20181122

2018-11-22 18:33:33
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अनिलः आज के कार्यक्रम में जानकारी के अलावा आप सुनेंगे भारतीय बिजनेस मेन आशीष बाधवानी के साथ चर्चा।

चर्चा से पहले सुनते हैं यह जानकारी...

दोस्तो, आपने महिला दिवस, बाल दिवस और भी कई दिवसों के बारे में जानकारी सुनी होगी। आज हम आपको बताने जा रहे हैं मर्द या पुरुषों के दिवस के बारे में। 

International Men's Day यानी विश्व पुरुष दिवस हर साल 19 नवंबर को मनाया जाता है. अगर पूछा जाए कि महिला दिवस कब मनाया जाता है तो अधिकतर लोगों का जवाब होगा कि 8 मार्च को विश्व महिला दिवस मनाया जाता है. लेकिन विश्व पुरुष दिवस (INTERNATIONAL MEN'S DAY 2018) के बारे में पूछा जाए तो बहुत कम लोगों का इसका जवाब पता होगा. आज मर्दों का दिन है. 19 नवंबर का दिन करीब 60 से ज्यादा देशों में इंटरनेशनल मेन्स डे के रूप में मनाया जाता है. इसकी शुरुआत 1998 में त्रिनिदाद और टोबैगो में हुई थी. डॉ. जीरोम तिलकसिंह ने जीवन में पुरुषों के योगदान को एक नाम देने का बीड़ा उठाया था. उनके पिता के बर्थडे के दिन विश्व पुरुष दिवस मनाया जाता है. डॉ. जीरोम ने ही अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस की पहल की थी. 

इस जानकारी के बाद लीजिए पेश करते हैं आशीष बाधवानी के साथ चर्चा। 

...चर्चा...

यह बातचीत आपको कैसी लगी, हमें जरूर बताइएगा। धन्यवाद।

अब कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए सुनते हैं अगली जानकारी। 


नीलमः बात करते हैं भारत की। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने एक रिपोर्ट में कहा है कि भारत एकमात्र देश है जिसने मलेरिया के मामलों में गिरावट दर्ज की है। इस रिपोर्ट में दुनिया में मलेरिया से सर्वाधिक पीड़ित 11 देश शामिल हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक 2017 में दुनिया भर के मलेरिया के मामलों में 4 फीसद भारत में थे। अब भारत ने इस प्रतिशत को कम करने के मामले में अच्छी प्रगति की है। 


अनिलः अब वक्त हो गया है अगली जानकारी का। 

सबसे बड़े सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग की इस्तीफे की खबर आई है. न्यूयॉर्क टाइम्स की एक जांच के बाद फेसबुक के निवेशकों ने कंपनी के चेयरमैन और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मार्क जुकरबर्ग पर इस्तीफे का दवाब बढ़ा दिया है. जांच में खुलासा हुआ था कि फेसबुक ने रिपब्लिकन के स्वामित्व वाली राजनीतिक कंसल्टेंसी और पी.आर. कंपनी से एग्रीमेंट किया है जो अपने विरोधियों की बुराइयां उजागर करती है. द गार्जियन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक में पर्याप्त हिस्सेदारी वाली ट्रिलियम एसेट मैनेजमेंट के वरिष्ठ उपाध्यक्ष जोनस क्रोन ने रिपोर्ट का हवाला देते हुए जुकरबर्ग से बोर्ड के चेयरमैन से पद से उतरने के लिए कहा है.

एक रिपोर्ट के अनुसार, क्रोन ने कहा, "फेसबुक को लगता है कि वह विशेष ग्लेशियर है, मगर वह वैसा नहीं है. वह एक कंपनी है और कंपनियों में अध्यक्ष और सीईओ में अंतर होना चाहिए."


नीलमः दोस्तो, अब आपको बताते एक और जानकारी। उत्तराखंड के देहरादून में गर्भवती महिलाओं के लिए राहतभरी खबर है। गंभीर स्थिति में उन्हें अब शहर के पांच निजी अस्पतालों में भी प्रसव की निशुल्क सुविधा मिलेगी। खर्च का भुगतान स्वास्थ्य विभाग करेगा। पिछले दिनों सचिव स्वास्थ्य और सीएमआई, श्री महंत इंदिरेश, मैक्स, सिनर्जी, कैलाश हॉस्पिटल संचालकों की बैठक में इस पर सहमति बन गई है। स्वास्थ्य महानिदेशालय में सचिव स्वास्थ्य नितेश कुमार झा ने विभागीय अधिकारियों, आईएमए पदाधिकारियों और निजी अस्पतालों के संचालकों के साथ बैठक हुई। इसमें सहमति बनी कि शहर के बड़े निजी अस्पतालों को भी अटल आयुष्मान भारत योजना के तहत सूचीबद्ध किया जाए। 


अनिलः अब फिल्मी ख़बर की बात करते हैं....

बॉलीवुड की भाईजान यानी सलमान खान इन दिनों अपनी फिल्म भारत की शूटिंग में व्यस्त हैं। पिछले दिनों खबर थी कि सलमान खान फिल्म भारत की शूटिंग छोड़कर पंजाब से अचानक मुंबई लौटे क्योंकि उनकी तबीयत खराब हो गई, लेकिन गॉसिप गलियारों में चर्चा है कि बात कुछ और है। यह बात सलमान खान के फैंस को हैरान कर सकती है।

बताया जाता है कि फिल्म के लिए भारत-पाकिस्तान सीमा वाघा बॉर्डर का एक सीन सलमान और कैटरीना को शूट करना था। मगर सुरक्षा कारणों से यह संभव नहीं हो पाया। ऐसे में सलमान की टीम ने सीमा के नजदीक एक गांव की पंचायत से बात करके वहां वाघा बॉर्डर का सैट तैयार कराया। सीन की शूटिंग के लिए जिनके भी घर,दुकानें और जमीनें आ रहे थे, उन्हें मुआवाजा दिया गया। 

यहां तक सब ठीक था, परंतु समस्या तब शुरू हुई जब बॉर्डर पर सीमा के दूसरी तरफ पाकिस्तानी झंडा लगाने की बात आई। गांवों के गले यह बात नहीं उतरी कि भारत की जमीन पर पाकिस्तान का झंडा फहराया जाए। इसके बाद विवाद शुरू हो गया। पंचायत भी अड़ गई कि सलमान की टीम को पाकिस्तानी झंडा नहीं लगाने दिया जाएगा।  


आज के कार्यक्रम में जानकारी देने का सिलसिला यही संपन्न होता है, अब समय हो गया श्रोताओं की टिप्पणी का। 

पहला पत्र हमें भेजा है... 

नीलमः लीजिए पेश करते हैं, खंडवा मध्य प्रदेश से दुर्गेश नागनपुरे, कुमारी भावना, बिंदु, गोलू, कुसुमबाई और

राधेश्याम नागनपुरे का पत्र। लिखते हैं अनिल जी और नीलम जी ने कार्यक्रम को बेहतरीन ढंग से पेश किया । कार्यक्रम मे पैकेजिंग कंपनी सात्विको के संस्थापक प्रसून गुप्ता के साथ चर्चा बेहद पसंद आई । इसी क्रम में पाकिस्तान के शानदार बल्लेबाज शोएब मलिक अब टी 10 लीग का हिस्सा नही होंगे। इस जानकारी के अलावा पाकिस्तान मे 15 साल से लेकर  65 साल की उम्र के 69 फीसदी लोगों को नहीं मालूम कि इंटरनेट क्या होता है। यह जानकारी बेहद आश्चर्यजनक लगी। इसके साथ ही सैन डिएगो के आसमान में एक अदभुत नजारा देखने को मिला ।जब लोगों ने आसमान में कोई चमकती हुई अनोखी चीज देखी। आगे लिखते हैं कि महोदय जी मैं सीआरआई हिंदी सेवा का मॉनिटर बनना चाहता हूं। कृपया   इस विषय में अधिक जानकारी प्रदान करें। 

धन्यवाद हमें पत्र भेजने के लिए। जहां तक मॉनिटर बनने की बात है तो लगातार सीआरआई के साथ जुड़े रहिए, क्या पता एक दिन आप भी मॉनिटर बन जाएं। 


अनिलः अगला पत्र भेजा है जुबैल सऊदी अरब से सादिक आजमी ने। लिखते हैं टी टाइम के नए अंक का आनंद पूर्व की भांति लिया और कार्यक्रम हमेशा की भांति रोचक मनोरंजक एवं ज्ञानवर्धक लगा। 

फ्लिपकार्ट और अमेज़ॉन, ईबे व स्नैपडील जैसी ऑनलाइन कंपनियों का युवाओं में काफी क्रेज़ है और अब तमाम लोग घर बैठे खरीददारी करते हैं।   

वहीं प्रसून गुप्ता जी से की गई बातचीत भी रोचक लगी। सात्विको की बढ़ती लोकप्रियता और खाद्य पदार्थों को बेचने के इनके नए रूप के बारे में विस्तार से जानने का अवसर मिला। साथ में उनकी योजनाओं से अवगत होने का भी अवसर मिला। यह ब्रांड विश्व का लोकप्रिय ब्रांड बने। यही कामना करता हूँ क्योंकि समूची वार्ता से स्पष्ट हुआ की इनकी प्राथमिकता गुणवत्ता को लेकर है। जो स्वास्थ्य के लिए अति आवश्यक है। और हां पाकिस्तान में तमाम लोगों को इंटरनेट की जानकारी नहीं है,  मैं इस सर्वेक्षण को दुरुस्त नहीं मानता। क्योंकि ये महज़ दो हज़ार लोगों पर आधारित था। आज के युग की बात की जाये तो कचरा बीनने वाला भी स्मार्टफोन रखता है।

इसके साथ ही प्रोग्राम में पेश अन्य जानकारियां और जोक्स भी शानदार लगे। धन्यवाद बेहतरीन प्रस्तुति के लिए। 


नीलमः अब बारी है अगले पत्र की। जिसे भेजा है, मुक्तसर पंजाब से गुरमीत सिंह ने। लिखते हैं, प्रोग्राम में फूड पैकेजिंग कंपनी प्रसून जी से चर्चा अच्छी लगी। वहीं आपने बताया कि पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक अब टी टेन लीग का हिस्सा नहीं होंगे। यह उनका निजी मामला है। वैसे खेलने के साथ साथ परिवार के साथ भी वक्त बिताना चाहिए।

आगे की जानकारी में आपने बताया कि पाकिस्तान में 15 से 65 साल के 79 फीसदी लोगों को नहीं पता कि इंटरनेट क्या होता है। इसका कारण या तो लोगों की अशिक्षा हो सकता है या फिर उन इलाकों में नेटवर्क का न होना। धन्यवाद।

गुरमीत जी हमें पत्र भेजने के लिए धन्यवाद। 

अब पेश है अगला पत्र। जिसे भेजा है खुर्जा यूपी से तिलक राज अरोड़ा और चंदन अरोड़ा ने। लिखते हैं 15 नवंबर को टी टाइम कार्यक्रम सुनकर दिल बहुत खुश हुआ। मनोरंजन के साथ साथ जानकारियों से भरपूर कार्यक्रम की जितनी भी प्रंशसा की जाये उतनी कम है। चुटकलों ने कार्यक्रम में चार चाँद लगा दिया। धन्यवाद।


अनिलः अब पेश करते हैं दरभंगा बिहार से मॉनिटर शंकर प्रसाद शंभू का पत्र। लिखते हैं आपने बताया कि फ्लिपकार्ट कंपनी के सीईओ ने इस्तीफा दे दिया है। कहना होगा कि आजकल देश में आरोप प्रत्यारोप आम बात हो गए हैं। वहीं पैकेजिंग कंपनी सात्विको के संस्थापक प्रसून गुप्ता के साथ हुई बातचीत के मुख्य अंश पेश किये। जिससे हमें ज्ञात हुआ कि खाकरा चिप्स सात्विको ब्रांड इंडिया का तेजी से उभरता हुआ फूड पैकेजिंग ब्रांड है। जो परंपरागत भारतीय चीजों को बिना प्रिज़र्वटिव्स और आर्टिफ़िशियल चीजों के पैकेज्ड फूड के रूप में आकर्षक ढंग से ग्राहकों के सामने पेश करता है।

 इसके साथ ही तमाम जानकारियों के अलावा श्रोताओं की टिप्पणी कार्यक्रम को आकर्षक बना रही है। तीनों जोक्स सुनकर बहुत हंसी आयी। धन्यवाद।


नीलमः अब पेश है केसिंगा उड़ीसा से मॉनिटर सुरेश अग्रवाल का पत्र। कार्यक्रम में खाद्य  पैकेजिंग के क्षेत्र में उभरती कम्पनी सात्विको के संस्थापक प्रसून गुप्ता के साथ की गयी बा लगी। आईआईटी रुड़की से इंजीनियरिंग करने वाले प्रसून गुप्ता द्वारा पारम्परिक भारतीय खाद्य-पदार्थों को आधुनिक ढ़ंग से पेश किये जाने का आइडिया क़ाबिल-ए-ताऱीफ लगा। विशेषकर, खाकरा को चिप्स में तब्दील करना तथा मखाना स्नैक्स का उनका विचार क्रांतिकारी लगा। मुझे आशा ही नहीं, पक्का विश्वास है कि बहुत ज़ल्द उनकी कम्पनी लेज़ को पछाड़ को कर उससे आगे निकल जायेगी।

 जानकारियों के क्रम में ऑनलाइन कम्पनी फ्लिपकार्ट के संस्थापक एवं वर्तमान में फ्लिपकार्ट समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) बिन्नी बंसल द्वारा स्वयं पर लगे कदाचार के आरोपों के चलते इस्तीफ़ा दिया जाना तो समझ में आता है, परन्तु यह स्पष्ट नहीं हुआ कि उन पर यह आरोप लगाये किसने हैं ?   अगली जानकारी में यह जान कर खुशी हुई कि पाकिस्तान के शानदार बल्लेबाज शोएब मलिक अब खेल से अधिक अपने परिवार को तरज़ीह देने लगे हैं और इसी तारतम्य में वह अपने नवजात बेटे इज़हान और पत्नी के साथ अधिक वक़्त बिताने टी-10 लीग में हिस्सा नहीं लेंगे। शायद अन्य खिलाड़ी भी उनसे प्रेरणा लें।

वहीं पाकिस्तान से ही जुड़ी एक अन्य ख़बर में यह जान कर हैरत हुई कि वहां 15 से लेकर 65 साल की उम्र के 69 फीसदी लोग यह नहीं जानते कि इंटरनेट क्या होता है। अब श्रीलंका के थिंक-टैंक लाइर्नी एशिया द्वारा करवाया गया यह सर्वेक्षण कितना सही है, यह तो ज्ञात नहीं, परन्तु यदि यह सत्य है तो निश्चित तौर पर विस्मित करने वाला है।

सैन डिएगी के आसमान में दिखलायी पड़े अद्भुत नज़ारे की बात हमारे मन में भी नयी जिज्ञासा पैदा कर गयी। समझ में नहीं आता कि आख़िर इस रहस्य का  पटाक्षेप कब होगा कि पृथ्वी के अलावा भी कहीं जीवन है ? बहरहाल, किसी भी चीज़ के अस्तित्व को नकारा नहीं जा सकता।

वहीं आप द्वारा पेश पूरब के हमारे पड़ोसी देश म्यांमार की हवाई तस्वीर भी काफी खुशनुमा लगी। पहली बार ज्ञात हुआ कि बर्मा या म्यांमार को स्वर्णभूमि क्यों कहा जाता है। इसकी स्वर्णिम छबि काफी मनमोहक है।

इन तमाम बातों के अलावा श्रोताओं की प्रतिक्रियाएं एवं ज़ोक्स भी कार्यक्रम में रोचकता पैदा कर गये। धन्यवाद फिर एक अच्छी प्रस्तुति के लिये।

सुरेश जी हमें पत्र भेजने के लिए शुक्रिया।


अनिलः श्रोताओं की टिप्पणी के बाद समय हो गया है जोक्स यानी हंसगुल्लों का। 

आज के प्रोग्राम में हम जो जोक्स पेश कर रहे हैं, वह भेजे हैं गोरखपुर यूपी के श्रोता बद्री प्रसाद वर्मा ने।

पहला जोक-

थानेदार अपराधी से- आज तुम्हारी फांसी होने वाली है, बताओ तुम्हारी अंतिम इच्छा क्या है। 

अपराधी- मुझे एक बार और जेल से भागने का मौका दिया जाय..


दूसरा जोक

पति पत्नी से-आज हमारी शादी की पहली सालगिरह है, बताओ तुम्हें क्या चाहिए..

पत्नी-बुरा न मानो तो मेरी मां को यहां बुला लो.

पति- मैं घर में मुसीबत नहीं लाना चाहता हूं। 


तीसरा जोक..

डॉक्टर मरीज से- तुम्हें पीजीआई जाना पड़ेगा। 

मरीज-मैं पीजीआई से रेफर होकर यहां आया हूं। 

डॉक्टर-तब तो तुम्हें स्वर्ग जाना पड़ेगा।

मरीज-तब देर किस बात की है, स्वर्ग का हमारा टिकट कटा दीजिए। 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories