तिब्बत में इंटरनेट सर्विस से जनता को प्राप्त सुविधाएं

2017-10-10 16:01:41
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

तिब्बत में इंटरनेट सर्विस से जनता को प्राप्त सुविधाएं

तिब्बत में इंटरनेट सर्विस से जनता को प्राप्त सुविधाएं

इंटरनेट और सेल फोन के विकास से अभूत रूप से सामाजिक जीवन को बदला जा रहा है । चीन में मोबाइल भुगतान के विस्तार से लोगों को नकद-रहित समाज में दाखिल कराया गया है । अब चीन के शहरों में बाइक शेयरिंग, इलेक्ट्रॉनिक भुगतान, ऑनलाइन शॉपिंग आदि का लोकप्रिय हो गये हैं । चीन के तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में लोगों को भी इंटरनेट सर्विस के विकास से बहुत ही सुविधाएं मिल पायी हैं ।  

अब तिब्बत की राजधानी ल्हासा शहर में भी देश के दूसरे शहरों के जैसे शेयरिंग बाइक नजर में आ रहे हैं । लोग ऐसे शेयरिंग बाइक के जरिये अल्प दूरी की यातायात कर सकते हैं । तिब्बती लड़के लालू को यह साइकिल बहुत पसंद है । उन्हों ने कहा,“हमारे यहां पहले भी पबलिक साइकिल चलती थीं । लेकिन उस समय ये साइकिल केवल तय जगहों में मिल सकती थीं । आज का जो शेयरिंग बाइक हैं, वह अधिक सुविधाजनक है । वह किसी भी जगह मिल सकती है और रखा जा सकता है ।”

लालू ने यह भी बताया कि मोबाइल व इंटरनेट के युग में तिब्बतियों का जीवन बिल्कुल बदल गया है । आज तिब्बत की कहीं भी जगह में लोगों को वी-चैट भुगतान का यूज़ करते दिखते हैं । इसीलिये लोगों को कहीं भी जगह जाकर मोबाइल फोन के साथ लेना ही पड़ेगा । लालू ने कहा,“आज मैं कैश लेने के लिए बैंक में कभी नहीं जाता । क्योंकि अधिकांश दुकानों में हम वी-चैट से भुगतान कर सकते हैं । दोस्तों के साथ सिनेमा देखने के लिए भी इंटरनेट से टिकट खरीदते हैं । इंटरनेट में सबकुछ मिलते हैं ।”

तावा सोलांग तिब्बत की राजधानी ल्हासा में पर्यटन बस चलाने का एक ड्राइवर है । पहले समय उन्हें इंटरनेट का यूज़ करने का आदत नहीं था, अब वे अकसर ऑनलाइन शॉपिंग करते रहे हैं । उन्हों ने कहा,“मैं कभी कभी ऑनलाइन शॉपिंग के जरिये कपड़े खरीदता हूं, और ऑनलाइन पर शोपिंग अधिक सस्ता हो सकता है ।”

इधर के वर्षों में तिब्बत में मोबाइल फोन कवरेज की काफी वृद्धि हुई है । लेकिन 4 जी नेटवर्क का प्रसार नहीं समाप्त है और पहाड़ी क्षेत्रों में मोबाइल फोन सिग्नल की गति धीमी रहती है । तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में सूचना व संचार उद्योग के 13वीं पंचवर्षीय योजना की विकास योजना के मुताबिक, इसी पंचवर्षीय योजना की समाप्ति पर तिब्बत के सामाजिक विकास के अनुकूल होने वाले लोकप्रिय, उच्च गति, बुद्धिमान, सुरक्षित सूचना संचार इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण किया जाएगा । ताकि सूचना खपत को बढ़ावा दिया जाए और आर्थिक विकास व जन जीवन का समर्थन किया जाए । योजनानुसार वर्ष 2020 तक सभी टाउनशिपों में नई पीढ़ी के मोबाइल संचार नेटवर्क की कवरेज दर 100% तक जा पहुंचेगी और सभी गांवों व चरागाह क्षेत्रों तक मोबाइल संचार सिग्नल का कवरेज किया जाएगा ।

सूचना व संचार अवसंरचना के निर्माण से तिब्बती जनता के जीवन में काफी सुधार आया है । अधिकाधिक आम लोगों को ऑनलाइन शॉपिंग और ऑनलाइन जीवन से आदत है । और इसी के दौरान लोगों को नेटवर्क से अधिक से अधिक सार्वजनिक सेवाएं मिल पायी हैं । उदाहरण के लिए शिगाज़े शहर के हरेक प्राइमरी स्कूल में हरेक क्लासरूम में इंटरनेट उपकरणों से लैस हो चुका है और छात्रों को कंप्यूटर टच स्क्रीन के इस्तेमाल से अध्ययन करने में बड़ी मदद मिली है । इस स्कूल के छात्र थेनज़ीन न्गोद्रूप ने कहा,“हम कंप्यूटर टच स्क्रीन के जरिये अंग्रेज़ी भाषा, चीनी भाषा और गणित विद्या आदि कोर्स सीखते हैं । हमारे क्लासमेट को पसंद है और इस का इस्तेमाल करने में बड़ी रुचि है ।”

शिगाज़े शहर के प्राइमरी स्कूल के अध्यापक कल्सांग फूंगत्सोक ने कहा कि तकनीकों के विकास से शिक्षा कार्यों में सुधार लाया गया है । इसी दौरान छात्रों की अध्ययन करने की रुचि बढ़ी है और उन्हें अधिक शिक्षा संसाधन भी प्राप्त हो गया है । उन्हों ने संवाददाता को बताया,“जब अध्यापक क्लास रूम में सीधे तौर पर ज्ञान समझाते हो, तबतो छात्रों को समझने में दिक्कत हुई हो । लेकिन जब अध्यापक कंप्यूटर टच स्क्रीन के जरिये सिखाते हैं, तब तो छात्रों की रुचि शीघ्र ही आ सकती है ।” 

शिगाज़े शहर के रीनबूंग काउटी में हरेक टाउनशिप की सरकार ने अपना वी-चैट पबलिक नम्बर खोला है जो स्थानीय किसानों व चरवाहों की सेवा करता है । कांशूंग टाउनशिप में काम कर रही कर्मचारी फंग मेई ने कहा कि वी-चैट पबलिक नम्बर के खुलने से सरकार का काम भी अधिक खुला और पारदर्शी है और जिससे सरकार और लोगों के बीच संचार को भी बढ़ावा दिया गया है । उन्हों ने कहा,“पहले हम आम तौर पर मोबाइल फोन के जरिये आपस में संपर्क रखते थे । लेकिन कुछ गांवों में  समय पर संपर्क रखने की सुविधा नहीं हुई । अब वी-चैट पबलिक नम्बर के माध्यम से आपस में संपर्क रखने की काफी सुविधा उपलब्ध है ।”

इंटरनेट और ई-कॉमर्स के विकास से तिब्बत में अधिकाधिक व्यापार मौका तैयार हो चुका है । ई-कॉमर्स कारोबारों के प्रवेश से तिब्बत के सूखा याक मांस, तिब्बती धूप, ज़ाफ़रान आदि विशेष उत्पादों का देशी विदेशी उपभोक्ताओं में स्वागत किया जा रहा है । तिब्बती ई-कॉमर्स मंच के संचालन निदेशक फ़ांग छी हाओ ने कहा कि इंटरनेट के माध्यम से तिब्बत के उत्पादों के ब्रिक्री के लिए "ऑनलाइन का नेटवर्क" तैयार किया गया है । फ़ांग ने कहा,“यहां बहुत से अच्छे विशेष उत्पाद काउंटी से भी बाहर नहीं निकलते थे । हम ने ई-कॉमर्स के जरिये इन्हें ब्रांड बनाकर बाहर के बाजारों में दाखिल कराया । जैसे यातूंग क्षेत्र के मछली, मांस, चिकन आदि सब ई-कॉमर्स के जरिये पूरे देश में लोकप्रिय होने लगे हैं ।”

तिब्बती युवक थेनज़ीन ट्रेलेई ने कालेज में स्नातक होने के बाद शिगाज़े में तिब्बती कालीनों का एक सहकारी खोल दिया । अब वे वी-चैट पबलिक नम्बर के माध्यम से पूरे देश के दायरे में अपनी उत्पादन वस्तुओं की बिक्री कर रहे हैं । व्यापार का विस्तार करने के लिए वे अधिक ई-कॉर्मस चैनल खोलने का विचार कर रहे हैं । ट्रेलेई ने कहा,“हम ने अधिक ई-कॉर्मस चैनल खोलने से अपने उत्पादों का प्रसार किया है । भविष्य में हम चीन के थाओपाओ और थिएनमाओ आदि प्लैटफ़ार्म से अपने ई-कॉर्मस व्यापार का आगे विस्तार करेंगे ।”

 तिब्बत के ई-कॉर्मस और वाणिज्य रसद संघ के प्रधान फंग ची हाओ ने कहा कि ई-कॉर्मस आधुनिक अर्थतंत्र के विकास के लिए महत्वपूर्ण प्लैटफ़ार्म बना है और गरीबी उन्मूलन कार्यों में भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहा है । उन्हों ने कहा, “हमने नाग्री क्षेत्र के गांवों में ई-कॉर्मस का प्रसार किया है और इस के जरिये हमने अपने क्षेत्र के ऊनी उत्पादों की देशी विदेशी बाजारों में बिक्री करना शुरू किया है । ऐसे करने से स्थानीय लोगों की आय को बढ़ाया गया है और जन जीवन स्तर को भी उन्नत किया गया है ।”

फंग ची हाओ के अनुसार इंटरनेट और व्यापार उद्योगों के आगे एकीकरण से ग्रामीण व चरागाह क्षेत्रों में ई-कॉर्मस का खूब विकास किया जाएगा और अंततः तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में नए उद्योगों का विकास संपन्न हो जाएगा ।  

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories