चीनी सेना के विशेषज्ञ दल ने कोविड-19 के मुकाबले में पाकिस्तान को मदद दी

2020-06-27 18:14:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी जन मुक्ति सेना का चिकित्सा विशेषज्ञ दल 23 जून को पाकिस्तान में दो महीने का राहत कार्य पूरा कर स्वदेश रवाना हो गया ।पिछले दो महीनों के दौरान चीनी सेना के विशेषज्ञ दल ने पाकिस्तान में 11 मुख्य अस्पतालों का दौरा किया और पाकिस्तान के समकक्षों के साथ तीस से अधिक आदान प्रदान की बैठक की ।चीनी विशेषज्ञों ने पाकिस्तान के चिकित्सकों के साथ निर्स्वार्थ रूप से कोविड-19 महामारी के अनुभव साझा किये और वहां रह रहे चीनियों को चिकित्सा मदद भी दी ।

कोविड-19 महामारी के मुकाबले के लिए चीनी सेना का विशेषज्ञ दल चीन सरकार द्वारा पाकिस्तान में भेजा गया दूसरा विशेषज्ञ दल है ,जिस में  पीएलए जनरल अस्पताल और पीएलए रोग की रोकथाम और नियंत्रण केंद्र के दस विशेषज्ञ शामिल हैं ।पाकिस्तान में काम करने के दो महीने में वे मुख्य तौर पर रावलपिंडी स्थित एक पाक सैन्य अस्पताल में रहे  ।इस के अलावा उन्होंने पाकिस्तान में दसेक अस्पतालों का दौरा किया ।उन्होंने पाकिस्तान के सब से चिंता वाले सवालों को लेकर नोवेल कोरोना वायरस की रोकथाम करने के लिए निदान और इलाज का सुझाव पत्र भी लिखा ।

चीनी सेना के विशेषज्ञ दल के प्रमुख और पीएलए जनरल अस्पताल के आईसीयू विभाग के निदेशक चो फेइहू ने कहा ,पहला ,राष्ट्रीय स्तर पर हम ने महामारी की रोकथाम ,समग्र नीति बनाने और महामारी नियंत्रण के मुख्य मुद्दों पर परामर्श किया और सुझाव भी दिया ।दूसरा ,क्लिनिक विशेषज्ञ के नाते हमारे सदस्यों ने पाकिस्तानी अस्पताल के चिकित्सकों के साथ कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के अलाज ,अस्पताल में संक्रमण की रोकथाम और गंभीर मामले के इलाज जैसे मुद्दे पर चीन के अनुभव के आधार पर उन को कई प्रभावी सुझाव पेश किये ।पाकिस्तान के चिकित्सकों के साथ आदान प्रदान करने के बाद हम ने एक पुस्तिका भी बनायी ,जो इधर के दो महीने के अनुभवों का सार है ।

22 जून की रात तक पाकिस्तान में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1 लाख 80 हजार थी और पुष्ट मामलों की संख्या में वृद्धि बनी रहेगी ।चो फेइहू ने बताया कि वर्तमान स्थिति से देखा जाए ,भावी लंबे अरसे तक पाकिस्तान में कोविड-19 महामारी की स्थिति गंभीर रहेगी ।उन्होंने बताया ,पुष्ट मामलों में तेज इजाफा आने के दो मुख्य कारण हैं ।पहला ,पुष्ट हुए मामले सचमुच ज्यादा हैं ।दूसरा ,न्यूक्लिक ऐसिड जांच की क्षमता उन्नत हुई है ।पुष्ट मामलों में वृद्धि होने से यह जाहिर है कि महामारी की स्थिति गंभीर है और समय के साथ अधिकाधिक लोग संक्रमित होंगे ।अब महामारी अपने चरम पर नहीं पहुंची है। ऐसे में लंबे समय तक महामारी की स्थिति पर ध्यान देने की जरूरत है।

चीनी सेना के विशेषज्ञ दल के सदस्य और पीएलए जनरल अस्पताल के डाक्टर शु येनची ने बताया कि पाकिस्तान में रह रहे कुछ चीनी लोग नोवेल कोरोना से भी संक्रमित हुए हैं ।पाक स्थित चीनी  दूतावास ,विशेषज्ञ दल और पाक चिकित्सकों की समान कोशिशों से अधिकांश चीनी मरीज स्वस्थ हो गये हैं ।पाकिस्तानी पक्ष द्वारा चीनी मरीजों को दी गयी मदद की चर्चा में उन्होंने बताया ,हम बहुत प्रभावित हैं कि पाकिस्तान ने चीनी मरीजों के साथ वीवीआईपी की तरह बर्ताव दिया और बहुत इलाज खर्च माफ कर दिया ।मैंने पाकिस्तानी दोस्तों की मित्रता और संपूर्ण समर्थन महसूस किया ।हम ने पाकिस्तान में भी पूरी कोशिश की ।हम ने अपने सब अनुभव उनके साथ साझा किए ।(वेइतुंग)  

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories