गरीबी उन्मूलन के लिए पेइचिंग में अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री आयोजित

2017-11-13 14:42:13
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

गरीबी उन्मूलन के लिए पेइचिंग में अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री आयोजित

परोपकारी बिक्री पर चीनी विदेश मंत्री वांग यी

इस अक्तूबर के अंत में चीनी विदेश मंत्रालय और चीनी गरीबी उन्मूलन कोष ने पेइचिंग मज़दूर स्टेडियम में अंतर्राष्ट्रीय परोपकारी बिक्री कार्यक्रम आयोजित किया। इस कार्यक्रम का नाम है लव नोज़ नो बॉर्डर्स यानी प्यार की कोई सीमा नहीं होती। पेइचिंग स्थित लगभग 80 विदेशी दूतावासों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने इस परोपकारी कार्यक्रम में भाग लिया। इस कार्यक्रम में मिली धनराशि का दक्षिण-पश्चिमी चीन के युन्नान प्रांत के ग्रामीण स्वास्थ्य कार्य में प्रयोग किया जाएगा।

पेइचिंग मज़दूर स्टेडियम में श्रीलंकाई चाय, जर्मन बियर, बेल्जियम के चॉकलेट, जिंबाब्वे के काष्ठ औऱ पत्थर नक्काशी समेत तरह तरह की वस्तुएं नज़र आ रही थीं। सुबह नौ बजे के बाद स्टेडियम में भीड़भाड भरी हुई। अनोखी चीजों, स्वादिष्ट खाना, मनोरंजक गतिविधियों से लोगों के बीच उत्साह बुलंद था।

वर्ष 2009 से यह नौवीं बार है कि चीनी विदेश मंत्रालय ने पेइचिंग स्थित विदेशी राजनयिक मंडलों के साथ अंतर्राष्ट्रीय परोपकारी बिक्री आयोजित की। चीनी विदेश मंत्री वांग यी और उनकी पत्नी और पेइचिंग में विदेशी दूतावासों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के 140 से अधिक प्रतिनिधियों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।    

चीन स्थित जर्मन दूतावास के सूचना केंद्र के निदेशक माथियास कौफमान जर्मन स्टॉल के जिम्मेदार थे।

उन्होंने हमारे संवाददाता को बताया, हम जर्मनी की रंगबिरंगी छवि दिखाना चाहते हैं, खासकर जर्मन फूड। उदाहरण के लिए हम ने शुद्ध जर्मन बीयर, रेड वाइन, मिठाईयां, मुरब्बे और इत्यादि। इन को चखने और खरीदने के लिये सभी लोगों का स्वागत है। पिछले साल के इस परोपकारी कार्यक्रम में बिक्री की कुल आय की रैंकिंग में जर्मन स्टॉल पहले पाँच स्थानों में पहुंचा था। चालू साल हम अधिक प्रदर्शनी करेंगे ताकि चीन के युन्नान के गरीबी उन्मूलन कार्य के लिए योगदान दिया जाए।

मैडम माशावाव चीन स्थित जिंबाब्वे दूतावास की उप मिलिटरी अटाची हैं। उन्होंने लगातार तीन साल तक इस परोपकारी कार्यक्रम में भाग लिया है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में भाग लेना एक तरह से चीन के परोपकारी कार्य का समर्थन करना है, दूसरी तरफ़ चीनी लोग उन का देश अधिक जानकारी प्राप्त कर सकेंगे ।

उन्होंने बताया, चीनी परोपकारी कार्य के समर्थन के लिए हम ने विशिष्ट हस्तशिल्प की चीजें लायीं हैं। जैसे ये लकड़ी से बनी जिराफ़ की नक्काशीदार मूर्ति और ढेर सारी पत्थर की बनी मूर्तियां। मुझे एहसास है कि चीनी लोग अफ्रीकी शिल्प वस्तुओं को बहुत पसंद करते हैं, खासकर जिम्बाब्बवे की काष्ठ पुश रचनाएं।

श्रीलंकाई प्रदर्शनी पर काली चाय का व्यापार कर रहे श्री अनुरू ने बताया कि विभिन्न प्रदर्शनी संस्थाओं और आने वाले दर्शकों के उत्साह ने उन पर गहरा प्रभाव डाला।


उन्होंने बताया, इस परोपकारी बिक्री का नाम अधिक बड़ा हो गया है। अधिकाधिक लोग इसमें भाग ले रहे हैं और परोपकारी कार्य के लिए अपनी शक्ति देना चाहते हैं। चीन स्थित बहुत सी विदेशी संस्थाओं ने अपने अपने स्टॉल बनाए हैं। इस प्रदर्शनी को देखकर ऐसा लगता है कि यहां पर एक छोटा सा वैश्विक गांव है।

गरीबी उन्मूलन के लिए पेइचिंग में अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री आयोजित

कुछ साल के विकास और प्रचार प्रसार से लव नोज नो बॉर्डर्स अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री ने चीनी समाज में अच्छी कीर्ति प्राप्त की है। इस साल 15 हजार लोगों ने टिकट खरीदकर इस कार्यक्रम में भाग लिया। पेइचिंग वासी मैडम कू ने हमारे संवाददाता को बताया कि वे इस गतिविधि की वफादार प्रशंसक हैं।

उन्होंने बताया, पहले मैंने बर्डनेस्ट में आयोजित अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री में हिस्सा लिया था। इस साल मुझे मेरे दोस्त से इस गतिविधि की सूचना मिली थी। आज मैंने वियतनाम की स्प्रिंग रोल चखा और कोरियाई अचार भी खरीदा। विश्व के इतने ज्यादा देशों के लोग यहां इकट्ठे होकर प्यार बांटते हैं, ये तो सचमुच बहुत अच्छा लगता है।

पेइचिंग के रहने वाले श्री चांग छठी बार अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री में भाग ले रहे थे। अपनी इस रुचि की चर्चा में उन्होंने बताया ,विदेशों में जो देखी गयी चीजें हैं, यहां भी खरीदी जा सकती हैं। यह अच्छी बात है। इसके अलावा इस गतिविधि से कई देशों के दूतावास चीनी जनता के बारे में अधिक महसूस कर सकते हैं। ये विचार, संस्कृति और भावना का मेलजोल भी है।

चालू साल अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री गतिविधि की प्रवर्तक चीनी विदेश मंत्री वांग यी की पत्नी छिएंवेइ ने कहा कि चीन स्थित विभिन्न देशों की संस्थाओं और देशी विदेशी प्यार अदा करने वाले लोगों के समर्थन में अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री ने चीनी परोपकारी कार्य के लिए बड़ा योगदान दिया है।

उन्होंने कहा, लव नोज नो बोर्डर्स अंतरराष्ट्रीय परोपकारी बिक्री नौ साल गुजर चुके हैं। कई वर्षें में परोपकारी बिक्री से कुल 2 करोड 20 लाख युआन धनराशि इकट्ठा हुई है। इस धनराशि के प्रयोग से हम ने युन्नान, कानसू, हपेइ, हनान और क्वीचो पाँच प्रांतों के दरिद्र इलाकों में पुल का निर्माण किया, कुएं खोदे गए, पहाड़ी गांव में सुधार के काम किये, दिल की बीमारी से ग्रस्त बच्चों का इलाज कराया। परोपकारी कार्रवाई वर्म पास करती है और नि:स्वार्थ प्यार आशा जागता है।

आंकडों के अनुसार इस साल की गतिविधि में कुल 40 लाख युआन इकट्ठा हुए हैं। चीनी गरीबी उन्मूलन कोष इस धनराशि का प्रयोग कर युन्नान की दो गरीब काउंटियों में ग्रामीण अस्पताल बनाएगा।(वेइतुङ)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories