20180430

2018-04-30 15:23:30
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

विश्व व्यापार लगातार 3 वर्षों में मज़बूत वृद्धि बनी रहेगी

 

विश्व व्यापार संगठन यानी डब्ल्यू टी ओ द्वारा हाल ही में जिनेवा में जारी वार्षिक विश्व व्यापार रिपोर्ट के अनुसार पिछले वर्ष विश्व व्यापार की वृद्धि दर 4.7 प्रतिशत रही, जो वर्ष 2011 से सबसे तेज वृद्धि दर है। इस वर्ष और अगले वर्ष विश्व व्यापार लगातार मज़बूत वृद्धि बनी रहेगी, अनुमान है कि वृद्धि दर 4.4 प्रतिशत और 4.0 प्रतिशत होगी। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि वर्ष 2017 चीनी उत्पादों का व्यापारिक निर्यात विश्व के पहले स्थान पर रहा, जो पूरे विश्व का 12.8 प्रतिशत भाग है।

विश्व व्यापार सांख्यिकी शीर्षक यह रिपोर्ट डब्ल्यू टी ओ द्वारा जारी वार्षिक रिपोर्ट है, जो मुख्य तैयार पर पिछले वर्ष की वैश्विक व्यापार स्थिति का सारांश और सिंहावलोकन करती है और चालू वर्ष के विश्व व्यापार की संभावना का अनुमान लगाती है।

डब्ल्यू टी ओ के महा निदेशक रॉबर्टो एजेवेडो ने एक न्यूज ब्रीफिंग में पिछले वर्ष की विश्व व्यापार वृद्धि पर संतोष प्रकट किया। उन्होंने कहा कि हमारे द्वारा आज जारी यह रिपोर्ट बहुत आशावादी है। वर्ष 2017 विश्व व्यापार की मजबूत वृद्धि बनी रही थी। विश्व उत्पादों की व्यापार राशि 4.7 प्रतिशत अधिक रही, जो पिछले वर्ष के सितंबर के 3.6 प्रतिशत के अनुमान से अधिक है। यह वर्ष 2011 से अब तक की सबसे तेज वृद्धि दर है।

रिपोर्ट से पता चला है कि वर्ष 2017 चीनी वस्तुओं के व्यापारिक निर्यात की राशि 22.63 खरब अमेरिकी डॉलर थी, जो लगातार विश्व के पहले स्थान पर रही और विश्व का 12.8 प्रतिशत भाग बनाती है। चीन के साथ अमेरिका, जर्मनी, जापान, नीदरलैंड, दक्षिण कोरिया और चीन के हांगकांग रहे। वैश्विक उत्पाद व्यापारिक आयात की सूची में अमेरिका 24 खरब डॉलर से पहले स्थान पर रहा, जिसका भाग दुनिया भर में 13.4 प्रतिशत बनता है। चीन अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर रहा, इसके बाद जर्मनी, जापान, ब्रिटेन, फ्रांस और चीन का हांगकांग रहे। वहीं वाणिज्य सेवा व्यापार के आयात-निर्यात में चीन थोड़ा पीछे रहा, आयात के मामले में विश्व में दूसरे और निर्यात में पांचवें स्थान पर रहा। अमेरिका का वाणिज्य सेवा व्यापारिक आयात-निर्यात दोनों ही अग्रिम स्थान पर रहे।

रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले वर्ष विश्व माल व्यापार की वृद्धि होने का प्रमुख कारण आवश्यकता की वृद्धि है, विशेषकर एशियाई क्षेत्रों की आवश्यकता की वृद्धि हो रही है। पिछले वर्ष एशिया सबसे तेज आयात और निर्यात वृद्धि वाला क्षेत्र है, जिसकी आयात वृद्धि विश्व का 60 प्रतिशत भाग है और निर्यात वृद्धि विश्व का 51 प्रतिशत भाग है।

इस साल और अगले साल की वैश्विक व्यापार स्थिति पर डब्ल्यू टी ओ का अनुमान भी आशावादी है। एजेवेडो ने कहा कि हमारे अनुमान है वर्ष 2018 विश्व माल की व्यापार वृद्धि दर वर्ष 2017 के बराबर होगी, जो वृद्धि दर 4.4 प्रतिशत होगी। वर्ष 2019 मजबूत वृद्धि दर बनी रहेगी, जो लगभग 4.0 प्रतिशत होगी। यह एक अच्छी सूचना है, जो आर्थिक संकट के बाद से अब तक का सबसे अच्छा व्यापार विकास दिखाया गया है। यह विश्व की आर्थिक वृद्धि, विकास और रोज़गार बनाने के अनुकूल होगा।

विश्व व्यापार के सामने मौजूद जोखिम कारक की चर्चा करते हुए डब्ल्यू टी ओ ने तीन पहलुओं से राय पेश किया। पहला, प्रतिबंधित व्यापार की नीतिगत कदम अधिक होगा, जो उद्यमों और उपभोक्ताओं को अनिश्चितता लाई जाती है और विश्व व्यापार पर भी प्रभाव पड़ेगा। दूसरा, मुद्रा कसने की नीति से विनिमय दर और पूंजी प्रवाह में उतार-चढ़ाव होगा, जिससे व्यापार क्षेत्र पर प्रभाव पड़ेगा। तीसरा, भू-राजनीतिक तनाव होने या इसकी स्थिति बिगड़ने से व्यापार पर अप्रत्याशित प्रभाव पड़ेगा।

एजेवेडो ने विशेषकर हाल ही में पैदा व्यापार तनाव की चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि एक दूसरे से जुड़ने वाले अर्थतंत्र में कोई भी प्रभाव वैश्विक प्रभाव होने की संभावना है।

एज़ेवेडो ने संवाददाता के सवालों का जवाब देते हुए चीन द्वारा प्रस्तुत वार्ता के माध्यम से व्यापारिक विवादों के समाधान वाले प्रस्ताव का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि चीन डब्ल्यू टी ओ का एक बहुत सक्रिय सदस्य है और उसने सभी वार्ता, बातचीत में भाग लिया और सही रूप से अपने हितों की गारंटी की। चीन ने कई बार कहा है कि वह विश्व व्यापार की व्यवस्था का समर्थन करता है और निरंतर डब्ल्यू टी ओ के ढांचे में काम करेगा। यह व्यापक स्वागत मिला।

एज़ेवेडो ने विभिन्न पक्षों से आज प्राप्त जबरदस्त व्यापारिक वृद्धि की रक्षा करने और व्यापार को वैश्विक आर्थिक वृद्धि, अधिक रोज़गार और विकास की प्रेरित शक्ति सुनिश्चित करने की अपील की।

(वनिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories