है। पूरे वर्ष में तिब्बत का दौरा करने वाले चीनी व विदेशी पर्यटकों की संख्या 2 करोड़ पचास लाख तक पहुंची है। पर्यटन की आय भी 38 अरब युआन तक रही है। केंद्र सरकार की संस्कृति व पर्यटन मंत्रालय के उप मंत्री चांग श्यू ने समारोह में कहा कि तिब्बत की विभिन्न जातियों ने अपनी मेहनती और बुद्धि से शानदार संस्कृति की स्थापना की है, और चीन राष्ट्र के सांस्कृतिक विकास के लिए अद्भुत योगदान पेश किया है। उन्हों ने कहा,“पर्यटन और संस्कृति आर्थिक विकास को बढ़ावा देने की महत्वपूर्ण शक्ति है। और वह तिब्बत में सबसे अहम उद्योग भी है। संस्कृति और पर्यटन के साथ साथ विकास से एक दूसरे को बढ़ावा दिया जाएगा। और अंततः आर्थिक व सामाजिक विकास किया जाएगा।”

इस पदाधिकारी के अनुसार एक पट्टी एक मार्ग का निर्माण करने की स्थितियों में तिब्बत में संस्कृति व पर्यटन के विकास से तिब्बत में सामाजिक विकास और दीर्घकालीन स्थिरता को समर्थन किया जाएगा। चौथे चीनी तिब्बत पर्यटन और संस्कृति अंतरराष्ट्रीय मेले में कुल 108 परियोजनाओं की संधि पर सामूहिक हस्ताक्षर किए गए, जिन की कुल राशि 54 अरब चीनी युआन है। इन परियोजनाओं में पर्यटन और संस्कृति से जुड़े उद्योगों की संख्या 17 है, जिनकी कुल रकम 11 अरब 30 करोड़ 80 लाख युआन है, जो कुल निवेश राशि का 20 प्रतिशत से अधिक रही। तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में सालाना सांस्कृतिक औद्योगिक उत्पादन मूल्य 4 अरब युआन से अधिक है, जो पूरे स्वायत्त प्रदेश के कुल उत्पादन मूल्य का 3 प्रतिशत से ज्यादा है। साल 2017 में तिब्बत ने 2 करोड़ 50 लाख पर्यटकों का सत्कार किया, पर्यटन आय करीब 38 अरब युआन थी। यह संख्या पूरे स्वायत्त प्रदेश के समग्र उत्पादन मूल्य का 28.9 प्रतिशत हिस्सा बनता है। अब संस्कृति और पर्यटन उद्योग तिब्बत में आर्थिक विकास की वृद्धि की नयी बिंदू बन चुकी है।

गौर तलब है कि चौथे चीनी तिब्बत पर्यटन और संस्कृति अंतरराष्ट्रीय मेले में अनेक विदेशी उद्योगधंधों और राजकीय नेताओं ने भी भाग लिया है। उन्हों ने एक पट्टी एक मार्ग के सहयोग में सक्रियता से भाग लेने की मजबूत रुचि दिखाई। उन्हों ने कहा कि वे पर्यटन के विकास के संदर्भ में तिब्बत के साथ घनिष्ठ सहयोग करने को तैयार हैं। नेपाल, हंगरी और म्यांमार के सरकारी मंडल भी मेले में उपस्थित हुए। दूसरे देशों के प्रतिनिधियों, राजनयिकों, अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन संगठनों और विदेशी पर्यटन एजेंसियों के प्रतिनिधियों ने भी इस मेले में भाग लिया है। मंगोलिया की राजधानी उलानबातर शहर के संसद अध्यक्ष अमरसाई खान सैनबूयैन ने यह आशा जतायी कि मंगोलिया और तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के बीच पर्यटन व संस्कृति के आदान प्रदान करने से चीन और मंगोलिया के बीच उभय जीत वाले सहयोग को बढ़ाया जाएगा।  

 

चौथे चीनी तिब्बत पर्यटन और संस्कृति अंतरराष्ट्रीय मेले का आयोजन

 

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories