कारोबार की स्थापना से छथ्येन गांव में आया बड़ा परिवर्तन

2019-07-10 21:00:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

दक्षिण-पश्चिमी चीन के क्वीचो प्रांत के क्वीआन नए क्षेत्र की हूछाओ काउंटी के पूर्वी इलाके में एक सुन्दर गांव बसा है, जिसका नाम है छथ्येन गांव। छथ्येन गांव में टेढ़ी-मेढ़ी पगडंडी ऊपर की ओर जाती है, नदी की धारा कल-कल बहती है, चिड़ियां चहचहाती हैं और फूल महकते हैं। छथ्येन नदी के दोनों किनारे पर्यटक सुन्दर दृश्यों का आनंद उठा रहे हैं।

कुछ साल पहले गांव के रूप-रंग की याद करते हुए छथ्येन गांव के पहले कृषि मनोरंजन (agritainment) उद्यान श्याओहुआशी फार्म हाउस के मालिक यांग क्वीयोंग इसे निर्जीव और दूरदराज़ गांव कहते थे।

45 वर्षीय यांग क्वीयोंग पहले दक्षिण चीन के क्वांगचो शहर में रेस्ट्रां चलाते थे। हर साल जब वे घर वापस आते थे, तब उन्होंने देखा कि उनके गृहनगर में बहुत ऊसर और नंगे पहाड़ हैं और युवा लोग काम करने के लिए बाहर गए। इसलिए इन नंगे पहाड़ और परती ज़मीन के प्रयोग से पारिस्थितिकी पर्यटन का विकास करने का विचार मन में आया। वर्ष 2008 में यांग क्वीयोंग ने क्वांगचो में अपना मकान बेचने के बाद गांव वापस लौटकर कामकाज की शुरुआत की। उन्होंने कहाः

“उस समय सरकार गांव वापस जाकर कारोबार की स्थापना करने के लिए प्रोत्साहन देती थी। मैं सोचता हूं वापस जाने का समय आ गया है। मुझे लगता है मेरा गृहनगर बहुत बढ़िया है। यहां पहाड़ सुन्दर हैं, पानी साफ़ है और रिश्तेदार और दोस्त भी बहुत हैं। इसलिए मैंने वापस आने का निर्णय लिया। वापस आने के बाद मैंने देखा कि यहां के लोग कृषि मनोरंजन के बारे में बिलकुल नहीं जानते। उस समय गांववासी गाय का पालन करते थे और बाहर जहां-तहां गोबर देखने को मिलते थे। सफाई करने के लिए हर महीने हम गांव को 700 युआन देते थे। सड़कें नहीं होतीं, तो हमने गाड़ियों से पटियों को यहां पहुंचाया। सड़क का निर्माण पूरा करने के बाद हम धीरे धीरे कारोबार शुरू करने लगे।”

भरसक प्रयास के बाद यांग क्वीयोंग के श्याओहुआशी फार्म हाउस का व्यापार समृद्ध होने लगा। वहां काम करने वाले गांववासियों की संख्या भी तीन से बढ़कर तीस से अधिक तक पहुंच गई। कृषि मनोरंजन उद्यान खोलने के शुरूआती समय की याद करते हुए यांग क्वीयोंग ने कहाः

“जब हम गांव वापस आते थे, सब लोग सोचते थे कि क्या वे लोग पागल हैं। इस छोटी जगह पर व्यापार कैसे कर सकते हैं। लोगों को समझ में नहीं आया। बाद में हमने गांव में कर्मचारियों की भरती शुरू की और उन्हें रोज़गार के मौके दिए। जो भी गांववासी हमारे फार्म हाउस में काम करना चाहते हैं, हम सब का स्वागत करते हैं। वे गांव के बाहर गए बिना रोज़गार पा सकते हैं। उनके द्वारा रोपित सब्जियां हम स्थिति के अनुसार खरीदते हैं और उनके द्वारा रोपित फल हम तोड़ने के लिए पर्यटकों को बुलाते हैं या गांववासी फल यहां लाकर बेच सकते हैं। ऐसे में सबको फायदा मिलेगा। हमारे फार्म हाउस का व्यापार बढ़ने के चलते लोगों के विचार में धीरे धीरे बदलाव आया। हमारे प्रयास से यहां कृषि मनोरंजन लोकप्रिय होने लगा। इसे देखकर लोगों ने भी अपने अपने कृषि मनोरंजन उद्यान खोले। पहले उनमें से बहुत लोग हमारे यहां काम करते थे।”

पाओ छ्योंग श्याओहुआशी फार्म हाउस की सेविका हैं। पिछले तीन सालों में फार्म हाउस में काम करने के साथ साथ उन्होंने कृषि मनोरंजन से जुड़े व्यापार करने का बहुत अनुभव सीखा। वर्ष 2012 में परिजनों के समर्थन में पाओ छ्यो ने अपने कृषि मनोरंजन उद्यान का निर्माण किया, जिसका नाम है श्विचिन उद्यान। उन्होंने कहाः

“मैं पहले श्याओहुआशी फार्म हाउस में सेविका का काम करती थी, तब काम का अनुभव प्राप्त हुआ। अधिक से अधिक पर्यटक घूमने के लिए हमारे यहां आते रहते हैं, तो मुझे लगता है कि मैं भी अपना कृषि मनोरंजन उद्यान खोलूंगी। श्विचिन उद्यान खोलने के बाद आय बहुत अच्छी रही। हर साल हम करीब 80 हज़ार से एक लाख युआन कमाते हैं। पिछले साल हमने एक कार भी खरीदी। व्यापार के मंदी के समय मैं परिजनों के साथ बाहर यात्रा करने जाती हूं। हमारा जीवन बहुत सुखमय है।”

वर्ष 2013 में छथ्येन गांव में सुन्दर गांव का निर्माण शुरू हुआ। गांव में यातायात की स्थिति, बुनियादी संस्थापन और वातावरण में बड़ा बदलाव आया है। छुट्टियों में रोज करीब 10 हजार पर्यटक यात्रा करने के लिए छथ्येन गांव आते रहते हैं। कृषि मनोरंजन उद्यान की संख्या भी 50 तक पहुंच गयी है। इससे पहले 80 प्रतिशत गांववासी बाहर काम करते थे, अब बाहर जाकर काम करने वालों की संख्या 10 से भी कम है। छथ्येन गांव की गांव कमेटी के प्रमुख चांग चोंगफिंग ने कहाः

“सुन्दर गांव का निर्माण शुरू होने से पहले हमारे यहां मुख्यतः खेती करते थे। बहुत गांववासी कृषि से संबंधित काम करना नहीं चाहते, तो वे बाहर जाकर काम करते थे। जब उन्होंने सुना कि छथ्येन गांव में सुन्दर गांव का निर्माण किया जाएगा, तो बहुत से लोग वापस आ गए। कुछ लोग रेस्ट्रां भी चलाते हैं। यहां काम करना उनके लिए मां-बाप और बच्चों की देखभाल करने में बहुत सुविधाजनक है। अब छथ्येन गांव में करीब 50 कृषि मनोरंजन उद्यान खुले हुए हैं। व्यस्त मौसम में हर दिन करीब 10 से 20 हजार पर्यटक आते हैं।”

अब छथ्येन गांव प्रसिद्ध पर्यटन गांव बन गया है। गांववासी पर्यटन उद्योग पर निर्भर रहते हुए गरीबी से छुटकारा पाकर संपन्न हो गए हैं। गांववासी बहुत उत्साहित हैं। कारोबार की मिसाल होने के नाते अपने गृहनगर में आए परिवर्तन को देखकर यांग क्वीयोंग बहुत खुश हैं।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories