20180705

2018-07-05 09:31:57
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अनिलः दोस्तो, सबसे पहले बात करते हैं तकनीक संबंधी समाचार की।

गूगल ने एक लंबे इंतजार के बाद आखिरकार एंड्रॉयड मैसेंज ऐप का डेस्कटॉप वर्जन लॉन्च कर दिया है। अब आप अपने कंप्यूटर और लैपटॉप से भी लोगों को मैसेज कर सकेंगे और उनके द्वारा भेजे गए मैसेज को प्राप्त कर सकेंगे। एंड्रॉयड मैसेंजर के डेस्कटॉप वर्जन की जानकारी गूगल ने अपने ब्लॉग के जरिए दी है।

गूगल ने अपने ब्लॉग में कहा है कि यह वर्जन जल्द ही सभी के लिए जारी कर दिया जाएगा, फिलहाल यह फीचर कुछ ही यूजर्स को मिल रहा है। डेस्कटॉप वर्जन पर भी आपको स्टीकर्स, फोटो, ईमोजी आदि का सपोर्ट ठीक उसी प्रकार मिलेगा जैसा कि मोबाइल ऐप में मिलता है।

अगर आप भी डेस्कटॉप पर मैसेंजर इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने एंड्रॉयड मैसेज के ऐप को अपडेट करें और इसके बाद https://messages.android.com/ पर जाएं। अब आपको क्यूआर कोड स्कैन करने का विक्लप मिलेगा। कोड स्कैन करने के लिए एंड्रॉयड मैसेज ऐप के मीनू बार में जाएं और फिर मोर विकल्प पर क्लिक करके मैसेज फॉर वेब पर क्लिक करके कोड को स्कैन करें।

 

नीलमः वहीं अमेरिका के वैज्ञानिकों ने दुनिया के सबसे शक्तिशाली और स्मार्ट वैज्ञानिक सुपर कंप्यूटर बनाने का दावा है। दुनिया का सबसे ताकतवर यह सुपर कंप्यूटर प्रति सेकंड 200,000 ट्रिलियन गणनाओं को पूरा कर सकता है। इसका इस्तेमाल ऊर्जा, उन्नत सामग्री और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फिल्ड में अनुसंधान के लिए होगा। बता दें कि इससे पहले 2013 में अमेरिका के पास दुनिया का सबसे शक्तिशाली कंप्यूर था लेकिन अगले साल चीन ने अमेरिका से यह ताज छीन लिया था। वहीं अमेरिका एक बार फिर इस मामले में पहले पायदान पर आ गया है।

इस सुपर कंप्यूटर को अमेरिका के ऊर्जा विभाग ओक रिज नेशनल लेबोरेटरी (ओआरएनएल) द्वारा तैयार किया गया यह समिट नाम का यह सुपर कंप्यूटर अपने पिछले सुपर कंप्यूटर टाइटन से आठ गुना अधिक शक्तिशाली होगा। इतना ही नहीं इसने दुनिया के सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर तियान्हे-2 को भी पीछे छोड़ दिया है। तियान्हे-2 चीन का सुपरकंप्यूटर है और एक सेकंड में 33 हजार 860 ट्रिलियन कैलकुलेशन करता है।

 

 

अनिलः समिट आईबीएम एसी922 सिस्टम है, जिसमें 4608 कंप्यूट सर्वर लगे हुए हैं। प्रत्येक सर्वर में दो 22-कोर पावर9 प्रोसेसर और छह एनवीआईडीआईए टेस्ला वी100 ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट ऐक्सेलरेट लगे हैं, जो डुअल-रेल मेलानॉक्स ईडीआर 100 जीबी/एस इनफिनिबैंड से इंटरकनेक्टेड हैं। समिट में डाटा मूवमेंट के लिए हाई-बैंडविथ पथवे के अलावा 10 से अधिक पेटाबाइट्स मेमोरी जोड़ी गई हैं। इससे डाटा मूवमेंट बहुत तेजी से होता है। इन्हीं खूबियों से यह दुनिया का सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर बनकर उभरा है।

 

उधर फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म को इस्तेमाल करने के लिए नियम कड़े कर दिए हैं। फेसबुक अब 18 साल से कम उम्र के यूजर्स को हथियारों के विज्ञापन नहीं दिखाएगा। फेसबुक की नई विज्ञापन नीति की शुरुआत 21 जून 2018 से होगी। इसमें वे सभी विज्ञापन शामिल होंगे जिनमें हथियार एसेसरीज होंगे यानी हथियार के रख-रखाव के तरीके, बंदूक चलाने के तरीके, बंदूक बनाने के तरीके, गोली-बारुद आदि के विज्ञापनों पर अब बैन लग गया है।

फेसबुक ने यह कदम अमेरिका में पिछले कुछ दिनों में हुई गोलीबारी की घटनाओं के बाद उठाया है। बता दें कि इससे पहले यूट्यूब ने भी अपने एक बयान में कहा था कि वह जल्द ही हथियारों और एसेसरीज बेचने वाली वेबसाइटों का लिंक देने वाले वीडियो और कंटेंट पर बैन लगाएगा।

 

नीलमः गौतरलब है कि फेसबुक ने हाल ही में कबूल किया था कि वह अपने यूजर्स के माउस मूवमेंट पर भी नजर रखता है और की-बोर्ड पर टाइप होने वाले एक-एक की पर उसकी नजर होती है। फेसबुक ने 2 हजार सवालों के जबाव दिए हैं जिनमें से यह बात सामने निकलकर आई है। दरअसल फेसबुक आपके माउस और की-बोर्ड पर नजर रखकर यह पता लगाता है कि आप किसी वेबसाइट पर कितना वक्त बिता रहे हैं और इसी के आधार फेसबुक आपको विज्ञापन दिखाता है।

 

फेसबुक ने सवालों के में कहा है कि उसे यह भी पता है कि आप कौन-सा वाई-फाई नेटवर्क इस्तेमाल कर रहे हैं और आपके फोन में किसका नंबर किस फोटो के साथ सेव है। इसके अलावा फेसबुक यह भी जानता है कि आपके फोन में कितनी बैटरी बची है, कितनी रैम, कितनी स्टोरेज है, आप कौन-कौन सा ऐप इस्तेमाल करते हैं। हालांकि इन सभी जानकारी के लिए जरूरी है कि आपके फोन में फेसबुक ऐप मौजूद है।

 

अनिलः सोशल मीडिया पर एक अजीबोगरीब घटना से सबंधित वीडियो वायरल हो रहा है। बता दें इस वीडियो में स्टिल फोटोज का इस्तेमाल किया गया है जिनमें दिखाया गया है कि चूहों की फौज ने मिलकर एक ATM में घुसकर ऐसी तबाही मचाई है जिसे देखकर किसी का भी दिल दहल जाएगा।

जी हां, ये घटना असम के तिनसुकिया की बताई जा रही है। जहां बीते दिनों एटीएम बिना नोटो के ठंडे पड़ चुके थे, वहीं असम के इस इलाके में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के एटीएम में चूहों ने 12 लाख रुपए के नोट कुतर डाले।

बताया जा रहा है कि यह सभी नोट 2000 और 500 के नए नोट थे। लैपुली इलाके का यह एटीएम तकनीकी खराबी के कारण 20 मई से बंद पड़ा था। मीडिया रिपोर्टों की मानें तो नोट के कुतरे जाने की बात तब पता चली जब 11 जून को रिपेयरमैन मशीन को ठीक करने पहुंचा।

 

नीलमः बैंक अधिकारियों की मानें तो 12,38,000 के नोट नष्ट हो गए हैं। बताया जा रहा है कि इनमें से केवल 17 लाख कीमत के नोट सही बच पाए हैं। गुवाहाटी की फाइनेंशियल कंपनी एफआईएस ग्लोबल बिजनेस सोल्यूशन जो एटीम को चलाती है उसने एटीम में 19 मई को 29 लाख रुपए जमा किए थे।

यह बात भी सामने आ रही है कि एटीएम 20 मई को खराब हो गया था। शिकायत मिलने पर 11 जून को एटीएम का रखरखाव करने वाली कंपनी एफआईएस ग्लोबल बिजनेस सोल्यूशन के कर्मचारी मशीन ठीक करने पहुंचे थे और वहां का नजारा देखकर सन्न रह गए। यह भी कहा जा रहा है कि इस पूरी घटना के फोटो किसी ने सोशल मीडिया पर डाले थे जो वायरल हो गए हैं।

 

अनिलः बॉलीवुड संबंधी खबर

बॉलीवुड की राजी गर्ल यानि आलिया भट्ट पिछले कुछ दिनों से बड़ी बजट की फिल्म 'कलंक' और 'ब्रह्मास्त्र' की शूटिंग में बिजी थीं और अब उनके साथ एक बड़ा हादसा हो गया है। दरअसल, 'कलंक' के सेट पर आलिया के साथ एक अनहोनी हो गई है जो उनके तथाकथित ब्वॉयफ्रेंड रणबीर कपूर को भी परेशान कर सकती है।

खबर है कि अभिषेक वर्मन की पीरियड ड्रामा ‘कलंक’ की शूटिंग के दौरान आलिया जख्मी हो गई हैं। आलिया अंधेरी में लगे फिल्म के सेट पर वरुण धवन, आदित्य रॉय कपूर और सोनाक्षी सिन्हा के साथ वीकेंड पर शूटिंग कर रही थीं। इसी दौरान वह सीढ़ियों से गिर गईं और उनके पैर में मोच आ गई है। हालांकि आलिया ने शूटिंग नहीं रोकी। दर्द में भी वह काम करती रहीं।

आपको बता दें कि इससे पहले आलिया फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' के सेट पर भी घायल हो गई थीं। 3 महीने में यह दूसरी बार है जब आलिया चोटिल हुई हैं। वहीं इससे पहले  फिल्म 'कलंक' के सेट पर वरुण धवन को भी चोट लग गई थी। वरुण एक एक्शन सीन कर रहे थे। उन्हें अपने को-एक्टर पर दरवाजा उठाकर फेंकना था। तभी वरुण के हाथ में चोट लग गई। उन्हें सेट पर ही मेडिकल ट्रीटमेंट दिया गया था।

चोट लगने के बावजूद वरुण शूटिंग करते रहे। फिल्म के डायरेक्टर अभिषेक वर्मन इस शेड्यूल को मानसून आने से पहले पूरा करना चाहते हैं लेकिन 15 दिन के अंदर ही फिल्म के दोनों लीड एक्टर-एक्ट्रेस को चोट लगने से ऐसा लग रहा है कि सेट पर ही 'कलंक' लग गया है। अब दोनों फिल्मों की शूटिंग पर ब्रेक लग गया है।

 

नीलमः मशहूर शेफ की बात करें तो लोगों के जहन में एक ही ख्याल आता है, वह व्यक्ति जो किसी बड़े होटल में काम करता हो और खाना बनाने से संबंधित टेलीविजन शो करता हो। लेकिन कई शेफ ऐसे भी होते हैं जो खाने के प्रति अपने प्रेम से लोगों के दिलों में बस जाते हैं। ऐसे ही एक शेफ थे एंथनी बोर्डेन।

 

पेशे से मशहूर शेफ, फूड क्रिटिक और लेखक रहे एंथनी का पिछले दिनों 61 साल की उम्र में निधन हो गया। उनका शव उनके होटल के कमरे में मिला। एंथनी की मौत की असली वजह अभी सामने नहीं आई है लेकिन पुलिस को यह मामला आत्महत्या का लग रहा है। अपने काम से वह केवल अमेरिका में ही नहीं बल्कि भारत में भी मशहूर थे।

दुनिया में जैसे ही एंथनी की मौत की खबर फैली तो हर कोई सदमे में आ गया। एंथनी अपनी बेस्ट सेलिंग किताब 'किचेन कॉन्फिडेंशियल: एडवेंचर्स इन दि कुलिनरी अंडरबेली' से लोकप्रिय हुए थे। उनकी ये किताब भारत में भी बहुत पसंद की गई।उनकी मौत के कुछ घंटे बाद ही उनकी ये किताब अमेजॉन पर टॉप 20 में शुमार हो गई।

 

आज के प्रोग्राम में पहला पत्र हमें भेजा है, मुक्तसर पंजाब से गुरमीत सिंह ने। लिखते हैं, हर बार की तरह 28 जून का टी-टाइम प्रोग्राम भी बढ़िया लगा।

 

 लिखते हैं कि पिछला टी-टाईम प्रोग्राम अच्छा लगा। इसमें दी गई जानकारियों में कर्नाटक के मनीष जी जो कि आटो चालक हैं और वह गर्भवती महिलायों और सैनिकों और बीमार लोगों को मुफ्त में अस्पताल ले जाते हैं, यह सुनकर मन को बहुत खुशी हुई। और यह सुनकर हैरानी भी हुई कि वह आटो भी किराये पर चलाते हैं। सर ऐसे लोगों पर ही तो दुनियां कायम है। वरना अकसर बीमार लोगों को आटो वाले मुफ्त में लेजाना तो दूर बल्कि उनकी मजबूरी का फायदा उठाते हैं और ज्यादा पैसे मांगते हैं। लेकिन मनीष जी जैसे लोगों को हमारा सलाम है। और यह दुआ करते हैं कि ख़ुदा उनको और भी हिम्मत दे और उनके जीवन में खुशियां आएं।

वहीं पश्चिम बंगाल के एक गांव में 18 फीट लंबे और 40 किलो वजनी अजगर को एक गांव लोग़ों के दा्रा पकड़े जाना वाकई में बहादुरी का काम लग़ा। और हम फोरैसट रेंजर की बहादुरी की दाद देते हैं कयोंकि अजग़र को पकङना कोई मामूली काम नहीं होता।

जबकि स्वास्थ्य संबंधी जानकारी में बताया गया कि वीडियो गेम्स बच्चों की सेहत के लिए कितना हानिकारक होता है।

कार्यक्रम में पेश अन्य जानकारी और जोक्स भी अच्छे लगे। गुरमीत जी हमें पत्र भेजने के लिए शुक्रिया।

 

  लीजिए अब पेश है अगला पत्र, जिसे भेजा है बेहाला कोलकाता से प्रियंजीत कुमार घोषाल ने। लिखते हैं कि टी-टाइम प्रोग्राम में कर्नाटक के मुनेष नामक एक ऑटो ड्राइवर गर्भवती महिलाओं, पीड़ित लोगों आदि को मुफ्त में अपने ऑटो में बिठाते हैं। यह खबर हमें भी प्रेरित करती है। वहीं पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के पास अजगर को पकड़े जाने का समाचार भी सुना। जबकि एमेजॉन कंपनी के सीईओ दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बने, यह खबर भी जानी। साथ ही पेरिस में आइफल टावर की सुरक्षा के लिए कदम उठाए जाने के बारे में जानकारी मिली। 

 प्रियंजीत जी, हमें पत्र भेजने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

 

लीजिए पेश है, अगला पत्र। जिसे भेजा है, मुर्शिदाबाद पश्चिम बंगाल से शिवेंदु पॉल ने। लिखते हैं 28 जून का टी-टाइम कार्यक्रम बहुत अच्छा था। इसमें बहुत सारी रोचक और उपयोगी जानकारी हासिल हुई। साथ ही कर्नाटक के ऑटो ड्राइवर के बारे में बताया गया जो गर्भवती महिलाओं, बीमार लोगों को मुफ्त में लाते-ले जाते हैं। वाकई में वे बहुत नेक काम कर रहे हैं, क्योंकि आजकल हर छोटा-बड़ा काम पैसों के बिना नहीं होता। वहीं अजगर के साथ सेल्फी खींचने की घटना पर हैरानी हुई। शिवेंदु जी हमें पत्र भेजने के लिए शुक्रिया।

प्रोग्राम के बारे में टिप्पणी करने वाले आखिरी श्रोता हैं, केसिंगा उड़ीसा से मॉनिटर सुरेश अग्रवाल।

कार्यक्रम "टी टाइम" के अन्तर्गत कर्नाटक के 42 वर्षीय ऑटोरिक्शा चालक मुनेश के बारे में यह जान कर सम्मान में सर झुक गया कि वह गर्भवती महिलाओं तथा अन्य असहाय लोगों को मुफ़्त सेवा प्रदान करते हैं, जब कि ऑटोरिक्शा भी उनका अपना नहीं, किराये का है। उनके ज़ज़्बे को सलाम।

जानकारियों के क्रम में पश्चिम बंगाल में कोलकाता से की छह सौ किलोमीटर दूर जलपाईगुड़ी के समीप एक गांव में फॉरेस्ट रेंजर और अज़गर के संघर्ष का किस्सा रोंगटे खड़े कर देने वाला था।

वहीं दौलत के मामले में माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स को पछाड़ कर नम्बर एक की स्थिति पर आने वाले शख़्स का नाम ख़राब रिसैप्शन के कारण समझ में नहीं आया, जिसका मुझे खेद है।

वीडियो गेम्स बच्चों की सेहत के लिये कितने ख़तरनाक होते हैं, इस पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के हवाले से दी गयी जानकारी भी दुरुस्त लगी।

और हाँ, दुनिया के सात अज़ूबों में से एक पेरिस के एफ़िल टॉवर को आतंकी हमलों से अभेद्य बनाने उठाये जा रहे कदमों की जानकारी भी उत्साहवर्ध्दक लगी।

कार्यक्रम में पेश श्रोताओं की प्रतिक्रिया एवं तीनों ज़ोक्स कुछ पुराने, पर रोचक लगे। धन्यवाद फिर एक अच्छी प्रस्तुति के लिये।

धन्यवाद सुरेश जी।

 

प्रोग्राम के बारे में टिप्पणी करने और हमें पत्र भेजने के लिए आप सभी श्रोताओं का बहुत-बहुत धन्यवाद।

 

अब समय हो गया है जोक्स का ..

पहला जोक

पड़ोसी:  यार, तेरे घर से रोज हंसी की आवाज आती है...

इस खुशहाल जिंदगी का क्या राज है?

 

आदमी: मेरी बीवी मुझे जुतों से मारती है,

लग जाए तो वो हसती है, ना लगे तो मैं हसता हूं...

 

भगवान की कृपा है

हंसी खुशी जिंदगी गुजर रही है। 

 

दूसरा जोक

 

मास्टर जी- पप्पू मैंने तुम्हे थप्पड़ मारा इसका भविष्यकाल बताओ।

पप्पू- छुट्टी के बाद आपकी मोटर साइकल पंचर मिलेगी।

 

तीसरा जोक

दो पागल छत पर सो रहे थे तभी अचानक बारिश होने लगी...

पहला पागल बोला: चल अंदर चलते हैं। आसमान में छेद हो गया है।

 

इतने में बिजली कड़की...

 

दूसरा पागल बोला: चल सो जा। लगता है वेल्डिंग वाले भी आ गए हैं।

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories