बिल गेट्सः एकजुट होकर महामारी की रोकथाम करें

2020-05-13 21:00:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अमेरिकी गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष बिल गेट्स ने हाल में चीन में कोरोनावायरस महामारी की रोकथाम के परिणाम की चर्चा की। उन्होंने कहा कि अब चीन में, विशेषकर वुहान में पुष्ट मामलों की संख्या बहुत कम हो गई, जो एक अच्छी खबर है। उन्होंने कहाः

“मुझे विश्वास है कि सख्त अलगाव के दौरान चीनी लोगों ने कई कठिनाइयों का सामना किया। हमें चीन में मिली उपलब्धि की बधाई देनी चाहिए। महामारी की रोकथाम में चीन द्वारा उठाए गए कदमों का अच्छा प्रभाव हुआ। इसलिए अब चीन में उद्यम और स्कूल फिर से खुले और सामान्य जीवन बहाल हो गया।”

गेट्स ने कहा कि चीन दुनिया में पहला देश है, जो कोरोनावायरस की रोकथाम का प्रयास करता है। प्रगति हासिल करने के बाद चीन अन्य देशों की सहायता कर रहा है। चीन ने बहुत देशों को चिकित्सा सामग्री दान की, जो काफ़ी उपयोगी है। उन्होंने कहाः

“चीन सरकार ने जनवरी के अंत से महामारी के मुकाबले में पूरी शक्ति लगाई और सख्त कदम उठाए, जिससे अच्छे परिणाम प्राप्त हुए। चीन का अनुभव महामारी की रोकथाम और नियंत्रण में अच्छा मॉडल माना जाता है। हर देश अपनी वस्तुगत सामाजिक स्थिति के अनुसार चीन के अनुभव से सीख सकता है।”

अमेरिका में महामारी की स्थिति की चर्चा में गेट्स ने कहा कि न्यूयॉर्क जैसे शहरों में महामारी की रोकथाम और मुश्किल है। उन्होंने कहाः

“शहरों में अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों की बड़ी संख्या है और आयातित मामलों की बड़ी संभावना है। लेकिन विभिन्न कारणों से न्यूयॉर्क ने जल्दी से रोकथाम का कदम नहीं उठाया, हालांकि अब उसकी कार्रवाई की गति तेज़ हो गई है। रोकथाम में प्रगति हासिल करने की पूर्व शर्त है कि लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हैं।”

बिल गेट्स ने यह भी कहा कि महामारी से पता चलता है कि चाहे व्यक्ति हो या देश एक दूसरे पर निर्भर करते हैं। वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने के लिए सबसे सक्षम व्यक्तियों, सबसे प्रभावी टीकों और सबसे प्रभावी दवाओं को खोजने की आवश्यकता है। महामारी के सामने विभिन्न देशों को एकजुट होकर सहयोग करना चाहिए। उन्होंने कहाः

“कई वर्षों से चीन लगातार अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मजबूत करता रहता है। चीन और विभिन्न देशों के साथ घनिष्ठ संबंध कायम रहते हैं। महामारी के खिलाफ़ अंतर्राष्ट्रीय सहयोग में चीन और सक्रिय भूमिका निभा सकता है। इसमें गेट्स फाउंडेशन, चीन और अन्य देश एक साथ प्रयास करेंगे।”

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories