29 अगस्त 2019

2019-08-29 18:15:17
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अनिलः दोस्तो प्रोग्राम शुरू करते हैं। सबसे पहले यह जानकारी।

एक कहावत है 'ऊपर वाला जब भी देता, देता छप्पड़ फाड़ के'। ये कहावत कनाडा की रहने वाली विक्की मिशेल नाम की महिला पर बिल्कुल फिट बैठती है। दरअसल, महिला ने महज 131 रुपये की लॉटरी खरीदी थी और उससे उसने 31 करोड़ रुपये की भारी भरकम राशि जीत ली है। अब महिला की खुशी का ठिकाना नहीं है।

42 वर्षीय मिशेल दो बच्चों की मां हैं और हालीफैक्स में रहती हैं। वह एक अकाउंटेंसी फर्म में प्रशासनिक सहायिका के तौर पर काम करती हैं। महिला ने बताया कि जब उन्होंने लॉटरी खरीदी थी, जब उनके अकाउंट में महज डेढ़ पाउंड यानी 131 रुपये ही बचे थे और इसी 131 रुपये ने उनकी किस्मत का ताला खोल दिया।

नीलमः अब अगली खबर। आखिर शवों का पोस्टमॉर्टम दिन में ही क्यों किया जाता है, रात में क्यों नहीं? चलिए हम आपको बताते हैं। दरअसल, पोस्टमॉर्टम एक प्रकार का ऑपरेशन होता है, जिसमें शव का परीक्षण किया जाता है। शव का परीक्षण इसलिए किया जाता है, ताकि व्यक्ति की मौत के सही कारणों का पता लगाया जा सके।

पोस्टमॉर्टम के लिए मृतक के सगे-संबंधियों की सहमति अनिवार्य होती है। हालांकि कुछ मामलों में पुलिस अधिकारी भी पोस्टमॉर्टम की इजाजत दे देते हैं, जैसे कि हत्या। कहते हैं कि व्यक्ति की मौत के बाद छह से 10 घंटे के अंदर ही पोस्टमॉर्टम किया जाता है, क्योंकि इससे अधिक समय होने के बाद शवों में प्राकृतिक परिवर्तन, जैसे कि ऐंठन होने लगते हैं।

शवों का पोस्टमॉर्टम करने का समय सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक का ही होता है। इसके पीछे वजह ये है कि रात में ट्यूबलाइट या एलईडी की कृत्रिम रोशनी में चोट का रंग लाल के बजाए बैंगनी दिखाई देता है और फॉरेंसिक साइंस में बैंगनी रंग की चोट का कोई उल्लेख नहीं किया गया है।


अनिलः हवाई सफर के दौरान हमारा खाने का स्वाद बदल जाता है, क्योंकि एयरलाइंस में दिए गए खानों में ज्यादा नमक का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन विमान में दबाव ज्यादा होने की वजह से हमें स्वाद में इसका पता नहीं चलता है।

हवाई जहाज में इमरजेंसी (आपातकाल) के समय जो ऑक्सीजन मास्क यात्रियों को दिए जाते हैं, उसके सहारे यात्री सिर्फ 15 मिनट ही जिंदा रह सकते हैं।

साल 1953 से पहले हवाई जहाज की खिड़कियों के कोने चौकौर होते थे, लेकिन एक दुर्घटना की वजह से बाद में खिड़कियों को गोल बनाया जाने लगा, क्योंकि गोल किनारे हवा का ज्यादा विरोध नहीं करते और इससे विमान पर ज्यादा दबाव नहीं पड़ता।


नीलमः उधर अमेरिका की एक अदालत ने दिग्गज हेल्थ केयर कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन पर 57.20 करोड़ डॉलर (करीब 41 अरब रुपये) का जुर्माना लगाया गया है। अदालत ने यह जुर्माना नशीली दवाओं के इस्तेमाल से जुड़े ओपॉयड संकट मामले में लगाया है। अफीम से बनने वाली दर्द निवारक दवाओं को ओपॉयड कहा जाता है, लेकिन कुछ लोग इसका नशे के लिए प्रयोग करते हैं। अमेरिका की सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन एजेंसी के अनुसार, देश में ओपॉयड के चलते 1999 से 2017 के दौरान करीब चार लाख लोगों की मौत हुई।

ओकलाहोमा की क्लेवलैंड काउंटी की जिला अदालत के जज थाड बाकमैन ने अपने फैसले में कहा कि कंपनी ने जानबूझकर ओपॉयड के खतरे को नजरअंदाज किया और अपने फायदे के लिए डॉक्टरों को नशीली दर्द निवारक दवाएं लिखने के लिए अपने पक्ष में किया।

अनिलः अब समय हो गया बातचीत सुनवाने का। हमने बात की दैनिक जागरण के वरिष्ठ पत्रकार राजीव सचान के साथ। सुनते हैं बातचीत के मुख्य अंश।

.....

बातचीत..


...

बातचीत के बाद समय हो गया है श्रोताओं की टिप्पणी का।

नीलमः अब समय हो गया है श्रोताओं की टिप्पणी शामिल करने का।

पहला पत्र हमें भेजा है, खंडवा मध्य प्रदेश से दुर्गेश नागनपुरे ने। लिखते हैं, टी-टाइम प्रोग्राम में पेश सभी जानकारियां बहुत अच्छी लगी। वहीं जानी-मानी भरतनाट्यम गुरु लीला सैम्पसन जी के साथ की गयी वार्ता बहुत अच्छी और लाभदायक लगी।

धन्यवाद।


अनिलः अगला पत्र भेजा है, नैहाटी, पश्चिम बंगाल से माधव चंद्र सागौर ने। लिखते हैं, 1968 में लापता हुए विमान के बारे में जानकारी दुर्लभ लगी। वहीं टोक्यो में 400 साल पुराने बौद्ध मंदिर में पुजारी का काम रोबोट द्वारा किए जाने का समाचार रोचक लगा। इसके साथ ही भरतनाट्यम गुरु लीला जी के साथ अनिल जी की वार्ता बहुत पसंद आयी। धन्यवाद एक शानदार प्रस्तुति के लिए।


नीलमः अब बारी है अगले पत्र की। जिसे भेजा है, पंतनगर उत्तराखंड से वीरेंद्र मेहता ने। लिखते हैं, जापान के 400 साल पुराने एक मंदिर में रोबोट के पुजारी होने की खबर बड़ी ही दिलचस्पी लगी, पर देखना यह होगा कि लोगों की दिलचस्पी इस रोबोट पुजारी में कब तक लगी रहती है । और गांधी जी का मंदिर जो कि मंगलुरू के गरोड़ी क्षेत्र में स्थित है के बारे में सुना जहां पर सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चलने की प्रार्थना या लोग प्रण लेते हैं । वहीं दवाइयों के पत्तों पर लाल रंग की पट्टी का मतलब समझा जो कि ज्ञानवर्धक खबर थी ।और भरतनाट्यम के गुरु लीला से अनिल जी की वार्ता के अंश सुनने को मिले। सुंदर प्रोग्राम की प्रस्तुति के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद । मैं पंतनगर में जॉब कर रहा हूं सभी आगामी पत्र भी यहीं से लिखते रहूंगा, जब तक यहां पर हूं । आज आपसे डायमंड से जुड़ी थोड़ी बहुत जानकारी साझा कर रहा हूं इस ऑडियो के माध्यम से।

ऑडियो रिकार्डिंग....


अनिलः अब पेश करते हैं, दरभंगा, बिहार से शंकर प्रसाद शंभू का पत्र। लिखते हैं, ढाका ग्लेशियर में वर्षों पहले लापता हुए विमान के बारे में जानकारी से भयावह हादसे के बारे में सुना। वहीं जापान में मंदिर में रोबोट द्वारा पुजारी का काम किए जाने का समाचार रोचक लगा। वहीं मंगलुरू में महात्मा गांधी का मंदिर होने का समाचार गांधी जी को समर्पित था। साथ ही दवा के पत्तों में लाल रंग की पट्टी का महत्व बताए जाने का समाचार हम सभी के काम आएगा। वहीं हॉलीवुड के जाने-माने एनिमेटर रिचर्ड विलियम्स के निधन का समाचार सुन दुःख हुआ।

वहीं, भरतनाट्यम गुरु लीला सैम्पसन के साथ हुई बातचीत से हमें बहुत कुछ जानने को मिला। आगे लिखते हैं कि मेरा पत्र शायद नेटवर्क में तकनीकी गड़बड़ी हो जाने के कारण ईमेल के रास्ते में खो गया। कोई बात नहीं !

धन्यवाद एक अच्छी प्रस्तुति के लिए।


नीलमः अब पेश करते हैं, खुर्जा यूपी से तिलक राज अरोड़ा द्वारा भेजा गया पत्र। लिखते हैं कि पिछले प्रोग्राम में अनिल पाण्डेय जी ने भरतनाट्यम गुरू लीला जी से भेंटवार्ता सुनवायी, बहुत पसंद आयी। कार्यक्रम में भारत-चीन के संगीत के बारे में बहुत ज्यादा विस्तार से बताया गया।

कार्यक्रम में सभी जानकारियां पहली बार चायना रेडियो से सुनने को मिली और पसंद आयी। जापान में 400 साल पुराने मंदिर में रोबोट की उपस्थिति में सभी काम करने और प्रवचन देने वाली जानकारी की जितनी भी प्रंशसा की जाए उतनी ही कम है।

कर्नाटक के मंगलुरू में ग़ांधी जी का मंदिर है यह जानकारी चायना रेडियो से ही पहली बार सुनी।

दवाइयों के पत्ते पर बनी लाल रंग की पट्टी का मतलब बताया गया। हमने भी दवाइयों के पत्ते पर यह लाल रंग की पट्टी देखी हम तो यह ही समझ रहे थे कि दवाईयों के पत्ते का नया डिजायन बना दिया गया है।

बेहतरीन कार्यक्रम सुनवाने के लिये भाई अनिल पांडेय जी का दिल से शुक्रिया।

अनिलः अब पेश करते हैं केसिंगा उड़ीसा से सुरेश अग्रवाल का पत्र। लिखते हैं कार्यक्रम "खेल जगत" में अर्जुन पुरस्कार प्राप्त राष्ट्रीय फुटबाल टीम के गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू का यह उम्मीद जताया जाना बिलकुल सही लगा कि उनका यह पुरस्कार देश में फुटबॉल में करियर बनाने की कोशिश कर रहे खिलाड़ियों को प्रेरणा प्रदान करेगा। कार्यक्रम सुन कर यह भी जाना कि गुरप्रीत अर्जुन पुरस्कार पाने वाले 26वें फुटबाल खिलाड़ी हैं।

आपने यह भी बतलाया कि सुमित राठी के 78वें मिनट में किए गये गोल की बदौलत भारतीय अंडर-19 राष्ट्रीय टीम ने रविवार को ओएफसी डेवलपमेंटल टूर्नामेंट के शुरुआती मुकाबले में वनुआतू को 1-0 से शिकस्त दी। सचमुच, हम खेल प्रेमियों के लिये यह गर्व की बात है कि इन दिनों तमाम भारतीय युवा खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और अच्छी लय में हैं।

वहीं महिला कुश्ती के समाचारों में ओलम्पिक पदक विजेता साक्षी मलिक को भारतीय कुश्ती संघ द्वारा कारण बताओ नोटिस ज़ारी किये जाने का औचित्य समझ में आया। यदि वह बिना अनुमति के राष्ट्रीय कैंप छोड़कर गयीं थीं, तो निश्चित तौर पर उन पर यह अनुशासनात्मक कार्रवाई तो बनती ही है। कम समय में एक संतुलित प्रस्तुति के लिये अनिलजी आप धन्यवाद के पात्र हैं।

नीलमः सुरेश अग्रवाल आगे लिखते हैं कि यह जान कर खुशी हुई कि वर्षों पहले हिमालय के ग्लेशियर में दुर्घटनाग्रस्त विमान एएन-12 का मलबा ढूँढ़ निकाला गया है। इससे दुर्घटना के कारणों एवं उसके शिकार लोगों के बारे में कुछ अहम तथ्य हासिल हो सकेंगे।जापान के एक चार सौ साल पुराने मन्दिर में रोबोट पुजारी होने का समाचार बढ़ती कृत्रिम बुध्दि का द्योतक है।राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की किसी मन्दिर में रोज़ पूजा-आरती का समाचार काफी भावनात्मक लगा, परन्तु नासाज़ रिसैप्शन के चलते यह समझ में नहीं आया कि मन्दिर कहाँ पर स्थित है। मंगलुरू में स्थित है यह मंदिर। दवाओं पर छपी लाल रंग की पट्टी भी गहरा अर्थ लिये होती है, यह आज पहली बार जाना।

आज के कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण भरतनाट्यम गुरू लीला सैमसन से ली गयी भेंटवार्ता रही, जिसमें जिन्होंने एक भिन्न भाषा और संस्कृति वाले देश में रह कर भारतीय संस्कृति का अलख जगाया, यह क़ाबिल-ए-तारीफ़ है।

आज के कार्यक्रम में कम समय में अधिक पत्र शामिल करने की अनिवार्यता आपकी पढ़ने की गति से स्पष्ट झलकती थी। साधुवाद कि आपने सभी पत्रों को समाहित किया। आज के अंक में पेश तीनों ज़ोक्स भी उम्दा लगे। धन्यवाद फिर एक बेहतरीन प्रस्तुति के लिये।

सुरेश जी धन्यवाद।

अनिलः श्रोताओं की टिप्पणी के बाद समय हो गया है जोक्स का।

आज के प्रोग्राम के जोक्स सुरेश अग्रवाल जी ने भेजे हैं। जिन्हें हम शामिल कर रहे हैं।

पहला जोक

नर्सः इसका तो आँख का ऑपरेशन हुआ है,

फिर सभी उंगलियों में प्लास्टर क्यों

डॉक्टरः ताकि ये व्हट्सएप्प और फेसबुक न चला सके और इसकी आंखों को आराम मिले।


दूसरा जोक

एक दोस्त पीते वक्त अपने दोस्त से कहता है, जब आप रात को ड्रिंक करके घर जाते हैं तो

आपकी बीवी कुछ नहीं बोलती है क्या।

दोस्तः बोलती है ना, कीड़े पड़ेंगे, तुम्हारे दोस्तों को, जिन्होंने तुम्हें बिगाड़ा है।


तीसरा जोक

कहते हैं किसी के हाल पर मत हंसो, यही हाल आपका भी हो सकता है।

इसलिए मैं रोज़ सिर्फ मुकेश अंबानी पर हंसता हूं।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories