20180507

2018-05-07 11:04:05
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

"एक पट्टी एक मार्ग" सहयोग की संभावना पर चीन और अमेरिका के विशेषज्ञों की वार्ता

इस वर्ष चीन में सुधार और खुलेपन की नीति लागू किये जाने की 40वीं वर्षगांठ के साथ "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव पेश किये जाने की पाँचवीं वर्षगांठ भी है। हाल ही में अमेरिका की वॉशिंगटन ब्रूकिंग्स सोसाइटी ने आईएफएफ चीन रिपोर्ट 2018 जारी करने का एक सम्मेलन आयोजित किया। चीन और अमेरिका के विशेषज्ञों, विद्वानों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रधानों ने समान रूप से "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव को आगे बढ़ाने के दौरान हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बुनियादी संस्थापनों के निर्माण, खतरों की रोकथाम जैसे मामले का मुकाबला करने के कदमों पर विचार-विमर्श किया।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष यानी आईएमएफ़ की अध्यक्षा क्रिस्टीन लगार्ड ने हाल ही में चीन की यात्रा की है। उन्होंने पेइचिंग में कहा कि आईएमएफ़ चीन के साथ सहयोग गहराने में जुटा रहेगा और चीन द्वारा प्रस्तुत "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव का सक्रिय रूप से समर्थन करेगा। आईएमएफ़ के एशिया-प्रशांत ब्यूरो के अध्यक्ष छांग योंग ली ने रिपोर्ट जारी करने के सम्मेलन में कहा कि चीन द्वारा प्रस्तुत "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव से व्यापार, निवेश और वित्त के क्षेत्रों में संबंधित देशों के साथ आगे सहयोग करने और बुनियादी संस्थापनों के निर्माण से आर्थिक वृद्धि होने के लिए मददगार सिद्ध होगी।

उन्होंने कहा कि एशिया में हमें अनेक क्षेत्रों में बुनियादी संस्थापनों का निर्माण करना चाहिए। चीन द्वारा प्रस्तुत "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव से आईएमएफ और चीन सरकार को सफलता से सहयोग करने का एक अच्छा मौका प्रदान किया गया। "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव के कई फायदे हैं। हालांकि उसमें खतरे भी हैं, लेकिन आईएमएफ के लिए इन क्षेत्रों में चीन को सहायता दी जाएगी और जिससे चीन को सफलता मिल सके, चीन और विश्व इससे लाभ मिलेगा।

सम्मेलन के उपस्थितों का विचार है कि संबंधित देशों के भौगोलिक संपर्क और आम लोगों के बीच संपर्क के स्तर को उन्नत करने, निर्यात को बढ़ावा देने, व्यापार के विकास को आगे बढ़ाने जैसे क्षेत्रों में "एक पट्टी एक मार्ग" निर्माण की बड़ी निहित शक्ति है, जिससे संबंधित देशों को चीन और अन्य देशों से आए और अधिक निवेश मिलने की मदद भी दी गई। इन निवेश में बुनियादी संस्थापनों के क्षेत्र के अलावा अन्य उद्योगों और क्षेत्रों में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश भी शामिल है। यह "एक पट्टी एक मार्ग" के संबंधित देशों द्वारा वैश्विक मूल्य श्रृंखला में शामिल होने के लिए भी लाभदायक है।

जॉर्ज वॉशिंगटन विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र और अंतर्राष्ट्रीय मामलों के प्रोफ़ेसर मैगी एओ यांग चेन ने नीति, कार्यक्रम, व्यवस्था जैसी नरम आधारभूत संरचना के निर्माण में "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव द्वारा दी कई मदद की विशेष तौर पर चर्चा भी की।

उनका कहना है कि हमें हार्डवेयर के बुनियादी संस्थापनों पर "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव के निवेश मालूम हैं, लेकिन अधिक महत्वपूर्ण की बात ये है कि नरम आधारभूत संरचना के निर्माण को उन्नत करने से इस प्रस्ताव को और अधिक फायदे मिलेंगे। नरम आधारभूत संरचना में सीमा शुल्क व्यापार सुविधा उपाय, सीमा शुल्क निकासी दक्षता उन्नत करना, व्यापार कानून और विनियम का सुधार शामिल है, जिससे देसी-विदेशी उद्यमों को व्यापार का और अच्छा वातावरण बनाया जा सके।

"एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव अंतर्राष्ट्रीय सहयोग का एक महत्वपूर्ण मंच है। व्यापार, निवेश, समावेशी वित्त, लोगों के बीच आदान-प्रदान को आगे बढ़ाने के लिए यह प्रस्ताव हमेशा विश्व के विभिन्न क्षेत्रों के बीच दूरी करीब करने की कोशिश कर रहा है। चीनी विकास बैंक के महा निदेशक चेंग च्यीचेई ने कहा कि हालांकि दुनिया भर में संरक्षणवाद बढ़ रहा है, लेकिन शांति, सहयोग, खुपेलन और एक दूसरे के बीच जोड़ना प्रवृत्ति की दिशा है। उन्होंने कहा कि आर्थिक वैश्वीकरण की युग की प्रवृत्ति अपरिवर्तनीय है। "एक पट्टी एक मार्ग" निर्माण में खुलेपन, सहयोग, समावेशी और समान जीत की अवधारणा बहुत मूल्यवान है।

(वनिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories