हाएनान के कई गांवों ने स्थान विशेष उद्योग के विकास से गरीबी दूर की

2018-04-16 10:21:49
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

हाएनान के कई गांवों ने स्थान विशेष उद्योग के विकास से गरीबी दूर की

हाएनान के कई गांवों ने स्थान विशेष उद्योग के विकास से गरीबी दूर की

हाएनान प्रांत की पाओटिंग ली और मियो जाति स्वायत्त काउंटी राष्ट्रीय स्तर वाली गरीब काउंटी थी ।इस काउंटी के सानतो कस्बे में स्थित त्साचिन नाम का गांव काउंटी में सबसे गरीब था ।8 साल पहले इस गांव की प्रति व्यक्ति सालाना आय सिर्फ 2 हजार युआन थी ,लेकिन पिछले साल इस गांव की प्रति व्यक्ति सालाना आय 13 हजार युआन जा पहुंची ।वह एक सुंदर गांव बन गया और बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता है ।इस सफलता के पीछे क्या रहस्य है ,हाल ही में सीआरआई के संवाददाता ने इस गांव की यात्रा की ।

त्साचिन गांव बीटल घाटी और यानोता नाम के दो बड़े उष्ण कटिबंध जंगल से सटा हुआ है ।इधर कुछ साल भौगोलिक लाभ का सहारा लेकर त्साचिन गांव ने पर्यटन के विकास से गरीबी दूर करने का रास्ता निकाला ,जिससे पिछड़े गांव की कायापलट हो गई ।लिन वेइ इस गांव की किसान हैं ।उन्होंने हमारे संवाददाता को बताया कि वर्ष 2010 में गांव में पूलोंगसे ग्रामीण सांस्कृतिक पर्यटन क्षेत्र का निर्माण शुरू किया। इस से उन्होंने पर्यटन और कृषि के विकास का मौका देखा ।उन्होंने बताया कि उस समय मैंने सोचा कि क्यों मेरे घर को होटल के रूम की तरह बनाएं ।हमारे यहां प्राकृतिक दृश्य सुंदर हैं और पारिस्थितिकी अच्छी है ।अगर पर्यटक यहां ठहरेंगे ,तो उनको लेकर आम उतारने का अनुभव दिलाया जा सकेगा और कुछ स्थान विशेष की उपज भी बेची जा सकेगी।

पर्यटन और कृषि के मेल से त्साचिन गांव के विकास की गति तेज हो गयी ।होटल खोलने वाले किसान सबसे पहले अमीर हुए। आंकड़ों के अनुसार सानतो कस्बे में पिछले साल के अंत तक 361 परिवारों को गरीबी के चंगुल से छुटकारा मिला ।इस साल के अंत तक इस कस्बे के बाकी 79 गरीब परिवार भी गरीबी से विदाई लेंगे ,जिससे सानतो कस्बा गरीबी दूर करने में पूरी तरह सफल होगा ।

गतवर्ष 19वीं सीपीसी कांग्रेस पर गांव के पुनरुत्थान की रणनीति पेश की गयी। इस मार्च में हुई नेशनल पीपल्स कांग्रेस पर जारी सरकारी कार्य रिपोर्ट में गांव के पुनरुत्थान के ठोस कदम घोषित किय गये ,जैसे कृषि के सप्लाई पक्ष में ढांचागत सुधार ,आधुनिक कृषि उद्यान और स्थान विशेष कृषि उत्पाद के विकास को गति देना ,अनाज उत्पादन स्थिर बनाना और इत्यादि ।हाई नान प्रांत की लिंग श्वी काउंटी के इंगचो कस्बे के मूपा गांव के किसान हूछाइचोंग ने सीआरआई संवाददाता को बताया कि पहले उनकी आय बहुत कम थी ।कुछ साल पहले सरकार की मदद और निर्देशन से वे आम के पेड़ लगाने लगे ।अब वे बहुमंजिली इमारत में रहते हैं और उन्होंने अपनी कार भी खरीदी। सरकार की मदद के बारे में उन्होंने बताया ,मसलन किसान आम लगाना चाहते हैं ,तो सरकार आम लगाने का तकनीकी प्रशिक्षण देती है ।आम की देखरेख और बौर आने के समय सराकर गरीब किसानों का गठन कर उन्हें शिक्षा देती है।

तकनीकी निर्देशन और पाठ्यक्रम प्रशिक्षण देने के अलावा हाएनान के विभिन्न स्तरों की सरकारें इंटरनेट प्लस कृषि को सक्रियता से बढ़ा रही हैं ताकि ई बिजनेस से कृषि के विकास को प्रेरणा मिले और किसानों के पास अधिक विकल्प हो। हाईनान प्रांत के वेनछांग शहर के मेयर वांग श्योछियो ने बताया कि उनकी समझ में इंटरनेट प्लस का मतलब है कि इंटरनेट के जरिये नया उत्पादन तरीका परंपरागत गांव ,किसान और कृषि से जुड़ता है ।

हाएनान के कई गांवों ने स्थान विशेष उद्योग के विकास से गरीबी दूर की

हाएनान के कई गांवों ने स्थान विशेष उद्योग के विकास से गरीबी दूर की

उन्होंने कहा कि उदाहरण के लिए हाओ शंग गांव में बहुत नारियल के पेड़ हैं ।नारियल के पेड़ों में इस गांव और अन्य गांव के बीच सबसे बड़ा फर्क है। अगर हाओ शंग गांव ने अपने 2000 नारियल के पेड़ ठेके पर बाहर से आये उद्यम को दिया और एक पेड़ का खर्च 100 युआन था ,तो गांव के किसानों की आय 2 लाख युआन होगी ।इस तरह किसान की आय में बड़ी वृद्धि हुई ।पहले एक नारियल का दाम दो युआन के आसपास था ,अब इंटरनेट प्लस के जरिये यह नारियल पूरे देश में बिक सकता है ।इस के अलावा बाहर के पर्यटक भी आकर्षित किये जा सकते हैं ।

आम और नारियल लगाने ,पर्यटन का विकास करने ,स्थान विशेष उद्योग का विकास करने और अन्य तरीकों से हाएनान प्रांत में अधिकाधिक गांव गरीबी से निकलकर अमीरी के रास्ते पर चल रहे हैं ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories