20170831

2017-09-01 12:52:19
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

                                          

अनिलः दोस्तों, प्रोग्राम शुरू करते हैं। लीजिए अब बात करते हैं इंडिया की रेस्टोरेंट इंडस्ट्री के बारे में... भारत में रेस्तरां इंडस्‍ट्री का आकार 2021 तक करीब 5 लाख करोड़ रुपए होने की संभावना है. वर्ष 2016 में इसका आकार 3,09,110 करोड़ रुपए था और यह 10% की वार्षिक वृद्धि दर से आगे बढ़ रहा है. ऐसे में माना जा रहा है कि इस इंडस्‍ट्री में एंट्री करके छोटे प्‍लेयर भी बड़ी रकम कमा सकते हैं. इसके अलावा, रेस्तरां इंडस्‍ट्री में कम पढ़े-लिखे लोगों के लिए जॉब के भी काफी अवसर निकल रहे हैं.।

भारतीय रेस्तरां कांग्रेस-2017 के अनुसार भारत में रेस्तरां क्षेत्र में तेज वृद्धि बरकरार रहेगी, क्योंकि टियर-2 और 3 श्रेणी के शहरों में इस क्षेत्र का लगातार विस्तार हो रहा है। कंपनी मैसिव रेस्टोरेंट्स के संस्थापक और प्रबंध निदेशक और भारतीय रेस्तरां कांग्रेस-2017 के चेयरपर्सन ज़ोरावर कालरा ने कहा कि हम भारत में एक प्रमुख उद्योग हैं. भारतीय रेस्तरां उद्योग बॉलीवुड से 40 गुना अधिक बड़ा है. यह देश के कुल सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 2% उत्पादित करता है और कृषि के बाद देश में सबसे ज्यादा रोजगार देने वाला क्षेत्र है.


भारतीय मध्यम वर्ग का खर्च अब बढ़ रहा है और फूड सेक्‍टर को इसका प्रमुख हिस्सा मिलता है. कांग्रेस में बताया गया कि रेस्तरांओं में सबसे अधिक उत्तर भारतीय व्यंजन (28%) पसंद किए जाते हैं. इसके बाद चीनी व्यंजन (19%) और दक्षिण भारतीय व्यंजन (9%) का स्थान आता है. खाने के अलावा भारतीय फिल्टर कॉफी को भी देशभर के बाजार में पहचान मिल रही है। भारतीय कॉफी बोर्ड की योजना देशभर में इसकी ब्रांडिंग को बढ़ावा देने की है.


नीलमः बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और सचिव श्रीवत्स कृष्ण ने कहा कि हमारा लक्ष्य शुद्ध भारतीय फिल्टर कॉफी तैयार करना है. अगले साल तक हमारे पास देशभर में आधुनिक, साफ कॉफी हाउस होंगे जहां भारतीय फिल्टर कॉफी और नाश्ते के व्यंजन पेश किए जाएंगे. भारत अभी एक चाय वाले देश के रुप जाना जाता है और हमारी इच्छा है कि इसे एक कॉफी प्रिय देश के रुप में भी जाना जाए.

दोस्तो, क्या आपको पता है कि इंडिया में भी अफ्रीका। नहीं न, चलिए हम आपको बताते हैं।


गुजरात के मशहूर ‘गिर’ जंगल के बीच बसे हैं आदिवासी जनजाति "सिद्दी" इनके गांव को ‘जंबूर’ कहते हैं. जिसे 'गुजरात का अफ्रीका' भी कहा जाता है सिद्दी आदिवासी मूल रूप से अफ्रीका के ‘बनतु’ समुदाय से जुड़े हैं अफ्रीका की इस जनजाति का विकास जूनागढ़ में हुआ सिद्दी लोगों में कुछ ने इस्लाम, तो कुछ ने ईसाई धर्म को अपनाया है जबकि बहुत कम संख्या में लोग हिंदू धर्म को भी मानते हैं. इनकी शक्ल-सूरत आज भी बिल्कुल अफ्रीकियों की तरह है इन्हें गुजरात टूरिज्म के लिए बनी फिल्म “खुशबू गुजरात की” में भी दिखाया गया है.





अनिलः अब समय हो गया है तकनीक संबंधी ख़बर का।  

अक्सर क्रोम ब्राउज़र पर काम करते वक्त कई टैब खुल जाने जाने की वजह से बड़ी परेशानी होती है. समझ नहीं आता कि किस टैब में क्या है. Chrome पर आसानी से सिर्फ 'Ctrl+1' क्लिक कर के आप पहले टैब पर जा सकते है. इसी तरह से 'Ctrl+2' , 'Ctrl+3' के साथ किसी भी टैब पर आसानी से शिफ्ट हुआ जा सकता है. 

अगर आप चाहते एक क्लिक पर गूगल आपको सर्च की गई वेबसाइट की पूरी कुंडली निकल के देदे. तो आपको इसके लिए सिर्फ 'Ctrl+H' पर क्लिक करना होगा.

अगर आपको कोई वेबसाइट पसंद आ रही है, और उसे भविष्य के लिए सेव करना चाहते है. तो आपको सिर्फ (Alt+Link) Alt के साथ उस लिंक पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद उसका वेबपेज आटोमेटिक आपके सिस्टम में डाउनलोड हो जाएगा. Ctrl+S के साथ यूज़र करंट पेज को भी सेव कर सकता है.

अगर यूज़र किसी पब्लिक सिस्टम पर बैठा है और वह अपनी निजी जानकारी या लिंक आगे शेयर नहीं करना चाहता है. Ctrl+Shift+Delete के साथ आसानी से सारी ब्राउज़िंग हिस्ट्री एक क्लिक पर डिलीट कर सकता है. 



नीलमः अब समय हो गया है मनोरंजन संबंधी ख़बर का।

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सवों में धूम मचाने के बाद राजकुमार राव की 'न्यूटन' जल्द ही भारत में रिलीज होने वाली है और इसका ट्रेलर भी जल्द ही दर्शकों के सामने होगा. न्यूटन एक ब्लैक कॉमेडी है जिसे अमित वी मसरकर ने लिखा है और उन्होंने ही इस फिल्म का निर्देशन भी किया है.


ये कहानी रुड़की में काम करने वाले एक सरकारी क्लर्क के इर्द गिर्द घूमती है जिसे नक्सल प्रभावित छत्तीसगढ़ के जंगलों में चुनाव कराने की जिम्मेदारी मिल जाती है. निर्देशक का कहना है कि ये देश में मौजूद उस विरोधाभास को दिखाती है जो आपको देश के संविधान में कही गई बातों और हकीकत के बीच दिखाई देता है.


राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके अभिनेता राजकुमार राव का कहना है कि इस फिल्म की शूटिंग करना उनकी जिंदगी के सबसे शानदार अनुभवों में एक था और वो सारी जिंदगी इसे भुला नहीं पाएंगे.


इस फिल्म में राजकुमार राव के अलावा, पकंज त्रिपाठी अंजली पाटील और रघुबीर यादव जैसे कलाकार भी हैं.

फिल्म कई इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल्स में दिखाई जा चुकी है और फिल्म को शानदार प्रतिक्रिया हासिल हुई है. प्रोड्यूसर मनीष मुंदड़ा का कहना है कि हम फिल्म को भारतीय दर्शकों के सामने लाने को लेकर काफी उत्साहित हैं.


हमें उम्मीद है कि लोग ये फिल्म देखेंगे और लोकतंत्र का जश्न मनाएंगे. फिल्म में कॉमेडी का इस्तेमाल इंसान की गहरी भावनाओं को बाहर निकालने के लिए किया गया है.


 

अनिलः मनोरंजन से जुड़ी एक और ख़बर। 

सोनी एंटरटेनमेंट चैनल ने अपना सबसे विवादित शो 'पहरेदार पिया की' बंद कर दिया है। चैनल ने एक स्टेटमेंट जारी कर इस खबर को कंफर्म किया है।

सोनी ने अपने स्टेटमेंट में कहा, '28 अगस्त से शो टीवी पर नहीं दिखाया जाएगा। इस फैसले से कई लोगों को निराशा होगी। हम सभी कलाकारों, निर्माताओं और फैंस के शुक्रगुजार हैं और अनुरोध करते हैं कि सभी हमारे आने वाले शो का समर्थन करें।'

9 साल का लड़का और 18 साल की एक लड़की के बीच विवाह को दिखाता ये सीरियल शुरू से ही आलोचनाओं का शिकार रहा है। बढ़ते विवाद के बाद मेकर्स को भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शो पर सफाई देनी पड़ी थी। बतौर प्रोड्यूसर्स, 'ये सीरियल एक राजपूत लड़की के बारे में है जो एक मरते हुए पिता के वचन की रक्षा करती है। वो सिर्फ उस वचन को निभाने के लिए 9 साल के बच्चे से शादी करती है और उसके बाद भी उसकी पत्नी नहीं, बल्कि पहरेदार बनती है।' सीरियल में दिखाए गए सुहागरात सीन को लेकर मेकर्स ने कहा कि इसे उस तरह से नहीं दिखाया गया है।


'पहरेदार पिया की' सीरियल शो को लेकर लोगों में काफी गुस्सा है। मानसी जैन नाम की एक लड़की ने change.org वेबसाइट पर शो को बैन करने के लिए याचिका दायर की थी जो सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को भेजी गई थी।

इस याचिका में कहा गया है, 'पहरेदार पिया की सीरियल में एक 10 साल के लड़को को अपने से दोगुनी उम्र की लड़की का पीछा करते और उसकी मांग में सिंदूर भरते हुए दिखाया जा रहा है। ये सीरियल रात 8:30 बजे सोनी टीवी पर आता है जो कि फैमिली टाइम होता है। इस सीरियल से दर्शकों की मानसिकता प्रभावित होगी। हम सभी इस सीरियल पर बैन चाहते हैं। हम नहीं चाहते कि हमारे बच्चे ये सीरियल देखकर प्रभावित हों। सीरियल बैन करने के लिए इस याचिका पर साइन करें।'


स्मृति ईरानी ने भी ये गुहार सुनते हुए मामले को ब्रॉडकास्टिंग कंटेंट कम्प्लेंट्स (बीसीसीसी) के पास आगे बढ़ा दिया है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने बीसीसीसी से शो के खिलाफ तुरंत एक्शन लेने को कहा था जिसके बाद इसका टाइम बदल दिया गया था।



नीलमः अब लीजिए आपको बताते हैं हेल्थ टिप्स.

पनीर सिर्फ खाने की लज्जत नहीं बढ़ाता, इसके और भी कई फायदे हैं. यह कैल्शियम, फॉस्फोरस, विटामिन, मिनरल्स के साथ हाई-प्रोटीन देता है. इसे अपनी रोजाना की डाइट में शामिल करने से डायट बैलेंस्ड हो जाती है. नींद न आना जैसी परेशानियों से भी इससे काफी हद तक निजात मिल जाती

है. हम आपसे साझा कर रहे हैं, पनीर के कुछ ऐसे ही फायदे.


*पनीर हाई-प्रोटीन होता है जो शरीर में कैल्शियम, फॉस्फोरस बढ़ाकर दांतों और हड्डियों को मजबूत देता है, इससे जोड़ों के दर्द में भी आराम मिलता है.


*इसमें लैक्टोज की बहुत कम मात्रा होती है, इससे दांतों की सेहत बनी रहती है और अतिरिक्त चीनी से नुकसान नहीं होता है.



*हाई प्रोटीन होने के कारण शरीर का वजन नहीं बढ़ता है. साथ ही ये इन्सुलिन रेजिस्टेंस सिंड्रोम से भी बचाता है.


*शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूती देने में भी पनीर मददगार है क्योंकि इसमें ओमेगा थ्री फैटी एसिड्स होता है.


*रात को नींद नहीं आती या फिर बार-बार टूटती है तो सोने से पहले खाने में पनीर लें. इससे नींद अच्छी आएगी. पनीर में ट्राईप्टोफन एमिनो एसिड पाया जाता है, जो तनाव कम करने और नींद लाने में मददगार होता है.


*ऑर्थराइटिस में भी पनीर का सेवन लाभकारी है. पनीर में प्रोटीन, कैल्शियम और उच्च मात्रा में विटामिन और मिनरल्स का सेवन है और ये सभी चीजें पनीर में मौजूद होती है.


*डायबिटीज के मरीजों के लिए पनीर काफी फायदेमंद है क्योंकि इसमें मौजूद ओमैगी थ्री फैटी एसिड होमोसिस्टिन का स्तर कम करता है.


*प्रेगनेंसी की शुरुआत में होने वाली कॉमन समस्याएं भी डायट में पनीर शामिल करने से कम हो जाती हैं.

इसमें बी-ग्रुप विटामिन्स होते हैं, जो शरीर में कैल्शियम के ठीक तरह से अवशोषण में हेल्प करते हैं.


अनिलः अब समय हो गया है अगली जानकारी का। 

अब सोने की हर खरीद पर आपको पैन कार्ड दिखाना पड़ सकता है. कालेधन पर लगाम लगाने और सोने की कालाबाजारी रोकने के लिए मोदी सरकार यह बड़ा फैसला ले सकती है। सरकार द्वारा यह कदम उठाने पर सोने की हर एक खरीद का इलेक्‍ट्रॉनिक तरीके से रजिस्‍ट्रेशन भी किया जा सकता है, ताकि उस पर पूरी नजर रखी जा सके. सरकार की एक वित्तीय समिति ने ये सिफारिशें दी हैं। फिलहाल 2 लाख से ज्यादा के सोने की खरीद पर पैन जरूरी होता है।

 

सरकार द्वारा गठित फाइनेंशियल पैनल ने कहा है कि टैक्‍स चोरी और कालाबाजारी रोकने के लिए ये उपाय जरूरी हैं. सिफारिशों में सोना खरीदने के लिए हर दिन नकद सीमा को मंजूरी मिलना, हर ट्रांजैक्शन को इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्री के जरिए रजिस्टर करवाना आदि भी शामिल हैं.

 



गौरतलब है कि सोने के कारोबार का एक बड़ा हिस्‍सा चोरी-छिपे होता है, जिस पर नजर रखना कर विभाग के लिए मुश्किल है. समिति का यह भी कहना है कि सोने के मार्केट में टैक्‍स चोरी का आकलन करना वर्तमान सिस्‍टम के तहत संभव नहीं है. इसलिए इससे जुड़े हर ट्रांजैक्‍शन का रिकॉर्ड रखना जरूरी हो गया है.


 

कमिटि ने टैक्स से बचने वालों के खिलाफ कड़े नियम बनाने की भी सिफारिश की है. कमिटि के अनुसार अन्य देशों के मुकाबले भारत में लोग अधिक मात्रा में घर में सोना रखते हैं. यह खरीद अक्‍सर वे टैक्‍स नहीं देने से बचाए गए पैसे से करते हैं.


 

सोने की हर खरीद को इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड रजिस्ट्री में दर्ज किया जाएगा. इसका मतलब है कि सोने की खरीद का ऑनलाइन हिसाब-किताब रखा जाएगा, ताकि पता चल सके कि कहीं कोई व्यक्ति सोना खरीदकर काला धन तो जमा नहीं कर रहा है.


 

 




नीलमः जानकारी के बाद वक्त हो गया है श्रोताओं की टिप्पणी का।


पहला पत्र हमें भेजा है। बेहाला कोलकाता से प्रियंजीत कुमार घोषाल ने। लिखते हैं टी-टाइम प्रोग्राम के पिछले अंक में भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक रजत गुप्ता के बारे में चर्चा अच्छी लगी। तमाम बड़े पदों में रहे गुप्ता कोलकाता के रहने वाले थे, इस पर गर्व हो रहा है। वहीं इसी प्रोग्राम में नोकिया-8 की लांचिंग के बारे में बताया गया। साथ ही क्रिकेट और हेल्थ टिप्स भी दिए गए। इसके अलावा प्रोग्राम में पेश अन्य जानकारी भी बेहद अच्छी लगी।  धन्यवाद। प्रिंयजीत जी हमें पत्र भेजने के लिए आपका बहुत-बहुत शुक्रिया।


अनिलः वहीं...अमेठी उत्तर प्रदेश से अनिल द्विवेदी ने भी हमें पत्र भेजा है। 

लिखते हैं कि टी-टाइम कार्यक्रम में तमाम जानकारियों के बाद श्रोताओं की प्रतिक्रियाओं में भाई सुरेश अग्रवाल के पत्रों का उद्धरण सुनने को मिला। इसके बाद तीन गुदगुदाते चुटकुले भी सुनने को मिले। अनिल जी टी-टाइम प्रोग्राम के बारे में टिप्पणी भेजने के लिए धन्यवाद।

दोस्तो, अब पेश है, केसिंगा उड़ीसा से सुरेश अग्रवाल का पत्र। लिखते हैं कि कार्यक्रम "टी टाइम" की शुरुआत में गोल्डमैन सैक्स के पूर्व निदेशक भारतीय मूल के रजत गुप्ता धोख़ाधड़ी मामले में सज़ा काट कर बाहर आये, तो उनके सामने दरपेश मुश्किलों की चर्चा किया जाना काफी अहम लगा। जानकारियों के क्रम में आगे नोकिया द्वारा लॉन्च किया गया अपना स्मार्टफ़ोन नोकिया-8; जहाँ सुपरस्टार रजनीकान्त सबसे अधिक फ़ीस लेने वाले कलाकार हैं।


नीलमः वहीं उनकी पत्नी द्वारा चलाया जाने वाले स्कूल पर किराया न दिये जाने के कारण उस पर ताला जड़ा गया; श्रीलंका के खिलाफ़ सीरीज़ में युवराज सिंह और रैना को टीम में शामिल न किये जाने का कारण उनका योयो टेस्ट में फ़ेल होना तथा आत्मघाती गेम 'ब्लू व्हेल' को सोशल मीडिया पर प्रतिबंधित किये जाने सम्बन्धी जानकारी अत्यन्त सूचनाप्रद लगी। हेल्थटिप्स में -ऑलिव और नारियल तेल की तरह तमानु ऑयल भी त्वचा के लिये गुणकारी होने के अलावा उम्र के फ़ासले का पति-पत्नी के संबंधों पर पड़ने वाले प्रभाव पर भी महत्वपूर्ण जानकारी हासिल हुई। कार्यक्रम में पेश श्रोताओं की राय तथा ज़ोक्स भी रुचिकर लगे। धन्यवाद् फिर एक अच्छी प्रस्तुति के लिये।

सुरेश जी, हमें लगातार टिप्पणी भेजने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।


दोस्तो, इसी के साथ आज के प्रोग्राम में टिप्पणी यही तक। 

अब समय हो गया है जोक्स का। 

      

लीजिए पेश हैं जोक्स

सुबह सुबह पत्नी ने कहा: सुनो, मेरे लिए नाश्ता बना दो. पति उठा और बाहर जाने लगा.......

पत्नी: अरे, कहां चल दिये?

पति: अपने वकील के पास, मुझे तुमसे तलाक लेना है.

पति वकील के घर गया और वापस आते ही नाश्ता बनाने लगा.

पत्नी: अरे, क्या कर रहे हो?

पति: वकील बर्तन मांज रहा है.


दूसरा जोक

एक महिला पुलिस स्टेशन में...

महिला: इंस्पेक्टर साहब, कब मिलेंगे मेरे पति आज 4 दिन हो गए हैं कोई खबर नहीं है उनकी.

इंस्पेक्टर: मिलेंगे मिलेंगे, जल्द ही मिल जाएंगे. देखिए, कल ही हमें हाईवे के पास से उनके मोजे मिले हैं, वो हमने अपने खोजी कुत्ते को सुंघाए हैं. बस कुत्ते के होश में आते ही हम खोज फिर से शुरू कर देंगे.

तीसरा और अंतिम जोक...

पत्नी: आज तबीयत कुछ खराब सी लग रही है.

पति: ओह नो, मैं तो सोच रहा था कि आज बाहर चलकर डिनर करेंगे.

पत्नी: अरे मैं तो मजाक कर रही थी.

पति: अच्छा तो अब उठो और खाना बनाओ, मुझे भूख लग रही है.



शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories