आपूर्ति पक्ष के रूपांतरण से कृषि के विकास को बढ़ावा

2018-06-11 08:34:13
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

आपूर्ति पक्ष के रूपांतरण से कृषि के विकास को बढ़ावा


पश्चिमी चीन के सछ्वान प्रांत स्थित गैनत्सी तिब्बती स्वायत्त स्टेट की औसत ऊँचाई 3500 मीटर है जहां आम तौर पर जौ, गेहूं और मटर जैसी फसलें उगाई जाती हैं। आपूर्ति पक्ष के रूपांतरण के साथ-साथ इस तिब्बती बहुल क्षेत्र में कृषि का उल्लेखनीय विकास किया गया है।

डाओफू काउंटी की सरकार ने आपूर्ति पक्ष का रूपांतरण करते हुए अपने क्षेत्र में तकनीशियनों की मदद से प्याज, खीरा, तोरी और टमाटर जैसे बाहर की फसलों का रोपण भी शुरू किया और इंटरनेट के ज़रिये अपने उत्पादों को दूसरे क्षेत्रों में सफलता से बेचना शुरु किया है। अलग अलग तरह की ज्यादा फसलों का रोपण करने से किसानों की आय में भी स्पष्ट वृद्धि हुई है। इसी तरह स्थानीय लोगों को भी ताजी और सस्ती सब्जियां खरीदने की सुविधा मिली है। कृषि के आपूर्ति पक्ष में सुधार करने के साथ साथ इन क्षेत्रों में अधिकाधिक पैदावारों का उत्पादन भी शुरू किया गया है।

पूर्वी चीन के शानतुंग प्रांत के चांगच्यू क्षेत्र में उत्पादित चाइनीज प्याज बहुत मशहूर है। आम प्याज की तुलना में वह लम्बा, पतला और स्वीट भी है। आपूर्ति पक्ष का रुपांतर करने के साथ साथ गैनत्सी तिब्बती स्वायत्त स्टेट की डाओफू काउंटी की सरकार ने अपने यहां से भी ऐसे चाइनीज प्याज का रोपण शुरू किया। काउंटी के चीह्वा फार्म में प्याज़ अड्डे के प्रबंधक हूंग य्वे ने कहा,“यह कथन भी है कि डाओफू काउंटी का प्याज़ अच्छा है। क्योंकि शानतुंग प्रांत का प्याज़ स्वीट है, लेकिन यहां का प्याज़ खाने में स्वीट और मसालेदार भी है।”

डाओफू काउंटी में उत्पादित चाइनीज प्याज को वर्ष 2004 में ही  कार्बनिक सब्जी का प्रमाण पत्र अर्पित किया गया था। वर्ष 2010 में इसे पश्चिमी चीन में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय कृषि मेले में सर्वश्रेष्ठ सब्जी का पुरस्कार भी सौंपा गया था। लेकिन यातायात और मार्केटिंग के लिमिटेशन की वजह से डाओफू काउंटी में ऐसे प्याज के रोपण का विस्तार नहीं हो पाया। हूंग य्वे ने आगे कहा,“पहले यहां लोग केवल तिब्बती जौ, गेहूं और आलू आदि का रोपण करते थे। प्याज का रोपण बहुत कम था। डाओफू काउंटी का प्याज मशहूर था, पर इसका बाजार नहीं खुला था।”

पर इधर के वर्षों में डाओफू काउंटी की सरकार ने आपूर्ति पक्ष के रुपांतर और गरीबी उन्मूलन को बढ़ावा देने के साथ साथ प्याज-रोपण की योजना लागू करना शुरू किया। सरकार ने किसानों को चाइनीज प्याज बोने में प्रोत्साहित किया, और उन्हें तकनीशियन, कारोबार और ई-कॉम्स सर्विस आदि की सुविधाएं भी उपलब्ध करायी। इस तरह डाओफू काउंटी में चाइनीज प्याज का आधुनिक उत्पादन संपन्न होने लगा है। हूंग य्वे का चीह्वा फार्म भी एक ऐसा कारोबार है जो व्यवसायी और स्थानीय सरकार के बीच के सहयोग से चलता है। सछ्वान प्रांत की राजधानी छंगतू शहर से गये एक व्यवसायी ने डाओफू काउंटी में स्थानीय सरकार की मदद से बीस हैक्टर जमीन किराये पर लिया। इस फार्म में उत्पादित सब्जियां छंगतू शहर के सुपरमार्केट और बड़े बाजार में बेची जाती हैं। उधर डाओफू काउंटी के किसान भी इस के फार्मलैंड में काम कर प्रति दिन सौ युवान की आय कमा सकते हैं, जो पहले के ग्रामीण काम से अच्छा है। हूंग य्वे ने कहा,“गेहूं की कीमत निम्म है जबकि चाइनीस प्याज का दाम अच्छा है। किसानों को हमारी स्कील सीखकर प्याज़ बोने से अधिक आय प्राप्त हो सकेगी। हमारी कंपनी किसानों को प्याज़ बेचने में मदद करती है, जिससे किसानों की आय बढ़ सकती है।”

चीह्वा फार्म के संचालन से आसपास के किसानों को प्रति वर्ष श्रम करने और जमीन किराए पर देने से प्राप्त आय 3.5 लाख युवान तक जा पहुंची है। प्याज़ की उत्पादन मात्रा प्रति मू के लिए दो तीन हजार युवान तक रहती है, जिससे तीस लाख युवान की आय प्राप्त हो जाएगी। इस में यह भी चर्चित है कि आपूर्ति पक्ष के रुपांतर के साथ साथ स्थानीय लोगों को सब्जियों की पर्याप्त आपूर्ति उपलब्ध होने लगी है। लूहो काउंटी में निर्मित एक सब्जी उत्पादन आधार के ग्रीन हाउस में मिनी टमाटर और गर्म काली मिर्च आदि भीतरी इलाकों में लोकप्रिय सब्जियां नजर आ रही हैं। इस सब्जी कंपनी के कार्यकर्ता वांग चीह्वा ने कहा कि यातायात की खराब स्थितियों की वजह से बाहर से लूहो काउटी तक सब्जी पहुंचाना बहुत कठिन था। सर्दियों के दिन खासकर हिमपात दिनों में लूहो काउंटी में अकसर सब्जियों और दूसरे साजसामानों का अभाव पड़ता था। इस क्षेत्र में सब्जियों की आपूर्ति को पूरा करने के लिए वांग चीह्वा की कंपनी ने लूहो काउंटी में कुल 141 ग्रीन हाउस स्थापित किये। इससे काउंटी में रहने वालों को सस्ती सब्जियों की प्राप्ति होने लगी। वांग चीह्वा ने कहा,“सब्जी उत्पादन आधार के प्रमुख ने देखा कि इस काउंटी में सब्जियों की आपूर्ति की समस्या मौजूद रही। तो उन्हों ने लूहो काउटी में सब्जियों का उत्पादन करने वाले आधार का निर्माण शुरू किया। आज हमारे सब्जी आधार के निर्माण से लूहो काउंटी में रहने वाले नागरिकों को ताजा व प्रदूषण मुक्त सब्जियां मिल सकती हैं।” 

वांग चीह्वा पूर्वी चीन के शानतुंग प्रांत के शोक्वांग काउंटी से आये हैं। जहां सब्जी उत्पादन की विकसित व्यवस्था संपन्न है। उन्हों ने कहा कि देश के पूर्वी क्षेत्रों की तुलना में लूहो काउटी में सब्जियों का उत्पादन करना थोड़ा मुश्किल है। लेकिन इस क्षेत्र में कार्बनिक सब्जियों का उत्पादन करने की शर्तें भी उपलब्ध हैं। उन्हों ने कहा,“ठंडा मौसम की वजह से इस क्षेत्र में सब्जियों का उत्पादन कम होता है, लेकिन यहां उत्पादित खीरा और टमाटर आदि सब्जियों का अच्छा स्वाद है। यहां दिन और रात के बीच तापमान का बड़ा अंतर है और सूरज रोशनी का समय भी ज्यादा लम्बा है। इसलिए हम मुख्य रूप से कार्बनिक सब्जियों का उत्पादन करते हैं।” 

काउंटी सरकार की मदद से कंपनी ने स्थानीय किसानों के यहां से तीस हैक्टर जमीन किराये पर ले लिया और चीरूं गांव के सहकारी के साथ सहयोग करने का समझौता संपन्न किया। वांग चीह्वा ने कहा,“काउंटी सरकार की मदद से 48 गरीब गांवों में कुल सौ ग्रीन हाउस का निर्माण हुआ, जिसका संचालन हम करते हैं। और हम हरेक ग्रीन हाउस के लिए प्रति साल तीस हजार युवान का लाभांश देते हैं। जिससे गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य भी साकार हो गया है।”

भूमि के किराये और लाभांश को छोड़कर गांववासियों को फार्म में काम कर तनख्वाह कमाने का मौका भी मिलता है। और श्रम करते उन्हें स्कील भी सिखायी जा रही है। ग्रीन हाउस में काम करती महिला जंग शींग रूं ने कहा,“मुझे प्रति दिन एक सौ युवान का तनख्वाह मिलता है। यहां आय प्राप्त करने के अलावा दिल में खुशी भी है। क्योंकि पहले मैं घर में या तो खेती या घर का काम करती थी, पर कोई तनख्वाह नहीं। यहां काम कर दूसरों के साथ भी संपर्क रख सकती हूं, और मेरे विचारों आदि की भी प्रगति हो गयी है।” जंग शींग रूं अपने पति से शादी करने के बाद छंगतु शहर से लूहो काउंटी में रहने गयी थी। उन की आंखों में यहां के लोगों के जीवन में भारी परिवर्तन आया है। उन्हों ने कहा,“पहले लोगों का जीवन कठिन था। आज सभी परिवारों ने ट्रैक्टर और कार खरीदे हैं। पहले लोग कुटियों में रहते थे, आज सभी मकानों की  खूब सजावट हो गयी है। हम सरकार के प्रति आभारी हैं। आशा है कि यहां अधिक तकनीकों का आयात किया जाएगा, और लोगों को अधिक अमीर बनाया जाएगा।”

वांग चीह्वा ग्रीन हाउस में सब्जियों का उत्पादन करने के जिम्मेदार हैं। उन के विचार में पठार पर कृषि का विकास करने का शानदार भविष्य है। उन्हों ने कहा,“सप्ताहांत में बहुत से लोग यहां की फ्रूट-पिकिंग गतिविधियों में भाग लेने आते हैं। हमारी योजना है कि भविष्य में ग्रीन हाउस के विकास को पर्यटन व खानपान के सर्विस के साथ जोड़ा जाएगा। काउंटी सरकार की भी ऐसी रूपरेखा है। गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य साकार करने के लिए सर्वप्रथम किसानों के विचारों को बदलना चाहिये।”

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories