सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

चीन इस साल में दो नेशनल पार्क बनाएगा

2020-02-11 11:26:23
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी राजकीय वन और घास मैदान ब्यूरो से मिली खबर के अनुसार चालू सला चीन औपचारिक रूप से सान च्यांग य्वन नेशनल पार्क और हाए नान उष्ण कटिबंधीय वर्षा वन नेशनल पार्क बनाएगा। सान च्यांग य्वन नेशनल पार्क विश्व में सब से बड़ा और सब से ऊँचाई पर स्थित नेशनल पार्क होगा। सान च्यांग य्वन चीनी राष्ट्र का जल-मीनार कहा जाता है ।वहां चीन की तीन मुख्य नदियां यांगत्सी नदी ,पीली नदी और लानछांग नदी का उद्गम स्थल है। सान च्यांग य्वन का शाब्दिक अर्थ है “तीन नदियों का उद्गम” ।हाए नान उष्ण कटिबंधीय वर्षा वन नेशनल पार्क की स्थापना हाएनान प्रांत द्वारा विश्व में सब से अच्छी पारिस्थितिकी संपन्न होने वाले मुक्त बंदरगाह के निर्माण का एक नाज़ुक कदम होगा। हाएनान में रहने वाले लंबे बांह वाले वानर की सुरक्षा को भी मजबूती मिलेगी।

सान च्यांग य्वन राष्ट्रीय पार्क का कुल क्षेत्रफल 1 लाख 23 हज़ार 100 वर्ग किलोमीटर है ।वहां विश्व के ऊंचे क्षेत्रों में विशिष्ट बड़ी वेटलैंड पारिस्थितिकी व्यवस्था है ,जिससे चीन यहां तक कि पूरे एशिया का महत्वपूर्ण पारिस्थितिकी रक्षा आवरण है।

चीन के प्रथम राष्ट्रीय पार्क की तांत्रिक परीक्षा वर्ष 2016 में शुरू हुई। सान च्यांग य्वन नेशनल पार्क प्रबंधन ब्यूरो के उपनिदेशक रन योंगलू के अनुसार सब परीक्षात्मक कार्य अब पूरे किये गये हैं। इस साल में औपचारिक रूप से सान च्यांग य्वन नेशनल पार्क की स्थापना की शर्तें तैयार हो चुकी हैं ।

उन्होंने बताया ,अब सान च्यांग य्वन नेशनल पार्क के तांत्रिक परीक्षण क्षेत्र में पारिस्थितिकी की सुरक्षा और बहाली में अच्छे परिणाम नज़र आ रहे हैं। पर्यावरण की गुणवत्ता निरंतर उन्नत हो रही है। वॉटर रिसोर्ट कंज़र्वेशन (water resource conservation) में औसत वृद्धि दर 6 प्रतिशत से अधिक है ,घास आवरण दर 11 प्रतिशत से अधिक उन्नत हुई है और घास की पैदावार में 30 प्रतिशत से अधिक इज़ाफ़ा हुआ है। वर्ष 2020 में औपचारिक रूप से सान च्यांग युएं नेशनल पार्क की स्थापना होगी और इस नेशनल पार्क को चीनी पारिस्थितिकी सभ्यता निर्माण के नामकार्ड के रूप में बनाया जाएगा ताकि आने वाली पीढ़ियों के लिए स्वच्छ भूमि छोड़ी जाए ।

नेशनल पार्क तांत्रिक परीक्षण एक जटिल व्यवस्थित परियोजना थी। एक तरफ़ सबसे सख्त पर्यावरण संरक्षण मापदंड से प्राकृतिक पर्यावरण की रक्षा की जानी थी। दूसरी तरफ संरक्षण क्षेत्र में रह रहे नागरिकों के उत्पादन और जीवन की अच्छी व्यवस्था की जानी है । रन योंलू ने परिचय देते हुए कहा कि नेशनल पार्क के परीक्षण के बाद सान च्यांग य्वन नेशनल पार्क ने चरवाहों को पर्यावरण शिक्षा और सेवा, पारिस्थितिकी के अनुभव ,पर्यावरण संरक्षण परियोजना और निगरानी जैसे कार्यों में भाग लेने की प्रेरणा दी ताकि वे पर्यावरण संरक्षण और पार्क प्रंबधन में स्थिर और दीर्घकालिक लाभ मिले ।

उन्होंने बताया ,नेशनल पार्क के व्यवस्थित परीक्षण की एक मांग है कि एक साथ भाग लेना और एक साथ साझा करना। अब तक हम ने पर्यावरण संरक्षण की रक्षा के लिए 17211 पद स्थापित किये हैं। इन पदों को संभालने वाले लोग तो नेशनल पार्क में रह रहे पूर्व चरवाहे हैं। एक साल में एक व्यक्ति का वेतन लगभग 21600 युवान है। इससे स्थानीय चरवाहों के जीवन सवाल का समाधान किया गया। वे घास के मैदान के प्रयोगकर्ताओं के रूप में पर्यावरण संरक्षक बने। पर्यावरण संरक्षण में स्थानीय चरवाहों की हिस्सेदारी जंगली पशुओं ,प्राकृतिक संसाधन और पर्यावरण संरक्षण की सुरक्षा में बड़ी भूमिका निभाती है।

सान च्यांग य्वन नेशनल पार्क के अलावा हाएनान ट्रॉपिकल रेन फॉरेस्ट नेशनल पार्क भी इस साल में स्थापित होगी। हाए नान ट्रॉपिकल रेन फॉरेस्ट नेशनल पार्क का कुल क्षेत्रफल 4400 वर्गकिलोमीटर होगा ,जो हाएनान द्वीप का 1 बटे 7 भाग होगा , जो चीन का सबसे बड़ा और सब से अच्छे रूप से सुरक्षित उष्ण कटिबंधीय वर्षा वन फैला है। हाए नान वन ब्यूरो के निदेशक श्या फेइ ने बताया ,उष्णकटिबंधीय वर्षा वन नेशनल पार्क हाएनान मुक्त व्यापार बंदरगाह का सब से मज़बूत हरित आधार है, जो हाएनान के बाहर पर्यावरण को सुनिश्चित करने और विश्व में सब से सुंदर मुक्त व्यापार बंदरगाह निर्मित करने का नाजुक मध्यम है।

हाएनान में उष्ण कटिबंधीय वर्षा वन संसाधन के विकास और नेशनल पार्क के निर्माण के लिए हाए नान राष्ट्रीय पार्क अनुसंधान संस्था 5 जनवरी को स्थापित हुई। श्या फेइ ने बताया कि अनुसंधान संस्था का वर्तमान में एक अहम काम ट्रॉपिकल रेन फॉरेस्ट में दुर्लभ प्रजाति हाए नान के लंबे बांह वाले वानर की सुरक्षा करना है ।

उन्होंने बताया,लंबे बांह का वानर सिर्फ़ हाए नान में बसी चीन की विशिष्ट प्रजाति है ,जो पावांग लिंग क्षेत्र के उष्ण कटिबंधीय वर्षा वन में रहती हैं ।पिछली सदी के 70 वाले दशक में सिर्फ 7 से 9 बचे थे ।निरंतर कोशिशों के बाद अब चार ग्रुपों के 30 हो गये हैं ,लेकिन फिर भी वे विलुप्त होने के खतरे में हैं। हाएनान के लंबे बांह के वानर की स्थिति प्रत्यक्ष रूप से उष्णकटिबंधीय जंगल की पारिस्थितिकी व्यवस्था की स्वस्थ स्थिति को प्रतिबिंबित करती है ,जो नेशनल पार्क के निर्माण की सफलता से जुड़ी है।

हाए नान नेशनल पार्क अनुसंधान संस्था संबंधित विभागों के साथ लंबे बांह के वानरों की सुरक्षा के लिए विशेष योजना बनाएगी और लंबे बांह के वानरों की सुरक्षा में अंतरराष्ट्रीय स्तर के वानर विशेषज्ञों को भी आकर्षित करेंगे ।

(वेइतुंग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories