एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

2018-04-12 19:23:17
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

पनडुब्बी आधुनिक समुद्री युद्ध में असाधारण भूमिका निभाती है। पनडुब्बी पानी के नीचे छिपकर दुश्मन पर अनाचक प्रहार कर सकती है। अन्य जंगी जहाजों की तुलना में यह उसका सबसे बड़ा लाभ है। लेकिन पनडुब्बी पर सवारी करने वाले जवानों के लिए यह एक काफी खतरनाक काम है। हर बार समुद्र में निगरानी रखना आसान नहीं है और अकसर जीवन मरण की चुनौती का सामना करते हैं ।उन के लिए यह काम संगीन पर सामूहिक नाच जैसा है। पनडुब्बी के कैप्टान को खतरे में शांत दिमाग बनाए रखने और मज़बूत चतुर्मुखी क्षमता की आवश्यकता होती है। चीनी नौसेना के दक्षिण सागर जहाजी बेड़े की एक पनडुब्बी को महासागर के ब्लैकहोल के नाम से पुकारा जाता है ।वह नयी किस्म वाली सामान्य पावर से चलित पनडुब्बी है। इधर कुछ साल उसने शानदार तरीके से एक के बाद एक कार्य पूरा किया। इस पनडुब्बी के कैप्टन तंग श्योछुन है।

एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

एक बार कार्य पूरा कर वापस लौटने में जब तक वह समुद्र की सतह पर निकली ,तो एक विदेशी पनडुब्बी भेदी विमान ने उसका पता लगाया और पीछा करना शुरू किया। रिपोर्ट मिलने के बाद तंग श्योछुन ने फौरन ही पनडुब्बी को पानी में डुबाने का आदेश दिया और जटिल समुद्री स्थिति में जहाजरानी करना पड़ा। इस दौरान विदेशी नौसेना ने उनको तलाश करने की कोशिश की और पीछा किया। तंग श्योछुन ने विदेशी समकक्ष के साथ बुद्धि और साहस के साथ मुकाबला किया । दसेक दौरों के मुकाबले के बाद तंग श्योछुन के नेतृत्व में चीनी पनडुब्बी विदेशी नौसेना के घेरे से बाहर निकलने में सफल रही ।तंग श्योछुन ने बताया कि ऐसा मुकाबला कम नहीं है। उन्होंने सीआरआई के संवाददाता को बताया ,वास्तव में मैं भी उनके साथ मिलना चाहता हूं ।हमारे उपकरण अत्याधुनिक हैं। हम करीब आकर उनके जहाज़ के शोर की विशेषता, गतिविधि के नियम और टैक्टिक्स का पता लगा सकते हैं ।यह भावी मुकाबले के लिए लाभदायक है।

एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

कहा जा सकता है कि मुकाबले का साहस आम दिन के सख्त अभ्यास से पैदा होता है। पनडुब्बी के अफ़सरों और जवानों के लिए असली युद्ध जैसा अभ्यास करना बहुत महत्वपूर्ण है। इस पनडुब्बी के डीज़ल इंजन तकनीशियन ली पेनयोंग ने बताया ,कैप्टन हमारी अत्यंत कड़ी मांग करते हैं ।समीक्षा में ऊपर संस्था की मांग है कि 75 अंक से 80 अंक पाने वाला ही पास होता है, लेकिन उनकी मांग है कि 90 अंक से ज्यादा आना ज्यादा ज़रूरी है। 90 अंक से कम पाना फेल है।

तंग श्योछुन ने एक साल में पनडुब्बी में ठहरने के अभ्यास का समय एक गुणा से अधिक बढ़ाया और निरंतर रोशनी बिना अभ्यास मज़बूत बनाया ।श्रेष्ठ मानसिक स्थिरता और आपात घटना के निपटारे की क्षमता तैयार करने के लिए तंग श्योछुन आवाज ,रोशनी ,बिजली उपकरणों का प्रयोग कर विभिन्न खतरनाक स्थितियां रचते हैं ।उन्होंने कहा कि अभ्यास करना तो युद्ध से भी ज्यादा मुश्किल लगता है ,तो जीतने की संभावना अधिक बड़ी होगी ।

उन्होंने बताया,हमारी पनडुब्बी में अगर किसी पोस्ट पर कोई भी गलती हुई ,तो गंभीर परिणाम पैदा होने की आशंका है । सो पोस्ट पर जाने से पहले किसी भी तकनीकी और क्रिया की सख्त मांग होनी चाहिए। जब आदेश मिलता है ,तो समुद्र में जा सकते हैं ।हम हर समय तैयार हैं ।

एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

एक चीनी पनडुब्बी के कैप्टान की कहानी

कैप्टन का पद संभालने के बाद तंग श्योछुन ने रणनीतिक जहाजरानी ,समुद्री प्रभुसत्ता की सुरक्षा और विभिन्न स्तरों के युद्धाभ्यास समेत 20 से अधिक बड़े कार्य पूरे किये ।भावी विकास की चर्चा में तंग श्योछुन ने कहा  ,मुझे लगता है कि भावी विकास और उज्जवल होगा ।वर्तमान में उपकरणों के सुधार की गति बहुत तेज़ है ।हमारे देश की नयी तकनीकों का विकास भी बहुत तेज़ है ।उन प्रगतिशील तकनीकों का निरंतर हमारी पनडुब्बी में इस्तेमाल किया जाता है। हमारी पनडुब्बी का भविष्य बहुत अच्छा होगा।

(वेइतुंग) 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories