गैननान तिब्बती बहुल क्षेत्र में डॉक्टरों की स्वयंसेवा

2018-08-10 10:21:42
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

गैननान तिब्बती बहुल क्षेत्र में डॉक्टरों की स्वयंसेवा


चीन के तिब्बती बहुल क्षेत्रों में गरीबी उन्मूलन कार्यों को बढाने के लिए राजधानी पेइचिंग के दो सौ से अधिक अस्पतालों के डाक्टरों ने वर्ष 2018 के जुलाई माह में उत्तर पश्चिमी चीन के गैनसू प्रांत के गैननान तिब्बती बहुल क्षेत्र में स्वयंसेवा करना शुरू किया। स्वयंसेवा में भाग लिये कुल एक हजार से अधिक डाक्टरों ने गैननान क्षेत्र के अनेक क्षेत्रों में मुफ्त क्लिनिक किया। डाक्टरों ने मुख्य तौर पर हृदय रोग और गठिया आदि मरीज़ों का इलाज किया और जड़ी बूडी संसाधन संरक्षण आधार और स्वस्थ गांवों का निर्माण करने वाले कार्यों में भाग लिया। 

गैननान क्षेत्र चीन में सबसे ज्यादा तिब्बती लोगों से केंद्रित क्षेत्रों में से एक होता है। लेकिन यातायात सुविधाओं के अभाव, खराब मौसम और चिकित्सीय शर्तें कमजोर होने के कारण से इस क्षेत्र में लोगों को दीर्घकाल तक श्रेष्ठ चिकित्सा सुविधाएं नहीं मिलती हैं। और बीमारी लगने से अनेक परिवार गरीबी में गिर गए हैं। स्वयंसेवा शुरू करने के समारोह में पेइचिंग शहर के रेड क्रॉस सोसायटी के प्रधान ली पौ फ़ंग ने कहा कि पार्टी की 19वीं राष्ट्रीय कांग्रेस ने तमाम पार्टी और समाज की शक्तियों से गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य साकार करने का फैसला कर लिया। हमारी स्वयंसेवा गतिविधि का उद्देश्य है कि उत्तर पश्चिमी चीन के गरीब क्षेत्रों में सटीक तौर पर गरीबी उन्मूलन कराया जाएगा। ताकि स्वास्थ्य चीन का निर्माण किया जाए। ली पौ फ़ंग ने कहा,“तिब्बती क्षेत्रों में जन स्वास्थ्य के सुधार पर समाज का ध्यान आकर्षित है। गैननान क्षेत्र में आयोजित स्वयंसेवा में पेइचिंग के श्रेष्ठ डॉक्टरों की भागीदारी भी हुई है। वे मुख्य रूप से तिब्बती क्षेत्रों में हृदय रोग और हाइडेटिड रोग का उपचार करते हैं। इससे ज्यादा महत्वपूर्ण है कि लोगों में स्वास्थ्य जागरूकता, स्वास्थ्य ज्ञान और स्वस्थ व्यवहार का विस्तार किया जाएगा। ताकि आर्थिक विकास का लाभ तिब्बती बहुल क्षेत्रों के लोगों तक पहुंचाया जाए।”

वर्ष 2013 में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के संयुक्त मोर्चा विभाग ने गैननान क्षेत्र में “एक ही दिल” शीर्षक स्वयंसेवा का आयोजन किया। पेइचिंग के डॉक्टरों ने गैननान क्षेत्र में बड़े पैमाने पर जन्मजात हृदय रोग की जांच व उपचार का काम किया। डॉक्टरों ने इस क्षेत्र में रहने वाले विभिन्न जातीय लोगों के साथ घनिष्ठ संपर्क रखना शुरू किया। इस वर्ष की स्वयंसेवा गतिविधि में एक हजार से अधिक डॉक्टरों ने गैननान क्षेत्र की विभिन्न काउंटियों में हृदय रोग, हाइडेटिड रोग, संधिशोथ और गठिया आदि मरीज़ों का इलाज करेने, जड़ी बूडी संसाधन संरक्षण आधार और स्वस्थ गांवों का निर्माण करने आदि की गतिविधियों में भाग लिया है। गैनसू प्रांत के एक वरिष्ठ पदाधिकारी मा थींगली ने कहा,“पाँच साल पहले गैननान क्षेत्र में ‘एक ही दिल’ शीर्षक स्वयंसेवा गतिविधि का प्रथम आयोजन हुआ। डॉक्टरों ने बड़ी मात्रा की कठिनाइयों को दूर कर नि: शुल्क उपचार, दान-प्रदान, चिकित्सा प्रशिक्षण और स्वास्थ्य सेमिनार आदि गतिविधियों का आयोजन किया। उन्हों ने हमारे प्रांत के तिब्बती किसानों व चरवाहों को स्वास्थ्य पहुंचाया और जातीय क्षेत्रों के आर्थिक व सामाजिक विकास के लिए सकारात्मक योगदान पेश किया।”

मा ने कहा कि पाँच साल बाद गैननान क्षेत्र में एक बार फिर‘एक ही दिल’गतिविधि का आयोजन किया गया है। डॉक्टरों ने आठ ग्रुप में बंटकर विभिन्न काउंटियों में अपना प्यार भरे भावना तिब्बती लोगों को समर्पित किया है। उन के योगदान से गैननान क्षेत्र में गरीबी उन्मूलन के कार्यों को बढ़ावा दिया जाएगा। “एक ही दिल” स्वयंसेवा गतिविधियों में चीनी केंद्रीय संयुक्त मोर्चा विभाग, चीनी तिब्बती संस्कृति संरक्षण और विकास संघ, चीनी रेड क्रॉस फाउंडेशन और पेइचिंग शहर के रेड क्रॉस फाउंडेशन ने सब भाग लिया है। इस साल गतिविधि चलाने की दसवीं वर्षगांठ है। दस सालों में स्वयंसेवकों ने अल्पसंख्यक जातीय क्षेत्रों में स्वास्थ्य और गरीबी उन्मूलन के कार्यों के विकास के लिए महत्वपूर्ण योगदान पेश किया है। गतिविधि के आयोजन आयोग के महासचिव चाओ थाओ ने कहा,“इधर दस सालों में कुल दस हजार डॉक्टरों ने‘एक ही दिल’स्वयंसेवा में भाग लिया है और कुल पाँच लाख मरीज़ों का उपचार किया है। उनमें तीन हजार मोतियाबिंद रोगी और एक हजार जन्मजात हृदय रोगी भी शामिल हैं। निःशुल्क उपचार की लागत 1.2 अरब युआन से अधिक है।”इस नम्बर के पीछे तिब्बती जनता के प्रति पार्टी व सरकार की तरफ से प्यार भरे भावना का प्रतीक होता है। “एक ही दिल”स्वयंसेवा गतिविधियों के आयोजन से तिब्बती बहुल क्षेत्रों में लोगों के स्वास्थ्य स्तर को उन्नत किया गया है, और जातीय एकता को भी मजबूत किया गया है।  

इससे जुड़ी एक और खबर भी है कि हाल ही में गैननान क्षेत्र में गरीब रोगियों के लिए राहत कोष स्थापित किया गया। इस कोष की स्थापना का उद्देश्य है कि गैननान क्षेत्र में उन लोगों, जो बीमारी लगने से गरीब बन गये हैं, को मदद दी जाएगी।

 

गैननान क्षेत्र की संक्षिप्त जानकारियां

 

गैननान तिब्बती स्वायत्त प्रिफेक्चर चीन के दस तिब्बती स्वायत्त प्रिफेक्चरों में से एक है। जो गैनसू प्रांत के दक्षिण में स्थित है और इस क्षेत्र को तिब्बती जाति और हान जाति के बीच सांस्कृतिक एकीकरण होने का क्षेत्र कहलाता है। गैननान क्षेत्र का क्षेत्रफल 45 हजार वर्ग किलोमीटर होता है और जनसंख्या 7.3 लाख रहती है। उनमें 54 प्रतिशत तिब्बती लोग हैं। गैननान में तिब्बती के साथ हान, ह्वेई और मंगोलियाई समेत कुल 24 जातियां रहती हैं।

गैननान क्षेत्र असाधारण प्राकृतिक दृश्य से चीन में मशहूर पर्यटन गंतव्य बताया जाता है। पर्यटन उद्योग के अलावा जलविद्युत ऊर्जा, पशु उत्पाद प्रसंस्करण, निर्माण सामग्री, खनन और औषधि आदि उद्योग भी रखे हुए हैं। गैननान क्षेत्र को प्राचीन काल के छीन राजवंश के काल में ही केंद्र शासन के तहत रखा गया था। नये चीन की स्थापना के बाद वर्ष 1953 में गैननान तिब्बती स्वायत्त प्रिफेक्चर की स्थापना की गयी।

वर्ष 2016 के आंकड़ों के अनुसार गैननान क्षेत्र में जनसंख्या 7.1 लाख तक जा पहुंची है जिनमें दो लाख 27 हजार लोग शहरों में रहते हैं। गैननान क्षेत्र में यातायात की सुविधा कमजोर है। रेलवे, विमानन  और जल परिवहन का नेटवर्क स्थापित नहीं हो चुका है, परिवहन मुख्य रूप से राजमार्ग पर निर्भर है। सरकार ने गैननान क्षेत्र में राजमार्ग के निर्माण में जोर लगाने का प्रयास किया है।

नवीनतम आंकड़ों के अनुसार गैननान क्षेत्र में कुल 453 स्कूल स्थापित हो चुके हैं, जिनमें 403 प्राइमरी स्कूल, 42 मिडिल स्कूल और आठ व्यावसायिक स्कूल भी शामिल हैं। सभी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों की संख्या एक लाख दस हजार तक जा पहुंची है। अब गैननान क्षेत्र के 92.9 प्रतिशत बच्चों को नौ साल अनिवार्य शिक्षा प्राप्त हुई है। वर्ष 2016 तक गैननान क्षेत्र में कुल 1568 चिकित्सालय स्थापित हो गये हैं, जिनमें नौ काउंटी स्तरीय अस्पताल और दस पारंपरिक अस्पताल भी शामिल हैं।

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories