20180802

2018-08-02 18:29:52
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अनिलः दोस्तो, आज के प्रोग्राम में आप सुनेंगे चीन-अमेरिका विवाद पर न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन में ग्लोबल फैलो प्रसून शर्मा। इसके साथ ही आप सुनेंगे कुछ रोचक जानकारी। 


कार्यक्रम की शुरूआत करते हैं, इस जानकारी के साथ।  व्हट्सएप पर फैलती फर्जी खबरों के लिए कंपनी ने एक नया एप बनाने की दिशा में कदम बढ़ाया है। ताकि ऐसा एप बनाया जा सके, जिससे व्हाट्सएप कंपनी मेसेजिंग ऐप व्हाट्सएप पर आई खबरों की सच्चाई का पता लगा सके। 


दोस्तो, व्हट्सएप के बारे में शेष जानकारी फिर देंगे, पहले सुनते हैं चीन-अमेरिका व्यापारिक विवाद पर प्रसून शर्मा के साथ चर्चा।


....बातचीत.....


चर्चा जारी है, पहले सुनते हैं व्हट्सएप संबंधी जानकारी। 

इस एप में रंग की सहायता से फेक और सही खबर को पहचाना जा सकता है। उदाहरण के लिए यदि किसी यूजर को एक मैसेज आता है तो हम ऐसे कलर कोड बनाएंगे जो मैसेज की सत्यता को प्रमाणित करेंगे। यदि एप में हरा रंग होगा इसका मतलब है कि मेसेज सही है। पीले रंग का मतलब सिस्टम इस मेसेज को डीकोड नहीं कर पाया और अगर मैसेज आने पर एप में लाल रंग आया तो यह दिखाएगा कि मेसेज फर्जी या फेक है।


 .....बातचीत.....


अभी आपने सुनी प्रसून शर्मा के साथ चर्चा। आपको यह चर्चा कैसी लगी, हमें जरूर बताइएगा।


चर्चा के बाद प्रोग्राम को आगे बढ़ाते हुए सुनते हैं अगली जानकारी। 

अमेरिका में अगर चुनिंदा हवाईअड्डों पर चल रहा परीक्षण होने के बाद जांच तकनीक को व्यापक रूप से अपना लिया जाता है तो यात्री हवाईअड्डों के सुरक्षा जांच केंद्रों पर अपने कैरी बैग में तरल पदार्थ व लैपटॉप ले जा सकेंगे। बताया जाता है कि परिवहन सुरक्षा प्रशासन (टीएसए) ने कैरी बैग के लिए कंप्यूटेड टोमोग्राफी (सीटी) स्कैनर की परीक्षण योजना की घोषणा की। इन स्कैनरों को इस साल के अंत तक अमेरिकी हवाईअड्डों के 40 जगहों पर लगाया जाएगा।


वहीं अगली खबर चीन से है। चीन ने पृथ्वी अवलोकन हाई-रिजोल्यूशनउपग्रह परियोजना के तहत मंगलवार को ऑप्टिकल रिमोट सेंसिंग उपग्रह गाओफेन-11 लॉन्च किया। यह उपग्रह चीन की महत्वाकांक्षी बेल्ट एंड रोड परियोजना में मदद करेगा। बताया जाता है कि गाओफेन-11 उपग्रह को ताइयुआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से लॉन्ग मार्च 4बी रॉकेट के जरिए सुबह 11 बजे छोड़ा गया। 


यह लॉन्ग मार्च रॉकेट श्रृंखला का 282वां मिशन था। उपग्रह का इस्तेमाल भूमि सर्वेक्षण, शहरी योजना, सड़क नेटवर्क डिजाइन, कृषि और प्राकृतिक आपदा से बचाव के लिए किया जाएगा। इससे प्राप्त होने वाली जानकारी बेल्ट एंड रोड पहल के लिए भी इस्तेमाल की जाएगी.


अब बात किचन की। 

अक्सर महिलाएं किचन के सिंक से आने वाली बदबू से बेहद परेशान रहती हैं।  

सिंक में सामान फंसने से सड़ जाते हैं, जिस वजह से उसमें से बदबू आने लगती है। इस बदबू को आप पल भर में नींबू की मदद से साफ कर सकते हैं। इसके लिए नींबू और नमक का एक गाढा़ पेस्ट बना लें। तैयार पेस्ट से सिंक को साफ करें। एेसा करने से सिंक चमकने लगेगी और बदबू भी गायब हो जाएगी।

जैसे बर्तन धोना जरूरी होता है ठीक वैसे ही सिंक की सफाई रखना भी बहुत जरूरी है। सिंक को साफ करने के लिए आप काला सिरका भी इस्तेमाल कर सकते हैं।  


दोस्तो, प्रोग्राम में जानकारी देने का सिलसिला यहीं संपन्न होता है। अब समय हो गया टिप्पणी का।


नीलमः पहला लैटर हमें भेजा है मुजफ्फरपुर बिहार से रजनीश कुमार ने। लिखते हैं कि टी टाईम कार्यक्रम में एक भारतीय छात्र उदय शंकर मिश्रा से भेंटवार्ता और आकांक्षा जायसवाल द्वारा गाया गया हिन्दी गीत बहुत अच्छा लगा।  

अगला पत्र भेजा है, पश्चिम बंगाल से माधव चंद्र सागौर ने। लिखते हैं कि आपके प्रोग्राम में चीनी भाषा पढ़ने वाले विद्यार्थी उदय शंकर मिश्रा से लिया गया इंटरव्यू पसंद आया। इस बातचीत से पता चला कि चीन और भारत दोनों देश मात्र दो साल आगे-पीछे आजाद हुये। भारतीय युवती आकांक्षा द्वारा गाये हिन्दी गीत और दिव्या द्वारा गाया गया अंग्रेज़ी गीत भी मधुर लगा।

ताजमहल पर बेहतरीन इंटरनेट कनेक्टिविटी सुविधाएं बढ़ाने के मकसद से आइकानिक टूरिज्म साइट विकास परियोजना के तहत देश के 17 प्रतिष्ठित पर्यटन केंद्रों का चयन किया गया है। धन्यवाद इस सुन्दर प्रसारण के लिए।

माधव चन्द्र सागौर जी, हमें पत्र भेजने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।


अब पेश करते हैं नेक्स्ट लैटर जिसे भेजा है मुक्तसर पंजाब से गुरमीत सिंह ने। लिखते हैं कि टी टाइम प्रोग्राम अच्छा लगा। प्रोग्राम में सबसे पहले भारतीय युवा दल के साथ चीन पहुंचे उदय शंकर मिश्रा जी जो कि चीनी भाषा का अध्ययन कर रहे हैं, उनके साथ की गई बातचीत अच्छी लगी। इसके आगे अमेरिका से मुंबई आ रही एयर इंडिया की एक उड़ान में यात्रियों को ख़टमल के काटने की ख़बर सुनकर हैरानी हुई। हमें भी आज पता चला कि प्लेन में भी ऐसा होता है। धन्यवाद..


अनिलः वहीं सऊदी अरब से सादिक आजमी लिखते हैं कि कार्यक्रम की टाइम का नया अंक एक बार फिर रोचक और ज्ञानवर्धक और जानकारियां समेटे हुए था, आरंभ में भारतीय युवा दल जो चीन के दौरे पर है उस टीम के एक सदस्य उदय शंकर जी के विचारों को सुनवाया गया जो अच्छा लगा उन्होंने चीनी भाषा के महत्व और भविष्य की संभावनाओं पर गहन प्रकाश डाला, उनके अनुसार  चीन भारत के रिश्तों के प्रगाढ़ होने में मुख्य स्रोत भाषा को करार दिया जाना सही लगा, यक़ीनन जबतक हम एक दूसरे को बेहतर ढंग से नहीं ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌समझेंगे तब तक व्यापारिक ढांचे को मजबूत करने में सफल नही होंगे।   

जानकारियों के क्रम में भारतीय एयरलाइंस एयर इंडिया के सीटों में खटमल की उपस्थिति शर्मनाक है अबतक हम ट्रेनों में असुविधा से त्रस्त थे अब हवाई जहाज में भी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है, आशा है सरकार इस ओर ध्यान देने की कोशिश करेगी। 

आजमी जी हमें पत्र भेजने के लिए शुक्रिया।


नीलमः अगला पत्र भेजा है बेहाला कोलकाता से प्रियंजीत कुमार घोषाल ने। लिखते हैं कि प्रोग्राम में बताया गया कि कई पर्यटक स्थलों में सुविधाएं बढ़ाए जाने की खबर अच्छी लगी। वहीं एयर इंडिया की फ्लाइट में खटमलों का पाया जाना चिंता का विषय लगा। धन्यवाद एक शानदार प्रोग्राम पेश करने के लिए। 

आपका भी शुक्रिया।

अब पेश करते हैं मॉनिटर सुरेश अग्रवाल का खत। लिखते हैं कि चीनी भाषा का अध्ययन करने वाले छात्र उदय शंकर मिश्रा, जो कि भारतीय युवा दल के साथ चीन यात्रा पर गये, के साथ की गयी बातचीत काफी सार्थक लगी। मुझे चीन की तरक़्क़ी से उनके अभिभूत होने पर आश्चर्य नहीं हुआ, क्यों कि चीन और भारत दोनों लगभग एकसाथ स्वतंत्र हुये, परन्तु इस अवधि में चीन ने जो प्रगति हासिल की उसका कोई सानी नहीं है। हमें भी इससे सीख लेनी चाहिये। इस बातचीत के अलावा कुछ भारतीय युवाओं द्वारा गाये हिन्दी-अंग्रेज़ी गीत भी रुचिकर लगे।

कार्यक्रम में दी गयी यह जानकारी भी अच्छी लगी कि -बिग बॉस' के सीजन 12 के दौरान सेलिब्रिटीज के साथ आम लोगों को भी मौका दिया गया था लेकिन इस बार शो के मेकर्स ने कॉन्सेप्ट में बदलाव किया है।  

जानकारियों के क्रम में ताजमहल पर बेहतरीन इंटरनेट कनेक्टिविटी और विश्वस्तरीय सुविधाएं मिलने का समाचार भी मन को आह्लादित कर गया। यह भी पता चला कि आइकानिक टूरिज्म साइट विकास परियोजना के तहत देश के 17 प्रतिष्ठित पर्यटन केंद्रों का चयन किया है, जिन्हें वैश्विक स्तर के मानकों के तहत विकसित किया जायेगा।  

वहीं पिछले हफ़्ते एयर इंडिया की अमेरिका से मुंबई की एक उड़ान के ‘बिजनेस क्लास’ में यात्रियों को कथित तौर पर खटमलों द्वारा परेशान किये जाने का समाचार काफी अटपटा लगा। इसे तो लापरवाही की पराकाष्ठा कहा जायेगा।

कार्यक्रम में पेश बातचीत, गीत-संगीत तथा रोचक जानकारियों के साथ श्रोताओं की प्रतिक्रियाएं एवं ज़ोक्स का समाहित किया जाना प्रशंसनीय लगा। धन्यवाद एक सम्पूर्ण प्रस्तुति के लिये।


अनिलः श्रोताओं की टिप्पणी यहीं संपन्न होती है, अब समय हो गया जोक्स का। 



पहला जोक

बच्चा – पापा आप जल्दी से जल्दी मेरी शादी करा दो,

पिता – क्यों बे ?

बच्चा – जल्दी करो नहीं तो मैं दादी से शादी कर लूँगा,

पिता – क्या? तू मेरी माँ से शादी करेगा?

बच्चा – हाँ, आपने भी तो मेरी माँ से शादी की हुई है


दूसरा जोक


एक व्यक्ति नदी के किनारे बैठे व्यक्ति से पूछता है, अच्छा वो आप ही थे जिन्होंने मेरे बेटे को डूबने से बचाया। वह आदमी कहता है, कोई बात नहीं। इस पर पहला व्यक्ति बोलता है कोई बात क्यों नहीं, मेरे बेटे के सिर पर टोपी भी थी, वो कहां है....



अंतिम जोक...

पत्नी पति से कहती है, आज मुझे किसी फाइव स्टार होटल पर डिनर के लिए ले जाइए। 

पति कुछ सोचकर जवाब देता है- हां ठीक है। जरूर। 

शाम के वक्त दोनों कार में डिनर के लिए जा ही रहे थे कि सड़क किनारे एक गोल गप्पे वाला 

ठेला लगाए खड़ा था। तभी पति पत्नी से बोलता है, मैं शर्त लगाकर कहता हूं कि तुम 20 से ज्यादा गोलगप्पे नहीं खा सकती। पत्नी कहती है, अगर खा लिए तो..इसमें दोनों में शर्त लग जाती है और पत्नी कहती है कार रोको मैं खाकर दिखाउंगी। बस क्या था गोलगप्पों का ऑर्डर दे दिया गया, पत्नी ने 30 गोलगप्पे खा लिए और पति भी दस खा गया। दोनों का पेट भर चुका था। इसके बाद दोनों कार में वापस आते हैं और पति कहता है चलो फाइव स्टार होटल..पत्नी कहती है पेट भर गया। दोनों वापस घर चल देते हैं।


मॉरल ऑफ द स्टोरी। पत्नी कुछ भी करने को कहे तो ठंडे दिमाग से काम लीजिए। 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories