चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

2018-11-07 15:02:17
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

चेस्टनट चीन में एक लोकप्रिय मेवा है। सर्दी में चीन की राजधानी पेइचिंग की सड़कों पर चेस्टनट भूनने के स्टॉल और तांता लगाने वाले खरीदारों का एक विशिष्ट दृश्य है। पेइचिंग के उपनगर के पहाड़ी क्षेत्र में बड़ी संख्या में किसान चेस्टनट का व्यापार करते हैं। मा चनसेन उनमें से एक है, जो बीस से अधिक सालों से चेस्टनट व्यापार कर रहे हैं। पहले वे एक साल में 10 टन चेस्टनट बेचते थे, अब लगभग 2300 टन बेचते हैं यानी 230 गुणा से अधिक बेचते हैं। इस सितंबर में उनकी चेस्टनट बिक्री की राशि 3 करोड़ युआन थी। पेइचिंग के उपनगर में स्थित हुआई रो जिला चीनी चेस्टनट के गृहनगर के नाम से मशहूर है। चेस्टनट स्थानीय किसानों की आय का मुख्य स्रोत है। चेस्टनट उद्योग हजारों किसानों के जीवन से घनिष्ठ रूप से जुड़ा है। चेस्टनट उद्योग के विकास के समर्थन के लिए पेइचिंग कृषि वाणिज्य बैंक ने सृजनात्क रूप से चेस्टनट की खरीद के लिये कर्ज़ की व्यवस्था की है। इस कदम से मा चनसेन जैसे चेस्टनट व्यापारियों और चेस्टनट उगाने वाले किसानों को बड़ा लाभ मिला और उनका स्थानीय रोज़गार भी बढ़ा।

हुआई रो का चेस्टनट मीठा और पौष्टिक होता है। उसका गूदा सुगंधित और कोमल है। हुआई रो जिले के बोहाई कस्बे में लगभग हर किसान परिवार के पास अपने चेस्टनट के पेड़ हैं। अपने बिजनेस की शुरुआत की याद करते हुए मा चनसेन ने सीआरआई के संवाददाता को बताया ,देश में सुधार की नीति लागू होने के बाद बाज़ार खुल गया। पहले मैं सिर्फ़ अपने घर के चेस्टनट बेचता था। लेकिन कुछ सालों के बाद मैंने देखा कि मैं बाहर के व्यापारियों के लिए चेस्टनट खरीद सकता था और चेस्टनट का भंडारण भी कर सकता था।

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

हुआई रो के चेस्टनट पेड़ पहाड़ों पर उगते हैं और सितंबर-अक्तूबर में चेस्टनट पकते हैं। चेस्टनट को पेड़ों से तोड़ने की ज़रूरत है। अगर समय पर उनको नहीं तोड़ा गया, तो वे सड़ जाते हैं। अधिकांश किसानों के पास चेस्टनट भंडारण की सुविधा नहीं है। यह स्थिति देखकर कुछ अनुभवी किसानों ने बड़ी मात्रा में चेस्टनट खरीदने का बिजनेस शुरू किया ।मा चनसेन उन में से एक हैं।

शुरू में मा चनसेन और अन्य छोटे व्यापारियों को पूंजी की समस्या का सामना करना पड़ता था। मा चनसेन किसानों से चेस्टनट उधार लेते थे। जब वे अपने ग्राहकों को चेस्टनट बेचते तो उसके बाद ही चेस्टनट किसान को नकद देते थे। लेकिन अगर बिक्री की स्थिति अच्छी नहीं है, तो चेस्टनट किसानों की आय अस्थिर होगी।

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

मा चनसेन ने बताया ,उस समय मैं तो आम किसान था। जेब में पैसा नहीं था। मुझे दोस्तों से पैसे उधार लेना और किसानों से चेस्टनट उधार लेना पड़ता था।

 पूंजी के अभाव से मा चनसेन ने बैंक से कर्ज लेने को सोचा था। लेकिन चेस्टनट किसानों और उनके बीच जो सौदा था, खरीदने और बेचने का अनुबंध और मुद्रा विनिमय का रिकॉर्ड नहीं था, जो बैंक के ऋण की शर्तों के अनुरूप नहीं था।

 कई पक्षों के पड़ताल से पेइचिंग कृषि और वाणिज्य बैंक ने वर्ष 2012 में चेस्टनट खरीद का कर्ज़ प्रस्तुत किया, जो मा चनसेन जैसे चेस्टनट खरीदने वाले व्यापारियों की सहायता के लिए उठाया गया कदम था। पेइचिंग कृषि और वाणिज्य बैंक की हुआई रो शखा के कृषि, किसान और गांव विभाग उपप्रबंधक वांग शान ने बताया ,पहला, खरीदने का अनुबंध। हमने सरकार की क्रेडिट का सहारा लिया। क्योंकि स्थानीय सरकार चेस्टनट खरीदने वाले स्थानीय किसान व्यापारियों को अच्छी तरह जानती है, सो हमने स्थानीय सरकार से हमें स्थानीय चेस्टनट व्यापारियों की नामसूची और हर किसान व्यापारी की अनुमानित खरीदारी की मात्रा पेश करने की मांग की। दूसरा, कैश सौदे के प्रति हमने ग्राहकों को पूंजी का प्रबंधन करने का पूरा अधिकार सौंप दिया है। तीसरा, कर्ज़ के बाद इंवायस की सच्चाई के प्रति हमने कई उपायों को जोड़कर इस सवाल को हल किया, जैसे हम उनके दौनिक खरीद रिकार्ड की जांच करते हैं और अनियमित रूप से स्थल पर जांच करते हैं।

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

कर्ज़ देने की योग्यता की समस्या दूर करने के बाद पेइचिंग कृषि और वाणिज्य बैंक ने चेस्टनट व्यापारियों को यथासंभव सुविधाएं प्रदान कीं। चेस्टनट कर्ज़ के प्रति बैंक ने किसान व्यापारियों को एक बार क्रेडिट देकर चक्रीय रूप से प्रयोग करने की अनुमति दी। यानी एक बार कुल क्रेडिट की राशि निर्धारित की जाती है और निश्चित समय और रकम के अंदर कर्ज़ का मुफ्त प्रयोग किया जा सकता है। चेस्टनट कर्ज़ की चर्चा में पेइचिंग कृषि और वाणिज्य बैंक के समावेशी वित्त विभाग के प्रमुख ल्यांग छोंगहुइ ने बताया ,आम तौर पर किसान को सिर्फ़ एक साल अवधि का ऋण दिया जाता है। लेकिन हमारे इस कर्ज़ उत्पाद की अवधि तीन साल की है, पर सिंगल कर्ज़ के प्रयोग का समय नौ महीने से अधिक नहीं होना चाहिए। इसमें लचीलापन ज़ाहिर है और चेस्टनट खरीदने की विशेषता का ख्याल रखा गया है। क्यों सिंगल कर्ज़ के प्रयोग का समय नौ महीने निर्धारित किया जाता है। क्योंकि चेस्टनट खरीदने का समय अगस्त से शुरू होता है और अगले साल के मार्च और अप्रैल तक चलता है। ख़तरे नियंत्रण की दृष्टि से देखा जाए तो चेस्टनट खरीदारी के समय हम जल्दी आप को कर्ज़ देते हैं और आपको चेस्टनट बेचने के बाद हमें जल्दी लौटाना है।

चेस्टनट कर्ज़ ने हुआई रो ज़िले के चेस्टनट उद्योग को बढ़ावा दिया और चेस्टनट किसानों की भी मदद की। अभी मा चेनसन ने पेइचिंग कृषि और वाणिज्यि बैंक से 30 लाख युआन उधार लिया। व्यापार करने में उनका आत्म विश्वास बुलंद है।

उन्होंने बताया ,पहले पूंजी का अभाव था। मैं किसानों को सिर्फ़ रसीद देता था। अब कर्ज़ उपलब्ध है। मैं सीधे किसान को कैश दे सकता हूं। दूसरा, कर्ज़ उपलब्ध होने के बाद मैं बाहरी व्यापारी का दबाव झेल सकता हूं। मैं अपने ख़र्च से चेस्टनट कोल्ड स्टोरेज में रख सकता हूं। अगर बाहरी व्यापारी मुझे उचित दाम नहीं देते, मैं भंडार में रखता हूं। अगर पेइचिंग कृषि और वाणिज्य बैंक का कर्ज नहीं मिलता, तो मुझे कितनी चिंता होती।

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

चेस्टनट कर्ज़ से पेइचिंग उपनगर के किसानों को बड़ा लाभ मिला

अब तक पेइचिंग कृषि और वाणिज्य बैंक ने 12 करोड़ 30 लाख चेस्टनट कर्ज़ जारी किया है और एक बार भी कर्ज खराब नहीं हुआ। पेइचिंग और हपेइ के 16 हज़ार किसानों को लाभ मिला है। पेइचिंग कृषि और वाणिज्य बैंक के समावेशी वित्त विभाग के प्रमुख ल्यांग छोंगमाओ ने बताया, किसान व्यापारियों के समर्थन से स्थानीय चेस्टनट किसानों की आय में वृद्धि भी हुई है। वर्ष 2012 में हमने यह उत्पाद प्रस्तुत किया। कर्ज़ जारी होने के बाद चेस्टनट की खरीद के दाम में एक युआन की बढ़ोतरी हुई। इसका मतलब है कि चेस्टनट किसानों की आय बढ़ा रहा है।

अब हुआई रो जिले के चेस्टनट का उत्पादन 10 हजार टन से ज्यादा है। चेस्टनट से किसानों को स्थिर आय मिलती है। मा चनसेन ने बताया ,इधर कुछ साल कहा जा सकता है कि पूरे ज़िले में किसानों के सभी चेस्टनट सुचारू रूप से बेचे गये हैं। अगर किसी ने मुझे फोन कर कहा कि उनके पास चेस्टनट है, तो मैं जल्दी से ले लूंगा।

(वेइतुंग) 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories