चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

2018-11-13 16:45:58
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

चीन-भारत व्यापारिक रिश्तों में हाल के दिनों में मजबूती देखने को मिली है। चाय, चावल और अन्य उत्पादों के चीन में प्रवेश को लेकर चीनी और भारतीय निवेशकों के बीच कई बैठकें हो चुकी हैं। इसी क्रम में सोमवार को बीजिंग में दूसरे स्टार्ट-अप इंडिया निवेश सेमिनार का आयोजन हुआ। इस दौरान दोनों पक्षों ने चीन और भारत के बीच निवेश बढ़ाने को लेकर चर्चा की। जिसमें दो भारतीय निवेशकों के अलावा विभिन्न क्षेत्रों की 20 भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों और तमाम चीनी निवेशकों ने हिस्सा लिया। इसके साथ ही उक्त भारतीय प्रतिनिधियों को टेनसेंट के कार्यालय व टस होल्डिंग्स पार्क जाने का मौका भी मिला।

चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

इस अवसर पर भारत की ओर से दो निवेशक आईवीकैप वेंचर और आईडीजी वेंचर्स के प्रतिनिधि मौजूद थे। वहीं सात्विको के संस्थापक प्रसून गुप्ता, निरोग स्ट्रीट के संस्थापक राम.एन.कुमार, ट्रिप शेल्फ की सह-संस्थापक सुखमनी सिंह, एंबी के संस्थापक अक्षय जोशी, गो-लाइव गेम के संस्थापक किरण कुमार, के साथ-साथ लॉग नाइन टैक्नोलॉजी, लैगेसी एमरेट्स ग्रुप, बिस्बो और स्नैप मिंट आदि कंपनियों के प्रमुख मौजूद थे। जबकि चीन की तरफ से अलीबाबा, जेडी डॉट कॉम, चीनी निवेश निगम, चीनी पेट्रोलियम निगम व अन्य प्रमुख चीनी निवेशकों ने शिरकत की। इस सेमिनार का उद्देश्य भारत की इन उभरती कंपनियों के लिए चीन में निवेश के अवसरों की तलाश करना था।

चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

इस दौरान भारतीय दूतावास के डेप्यूटी चीफ ऑफ मिशन एक्विनो विमल, वेंचर गुरुकुल के संस्थापक महेंद्र स्वरूप, निवेशक प्रबंधक शिवांक सक्सेना आदि भी उपस्थित रहे। सेमिनार का आयोजन भारतीय दूतावास और वेंचर गुरुकुल द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।

चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

चीन में मौके तलाश रही हैं भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियां

बीजिंग के बाद भारतीय निवेशकों और प्रतिनिधियों की मुलाकात शांगहाई में भी चीनी निवेशकों के साथ होगी।


अनिल आज़ाद पांडेय


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories