इस पूर्वार्द्ध में चीन में नये कर्जों की रकम 90 खरब से अधिक

2019-07-09 14:39:20
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी बैंकिंग और बीमा निगरानी प्रबंधन आयोग द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों से पता चला है कि इस साल के पहले 6 महीने में चीन में नये कर्जों की रकम 90 खरब से अधिक रही। निजी, छोटे और लघु उद्यमों को वित्त पोषण की कठिनाई और महंगाई की समस्या के सामने राहत मिली है।

एक अरसे से चीनी बैंकिंग और बीमा संस्थाएं सप्लाई की आपूर्ति बढ़ाती रहती हैं और कर्ज़, बांड, शेयर और बीमा पूंजी का पर्याप्त प्रयोग कर आर्थिक और सामाजिक विकास की मांग पूरी करने को सुनिश्चित करती हैं। चीनी बैंकिंग और बीमा निगरानी प्रबंधन आयोग के उपाध्यक्ष चो ल्यांग ने बताया कि चीनी बैंकिंग और बीमा संस्थाओं ने निजी, छोटे और लघु उदयमों के सामने कठिन और महंगे वित्त पोषण की समस्या के समाधान पर ज़ोर लगाया और सकारात्मक परिणाम प्राप्त किया। इस मई के अंत तक छोटे और लघु उद्यमों के कर्ज़ों का बकाया 100 खरब युवान से अधिक रहा, जिसकी वृद्धि दर स्पष्ट रूप से विभिन्न किस्मों के कर्जों की वृद्धि दर से अधिक रही। इस साल के पहले पाँच महीने में देश में सबसे बड़े पाँच बैंकों द्वारा छोटे और लघु उद्यमों के लिए जारी कर्जों की औसत ब्याज दर पिछले साल की तुलना में 0.65 प्रतिशत कम हो गयी। चो ल्यांग ने बताया कि इस पक्ष में चीन की कोशिशों को अंतरराष्ट्रीय समुदाय की मान्यता हासिल हुई है ।उन्होंने बताया ,फिलहाल वैश्विक वित्तीय स्थिरता परिषद ने समीक्षा जारी कर कहा कि एशिया और प्रशांत क्षेत्र में छोटे और लघु उद्यमों के कर्जों की वृद्धि दर की दृष्टि से चीन पहले स्थान पर है और चीन की खराब कर्ज दर नीचे स्तर पर बनी रहती है।

पूंजी सप्लाई बढ़ाने के साथ चीनी वित्तीय संस्थाओं ने सप्लाई के ढांचे का समायोजन कर अर्थव्यवस्था की नयी प्रेरणा शक्ति तैयार करने पर बल दिया और मध्यम और दीर्घकालिक कर्ज़ का विस्तार किया और मुख्य तौर पर विनिर्माण और उपभोग की उन्नति की वित्त पोषण मांग की आपूर्ति की। वित्तीय खतरे की रोकथाम में चीनी बैंकिंग और बीमा निगरानी प्रबंधन आयोग ने बाज़ार में गड़बड़ी का सख्ती से निपटारा किया और संबंधित संस्थाओं और व्यक्तियों को कड़ी सज़ा दी। इधर दो साल 6 अरब युवान का जुर्माना लगाया गया, जो पहले दस साल की कुल रकम से अधिक था। कानून और नियमों का उल्लंघन करने वाले 8 हज़ार से अधिक लोगों को सज़ा दी गयी। उन्होंने बताया, वर्तमान में चीन में बड़े जोखिम वाली संस्थाओं के खतरे कदम दर कदम घटाये जा रहे हैं। गैरकानूनी रूप से पूंजी जुटाने के बड़े मामलों का सुव्यवस्थित रूप से निपटारा किया जा रहा है। इंटरनेट पर कर्ज़ लेने के खतरे कम हो रहे हैं। इंटरनेट पर आधारित कर्ज़ जारी करने वाली संस्थाओं की संख्या वर्ष 2018 से 57 प्रतिशत कम हुई है। हम बाद में सुदृढ़ता के साथ बड़े खतरे वाले छाया बैंक हटाएंगे और वित्तीय उद्योग के रीयल अर्थव्यवस्था से फिक्शियस अर्थव्यवस्था ( from substantial to fictitious ) की तरफ़ बढ़नेके रुझान की रोकथाम करेंगे।

चो ल्यांग ने बल देते हुए कहा कि चीन क्रेडिट खतरे पैदा करने वाली भूमि उखाड़ने की कोशिश कर रहा है ।इधर दो साल चीन ने कुल 40 खरब से अधिक खराब कर्ज का निपटारा किया ।वर्तमान में बैंकिंग उद्योग की खराब कर्ज दर 2 प्रतिशत के आसपास बनी रहती है। वाणिज्यिक बैंकों की कैपिटल एडिक्वेसी रेशियो (Capital adequacy ratio) और बीमा कंपनियों की सॉल्वेंसी मार्जिन रेशियो (solvency margin ratio) समेत मुख्य सूचकांक बेहतर स्तर पर बने रहते हैं। उन्होंने बताया कि अब वित्तीय ख़तरे की रोकथाम की पर्याप्त गोलियां और बारूद हैं। आम तौर पर वित्तीय खतरे नियंत्रण में है।

इधर कुछ साल चीनी वित्त उद्योग ने सुधार और खुलेपन में निरंतर नये कदम उठाये। गतवर्ष चीन ने वित्तीय उद्योग खोलने के लिए 15 कार्रवाईयों की घोषणा की। चालू साल चीन ने फिर 12 नये कदमों की घोषणा की ताकि अधिक विदेशी बैकिंग संस्थाएं चीन में निवेश कर कारोबार करें। चीनी बैंकिंग और बीमा निगरानी प्रबंधन आयोग के प्रवक्ता श्यो युएंछी ने बताया कि बाद में चीन ज़रूरत के अनुसार और अधिक खुलेपन के कदम उठाएगा। उन्होंने बताया, हम खुलेपन में खासकर विशेष उत्पाद और प्रबंधन अनुभव वाली विदेशी संस्थाओं का स्वागत करते हैं, जैसे गैर निष्पादित संपत्ति के निपटारे, संपत्ति के प्रबंधन, स्वास्थ्य और वृद्धि बीमा क्षेत्र में कारोबार करने वाली विदेशी वित्तीय संस्थाएं। इसके अलावा बैकिंग, बीमा और गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थाओं खासकर मध्यम और छोटी संस्थाओं के सुधार और पुर्नगठन में हम विदेशी वित्तीय संस्थाओं की हिस्सेदारी का स्वागत करते हैं।(वेइतुंग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories