20180405

2018-04-04 19:52:59
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अनिलः दोस्तो, कहा जाता है जहां प्यार हो तो कोई सरहद उसे रोक नहीं सकती. ऐसा ही हुआ कराची की लड़की के साथ. उसे मुंबई के लड़के से प्यार हुआ. सोशल मीडिया पर साराह हुसैन की खूबसूरत लव स्टोरी काफी वायरल हो रही है. Humans of Bombay ने अपने फेसबुक पेज पर उनकी खूबसूरत लव स्टोरी शेयर की. उन्होंने बताया कि कैसे एक कराची की लड़की को मुंबई के लड़के से प्यार होता है और कैसे फिर वो भारत आकर रहती हैं. प्यार, रोमांस और विवाह के आइडिया ने फेसबुक पर लोगों का दिल जीत लिया है.  पोस्ट में सराह ने बताया कि कैसे उनको अपने दोस्त मुस्तफा दाऊद से शादी की और मुंबई में आकर वो रहने लगीं. 

बता दें, शादी के बाद साराह और मुस्तफा की जिंदगी काफी उतार-चढ़ाव भरी रही. भारत आते ही उनकी घंटो तक कस्टम्स और सेक्यूरिटी चेक में चेकिंग की गई. उनको ऐसा लगा जैसे उनका हनीमून सरकारी दफतरों में ही होगा. शादी के दो महीने बाद ही वो पति के साथ मुंबई शिफ्ट हो गईं और उनके पति की जॉब चली गई. इस हादसे के बाद किसी ने उनका साथ नहीं दिया. 


जिसके बाद साराह और मुस्तफा की जिंदगी पूरी तरह से बदल चुकी थी. दोनों ने छोटी जॉब्स ढूंढने की कोशिश की, लेकिन कुछ नहीं हुआ. जिसके बाद तीन महीने तक साराह डिप्रेशन में रहीं. उन्होंने अपने घर में कुछ नहीं बताया. वो रात भर रोती थीं और पति मुस्तफा उस वक्त परेशान रहते थे. उन्होंने बताया- हमारे पास खाने तक के पैसे नहीं थे. हम रात को पैदल निकलते थे और एक ही आइसक्रीम शेयर करते थे. उस वक्त मैंने दुख की घड़ी में पुराने यादें याद कीं जब हमने साथ में अच्छा समय बिताय था. उसके बाद मैंने सोच लिया कि अब जो है वो मुस्तफा ही हैं. हर मौकों पर मैं मुस्तफा का साथ दूंगी. जिसके बाद उनके पास आईडिया आया कि क्यों न पाकिस्तान में जो वो मेक-अप आर्टिस्ट का काम किया करती थीं क्यों न यहां शुरू किया जाए. 

उसके बाद उनके पति मुस्तफा ने उनका साथ दिया और मार्केटिंग करना शुरू किया. जिसके बाद उन्हें अच्छे खासे क्लाइंट्स मिलना शुरू हो गए. जिसके बाद मुस्तफा ने हर मौकों पर साथ दिया और दोनों की जिंदगी फिर ट्रैक पर आ गई. अब साराह मेक-अप आर्टिस्ट का काम करती हैं और मुस्तफा उनकी बिजनेस में मदद करते हैं. एक अप्रैल को उनकी ये स्टोरी शेयर हुई थी. जिस पर 7 हजार से ज्यादा रिएक्शन्स मिले और 300 से ज्यादा लोगों ने उनकी स्टोरी को शेयर किया. 


नीलमः अब समय हो गया है अगली जानकारी का। 

हमेशा माना जाता है कि पुलिस हमेशा सख्त दिखती है. लेकिन सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसको देखकर लगता है कि पुलिस बाहर से जितनी सख्त नजर आती है अंदर से उतनी ही नरम है. तस्वीर में देखा जा सकता है कि एक बेघर महिला को ट्रैफिक पुलिसवाला अपने हाथ से खाना खिला रहा है. ट्विटर पर ये तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है. ट्विटर पर ये पोस्ट 1 अप्रैल को हुआ. जिस पर करीब 8 हजार से ज्यादा लाइक्स मिले और 3 हजार से ज्यादा कमेंट हुए. 

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी हर्षा भारगवी ने ट्वीट कर लिखा- ''कुकापल्ली ट्रैफिक होम गार्ड बी. गोपाल ने बेघर महिला को अपने हाथों से खाना खिलाया. जिसे देखकर दिल भर आया.'' खबर के मुताबिक, पुलिस होम गार्ड तीन दिन से महिला को टी-स्टॉल के पास बैठा देख रहा था. जिसके बाद उसे पता चला कि उनके बच्चों ने उन्हें निकाल दिया है. जिसके बाद पुलिस अफसर ने महिला की मदद की.

बी. गोपाल ने कहा- ''मैंने उन्हें चाय दी फिर खाना लेकर आया. लेकिन वो अपने हाथों से नहीं खा पा रही थीं तो मैंने अपने हाथों से उन्हें खिलाया.'' महिला को बाद में वृद्धाश्रम शिफ्ट कर दिया गया है. खबर के मुताबिक, तेलांगना के गृहमंत्री नयानी नरसिम्हा रेड्डी और पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जानर ने होम गार्ड को बुलाया और उनकी प्रशंसा की.


अनिलः अब फिल्मी खबर

इन दिनों रानी मुखर्जी की फिल्म 'हिचकी' काफी चर्चा में हैं। यह फिल्म 23 मार्च को रिलीज हुई थी। फिल्म में टीचर की भूमिका निभा रहीं रानी मुखर्जी ने अपनी एक्टिंग से दर्शकों का दिल जीत लिया है। रिकॉर्ड तोड़ कमाई कर रही रानी ने खुद की ही फिल्म को पीछे छोड़ दिया है।

दरअसल 'हिचकी' ने साल 2014 में आई रानी मुखर्जी की फिल्म 'मर्दानी' का ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है। जी हां फिल्म ने महज दो हफ्तें में ही रिकॉर्ड तोड़ कमाई कर ली है। इसके साथ ही फिल्म 'हिचकी' कमाई के मामले में साल 2018 की अब तक की छठी ऐसी फिल्म बन गई है जिसने सबसे ज्यादा कमाई की है। 

बात करें फिल्म के कलेक्शन की तो 30 मार्च को टाइगर श्रॉफ की फिल्म 'बागी 2' रिलीज हुई इसके बावजूद 'हिचकी' ने अपनी रफ्तार बरकरार रखी है। ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श के मुताबिक, 'फिल्म ने रिलीज के दूसरे शुक्रवार को 2.40 करोड़, शनिवार को 2.60 करोड़, रविवार को 3.40 करोड़ और सोमवार को 1.10 करोड़ रुपए कमाए हैं। इस तरह फिल्म ने 35.60 करोड़ का कलेक्शन कर लिया है।'

हिचकी' फिल्म महज 986 स्क्रीन्स पर रिलीज हुई है फिर भी 5 दिन के अंदर लागत निकालने में कामयाब रही। यशराज बैनर की यह फिल्म 20 करोड़ के बजट में बनी है। फिल्म में रानी मुखर्जी के अलावा और कोई भी बड़ा स्टार नहीं है लेकिन उनकी एक्टिंग और जबरदस्त स्क्रिप्ट के चलते हर कोई वाहवाही कर रहा है।


नीलमः 

घरों में इस्तेमाल होने वाली प्लास्टिक का सामान बनाने वाली उत्पादक कंपनी टपरवेयर अब नासा के अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में ताजा आहार मुहैया कराने में मदद करेगी. साल 2015 से नासा के अंतरिक्षयात्री वेजिटेबल प्रोडक्शन सिस्टम(वेजी) के जरिए अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन में उगाए आहार साथ में लेते हैं. अंतरिक्ष में पौधों को उगाने के लिए सबसे बड़ी चुनौती उन्हें पर्याप्त मात्रा में पानी देना है. नासा ने एक बयान में कहा है कि टपरवेयर ब्रांड्स कॉरपोरेशन ने अंतरिक्ष में पौधों को पानी देने का एक नया तरीका निकाला है.

 


वेजी सिस्टम में अंतरिक्षयात्रियों को प्रत्येक प्लांट पिलो में सीरिंज से पानी भरना पड़ता है. प्लांट पिलो एक प्रकार की थैली होती है जिसके भीतर कई पौधे होते हैं. वेजी प्रणाली का प्रयोग करके पहले जो पौधे अंतरिक्ष में उगाए गए, उनमें से सबका विकास समान रूप से नहीं हो पा रहा था क्योंकि सभी पौधों को बराबर मात्रा में पानी और ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही थी. फ्लोरिडा के नासा कैनेडी स्पेस सेंटर के वेजी प्रोजेक्ट मैनेजर निकोल डूफोर ने बताया, 'पौधे विकसित करने की इस नई पद्धति ‘द पैसिव ऑर्बिटल न्यूट्रियेंट डिलीवरी सिस्टम(पीओएनडीएस)’ का मुख्य काम पौधे की सामान वृद्धि सुनिश्चित करना है.' 




अनिलः  वहीं टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने सोमवार को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद से देश का तीसरा सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान पद्म भूषण लिया. धोनी समारोह में सैन्‍य वर्दी पहनकर पहुंचे और यह प्रतिष्ठित सम्‍मान हासिल किया. गौरतलब है कि धोनी को सेना ने लेफ्टिनेंट कर्नल का मानद सम्‍मान दिया हुआ है. धोनी के अलावा बिलियर्ड्स के वर्ल्‍ड चैंपियन पंकज आडवाणी ने भी पद्म भूषण हासिल किया. बेंगलुरू के आडवाणी अब तक 18 वर्ल्‍ड खिताब जीत चुके हैं. पिछले साल नवंबर में उन्‍होंने आईबीएसएफ वर्ल्‍ड स्‍नूकर चैंपियनशिप में खिताबी जीत हासिल की है....

धोनी को यह बड़ा सम्‍मान मिलने पर देश के कई पूर्व क्रिकेटरों और क्रिकेटप्रेमियों ने खुशी जताते हुए उन्‍होंने बधाई दी है.

यह संयोग की बात है कि धोनी को पद्म भूषण उसी दिन मिला जिस दिन उन्‍होंने टीम इंडिया को वर्ल्‍डकप 2011 में खिताबी जीत दिलाई थी. टीम इंडिया 2 अप्रैल 2011 को फाइनल में श्रीलंका को हराकर वर्ल्‍डकप चैंपियन बनी थी और विजयी छक्‍का माही के बल्‍ले से ही निकला था. जैसे ही धोनी का नाम राष्‍ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में अवार्ड लेने के लिए घोषित किया गया वे मार्चपास्‍ट करते हुए पहुंचे और राष्‍ट्रपति से यह सम्‍मान हासिल किया.

गौरतलब है कि धोनी अपनी कप्‍तानी में भारत को आईसीसी की तीन बड़ी प्रतियोगिताओं में चैंपियन बना चुके हैं. धोनी की कप्‍तानी में भारतीय टीम टी20 वर्ल्‍डकप, क्रिकेट वर्ल्‍डकप और आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीत चुकी है. सात अप्रैल से प्रारंभ होने वाले आईपीएल-2018 में धोनी चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स की कप्‍तानी करते हुए नजर आएंगे. धोनी अपनी कप्‍तानी में चेन्‍नई की टीम को दो बार आईपीएल चैंपियन बना चुके हैं.

वहीं उत्तराखंड के रहने वाले सिद्धांत ने बचपन से दुखों के पहाड़ देखे इनसे उनको कई बार निराशा तो हुई मगर हिम्मत नहीं हारी। जब दुलार के लिए मां बाप की जरूरत थी उनका साथ नहीं मिला। किस्मत ने उसे पांच साल की उम्र में अनाथ बना दिया। अब अपने पैरों पर खड़ा होने की बारी आई तो दुर्घटना ने फिर से मुसीबत में डाल दिया। 14 फरवरी को हुए हादसे में उनके सिर पर गंभीर चोटें आई और रीढ़ की हड्डी भी टूट गयी। हादसे के बाद से वह बिस्तर पर हैं। अस्पताल का खर्च उठाने में अस्मर्थ रिश्तेदार अपने घर पर ही इलाज करा रहे हैं। हादसे के दिन वह नौकरी के लिए सर्टिफिकेट लेने भीमताल जा रहे थे।

मूलरूप से चम्पावत जिले के पाटी ब्लाक के ग्राम मंगललेख निवासी सिद्धांत जब पांच साल के थे उनके माता पिता का निधन हो गया था। कुछ साल अनाथ आश्रम में रहने के बाद उनका पालन पोषण गौलापार बागजाला निवासी उनके मामा रिटायर्ड शिक्षक प्रेम सिंह नयाल ने किया। मामा ने सिद्धांत को देहरादून से होटल मैनेजमेंट कराया। पढ़ाई पूरी होने के बाद एक निजी संस्थान में उनका चयन भी हो गया था। 14 फरवरी को सिद्धांत सर्टिफिकेट लेने के लिए बाइक से भीमताल हरमन माइनर स्कूल जा रहे थे। काठगोदाम में उनकी बाइक एक अन्य बाइक से टकरा गई। हादसे में उनके सिर पर गंभीर चोटें आईं और रीढ़ की हड्डी टूट गई। 

दोस्तो, जानकारी देने का सिलसिला यही संपन्न होता है, अब समय हो गया श्रोताओं की टिप्पणी का।

अब समय हो गया है श्रोताओं की टिप्पणी का। 

नीलमः पहला पत्रा हमें आया है,पंजाब से गुरमीत सिंह का । लिखते हैं मैं ई-मेल और पत्रों के माध्यम से आपसे जुड़ना चाहता हूं। देखिए हमने आपके पत्र हर प्रोग्राम में शामिल कर लिया है। उम्मीद करते हैं कि आप सभी प्रोग्राम  सुना करेंगे। धन्यवाद।

वहीं अगला पत्र आया है, मुर्शिदाबाद पश्चिम बंगाल से शिवेंदु पाल का। लिखते हैं सभी को सीआरआई लिस्नर्स क्लब ऑफ इन्डिया -मिताली लिस्नर्स क्लब की ओर से प्यार भरा नमस्कार। मैं आपकी हिंदी सेवा का नियमित श्रोता हूं। 

गत् 29 मार्च का टी-टाइम प्रोग्राम बहुत अच्छा था। इसमें कई तरह की रोचक जानकारियां हासिल हुई। जिसमें फिल्मी समाचार और फेसबुक संबंधी सूचना बहुत अच्छी थी। वहीं ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट की बॉल टैंपरिंग स्कैंडल से हुई किरकिरी के बारे में पता चला। वहीं गायों द्वारा संगीत सुनने और अधिक दूध देने का समाचार वाकई में बहुत शानदार था। धन्यवाद।

शिवेंदु जी हमें पत्र भेजने के लिए शुक्रिया। 


अनिलः अगला पत्र हमें भेजा है सऊदी अरब, जुबैल से सादिक आजमी ने। उन्होंने दुःखद समाचार हम तक पहुंचाया है कि उनका माता जी का निधन हो गया है। हम समूचे सीआरआई परिवार की ओर से उनकी माता जी के प्रति श्रद्धांजली अर्पित करते हैं। इस दुःख के वक्त हम सभी आपके साथ हैं। 


अब समय हो गया है नेक्स्ट लेटर का। जिसे भेजा है, बेहाला कोलकाता से प्रियंजीत कुमार घोषाल ने। लिखते हैं कि पिछले टी-टाइम में केरल के अनूप चंद्रन और गुजरात की एन ठक्कर द्वारा एक दूसरे को जीवन साथी चुने जाने का समाचार बहुत अच्छा लगा। वहीं फेसबुक से जानकारी का दुरुपयोग होने की बात चौकाने वाली लगी। जबकि खेल की खबरों में स्मिथ और वॉर्नर पर प्रतिबंध लगाए जाने का समाचार सुना। 

शानदार कार्यक्रम पेश करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

प्रियंजीत जी आपका भी शुक्रिया।  

 

 

नीलमः लीजिए अंत में पेश है, केसिंगा उड़ीसा से सुरेश अग्रवाल द्वारा भेजा गया पत्र। कार्यक्रम "टी टाइम" का आगाज़ ह्यूमन्स ऑफ़ बॉम्बे द्वारा फ़ेसबुक पर शेयर की गई नेहाल ठक्कर और अनूप चंद्रन की लव स्टोरी के वायरल होने के समाचार से किया जाना दिलचस्प लगा। यह जान कर हैरत हुई कि इनकी शादी दिसंबर में हुई थी और अब यह दोनों कैसे अकेले जीवन जी रहे हैं। 

इससे भी अधिक हैरत तो इस बात को लेकर हुई कि दोनों की पहली मुलाकात 9 साल पहले मुंबई के एक कन्वेंशन में हुई। दोनों का ही नई मुंबई की एक स्ट्रीट में एक्सीडेंट हुआ और ताज्जुब की बात तो ये है कि दोनों का एक ही जैसी कार से एक्सीडेंट हुआ। इतना ही नहीं दोनों की स्पाइनल कॉर्ड में चोट आईं और दोनों को व्हीलचेयर पर रहने की सलाह दी गई। 

वहीं दुबई में रहने वाले 25 वर्षीय इलेक्ट्रिशियन दानिश कोठारंबन का लॉटरी खुलने पर रातों-रात करोड़पति बनने का किस्सा तो तक़दीर का खेल कहा जायेगा। 

जानकारियों के क्रम में संगीत से गायों के दुग्ध उत्पादन क्षमता में भारी बढ़ोतरी होना यह सिध्द करता है कि संगीत का असर मानव मन-मस्तिष्क पर ही नहीं, जानवरों पर भी होता है। 

उधर सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक द्वारा उपयोगकर्ताओं की जानकारियों के दुरुपयोग का मामला सामने आने के बाद इस सप्ताह कंपनी के शेयरों 14 प्रतिशत की गिरावट आना स्वाभाविक ही था। यह जान कर अच्छा लगा कि मोजिला, कॉमर्जबैंक, टेस्ला, स्पेसएक्स समेत कई बड़ी कंपनियों ने भी फेसबुक से फिलहाल किनारा कर लिया है। मैं तो कहूँगा कि फ़ेसबुक हो या कोई और, उपयोगकर्ताओं का डैटा लीक करने वाली हर संस्था का पूरी तरह बहिष्कार होना चाहिये। 

स्पोर्ट्स की ख़बर में -गेंद से छेड़खानी मामले में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा कड़ा रवैया अपनाते हुए टेस्ट टीम कप्तान स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरन बेनक्राफ्ट को आरोपी बनाते हुए दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथे टेस्ट की टीम से बाहर कर दिये जाने की कार्रवाई सर्वथा उचित जान पड़ी। 

कार्यक्रम में पेश श्रोताओं की प्रतिक्रिया एवं ज़ोक्स भी जानदार लगे। धन्यवाद फिर एक अच्छी प्रस्तुति के लिये।

सुरेश जी आपका भी बहुत-बहुत धन्यवाद। 

 




जोक्स की बारी।

पहला जोक

टीचर : तुम परिंदो के बारे में सब जानते हो ??

संजू : हाँ

टीचर : अच्छा ये बताओ कौन सा परिंदा उड़ नहीं सकता ??

संजू : मरा हुआ परिंदा     

भाग पागल कहीं का


दूसरा जोक

बच्चा : पापा आपने मम्मी में ऐसा क्या देखा जो शादी कर ली ?

पापा : उसके गाल का चोट सा तिल

बच्चा : कमाल है !!! इतनी सी छोटी चीज के लिए इतनी बड़ी मुसीबत मोल ले ली 


तीसरा जोक

संता एक बार double decker वाली बस में चढ़ गया ….कंडक्टर ने उसे ऊपर भेज दिया , संता थोड़ी ही देर में भागता हुआ वापिस आया और बोला

” साले मरवाएगा क्या ऊपर तो ड्राइवर ही नहीं है 


शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories