20180505

2018-05-07 15:02:33
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

05 मई 2018 आपकी पसंद

 

पंकज -  नमस्कार मित्रों आपके पसंदीदा कार्यक्रम आपकी पसंद में मैं पंकज श्रीवास्तव आप सभी का स्वागत करता हूं, हर बार की तरह आज के कार्यक्रम में भी हम आपको देने जा रहे हैं आश्चर्यजनक, ज्ञानवर्धक और हैतरअंगेज़ जानकारियां, साथ में आपको सुनवाएंगे आपकी पसंद के फिल्मी गाने तो शुरु करते हैं आपकी पसंद। 

अंजली श्रोताओं को अंजली का भी प्यार भरा नमस्कार, श्रोताओं हम आपसे हर सप्ताह मिलते हैं आपसे बातें करते हैं आपको ढेर सारी जानकारियां देते हैं साथ ही हम आपको सुनवाते हैं आपके मन पसंद फिल्मी गाने तो आज का कार्यक्रम शुरु करते हैं और सुनवाते हैं आपको ये गाना जिसके लिये हमें फरमाईशी पत्र लिख भेजा है, कापशी रोड, अकोला, महाराष्ट्र से संतोषराव बाकड़े, ज्योतिताई बाकड़े, दिपाली बाकड़े, पवन कुमार बाकड़े और पूरे बाकड़े परिवार ने आप सभी ने सुनना चाहा है फिल्म परख (1960) का गाना जिसे गाया है लता मंगेशकर ने गीतकार हैं शैलेन्द्र और संगीत दिया है शलिल चौधरी ने और गीत के बोल हैं ------ 

पंकज -  सांग नंबर 1. मिला है किसी का झुमका ....

अमिताभ के साथ चाहकर भी काम नहीं कर पाए सत्यजीत रे

सत्यजीत रे...एक ऐसा फिल्ममेकर जिसकी प्रतिभा का लोहा दशकों बाद भी लोग मानते हैं। एक ऐसा फिल्मकार, जिसकी सीख आज भी कई निर्माता-निर्देशकों के काम आ रही है। अपने दशकों लंबे करियर में सत्यजीत रे ने कई कई फिल्में बनाईं और कई बड़े स्टार्स के साथ काम किया, लेकिन एक स्टार के साथ काम करने की उनकी ख्वाहिश अधूरी ही रह गई। शायद ही लोग जानते हों कि सत्यजीत रे अमिताभ बच्चन के साथ काम करना चाहते थे। खुद अमिताभ की पत्नी जया भी चाहती थीं कि अमिताभ रे के साथ काम करें। इस बारे में जया ने सत्यजीत रे की पत्नी से भी बात की थी।

 

अंजली – मेरे हाथ में इस समय हमारे एक बहुत पुराने श्रोता का पत्र है जिन्होंने हमें बहुत समय बाद पत्र लिखा है ये हैं व्यापारी क़ॉलोनी, नेपानगर से सुदर्शन शाह, रुद्रेश शाह, सुरभि शाह, अर्जुनदास जी शाह, राजेन्द्र जी शाह, रामगोपाल विश्वकर्मा, मृत्युंजय संतोष, मनोहर, रमेश, शांताराम और लीलाधर, आप सभी ने सुनना चाहा है फिल्म प्यार तो होना ही था (1998) का गाना जिसे गाया है कुमार शानू ने, संगीत दिया है जतिन ललित ने और गीत के बोल हैं -----

2. जब किसी की तरफ़ दिल ....

 

पंकज -  इसका जिक्र बिजोया रॉय की लिखी किताब 'मनिक ऐंड आय: माय लाइफ विद सत्यजीत रे' में भी किया है। इस किताब में लिखा है, ' जया ने मुझसे एक बार कहा था कि अगर मनिक किसी बंगाली फिल्म में अमिताभ को साइन करेंगे तो वह जरूर उनके साथ काम करना चाहेंगे। खुद मनिक भी अमिताभ के साथ काम करना चाहते थे, लेकिन उस वक्त रे के लिए और हिंदी फिल्म बनाना मुश्किल था।उन्होंने कहा था, 'मैंने अमिताभ को लेकर फिल्म बनाने के बारे में कई बार सोचा है, लेकिन वह बहुत ही महंगे कलाकार हैं और हमारी बंगाली फिल्म इंडस्ट्री के पास इतना पैसा नहीं है कि उन्हें लेकर फिल्म बना सकें।

 

अंजली – मित्रों हमारे अगले श्रोता हैं कवाई सालपुरा स्टेशन, राजस्थान से राधेश्याम बागरी, बद्रीलाल बागरी और लक्ष्मी नारायण बागरी आपने सुनना चाहा है फिल्म वासना (1968) का गाना जिसे गाया है मोहम्मद रफ़ी और लता मंगेशकर ने गीतकार हैं साहिर लुधियानवी और संगीत दिया है चित्रगुप्त ने गीत के बोल हैं -------
3. ये पर्बतों के दायरे ये शाम का धुंआं ......

पंकज -  हालांकि जया ने कहा था कि उनके साथ काम करना अमिताभ के लिए सम्मान की बात होगी और वह ज्यादा पैसा नहीं मांगेंगे, लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था। सत्यजीत रे की तबीयत बिगड़ गई और उसमें कोई सुधार नहीं हुआ। 

सत्यजीत रे जब तक रहे, तब तक उनकी यह ख्वाहिश पूरी नहीं हो पाई और उसी तरह अमिताभ बच्चन का भी रे के साथ काम करने का सपना अधूरा ही रह गया।

अंजली – मित्रों हमें अगला पत्र लिख भेजा है हमारे पुराने श्रोता ने इन्होंने बहुत दिनों के बाद हमें पत्र लिखा है, ये हैं लालूचक, भागलपुर, बिहार से विष्णु कुमार चौधरी, श्रीमती गायत्री देवी, आरती कुमारी, सागर और बादल आप सभी ने सुनना चाहा है फिल्म जब प्यार किसी से होता है (1998) का गाना जिसे गाया है लता मंगेशकर और उदित नारायण ने गीतकार हैं आनंद बख्शी और संगीत दिया है जतिन ललित ने गीत के बोल हैं -------

4. इस दिल में क्या है ......

 

पंकज -  बिना बिजली के चलती है ये वॉशिंग मशीन और सिर्फ़ 10 लीटर पानी में चमकाएगी कपड़े

अगर आपको भी लगता है कि आप घर में मौजूद वाशिंग मशीन में ज्यादा बिजली खर्च हो रही है और पानी भी अधिक बर्बाद हो रहा है तो आपके लिए एक छोटी-सी वाशिंग मशीन आ गई है जो बिना बिजली सिर्फ 10 लीटर में आपके कपड़ों को चमकाएगी।इस खास मशीन का नाम Drumi है जिसे Yirego नाम की एक अमेरिकी कंपनी ने तैयार किया है। आपको बता दें कि यह कंपनी इलेक्ट्रिसिटी फ्री डिवाइस ही तैयार करती है। इस मशीन का वजन 6.80 किलो और ऊंचाई 22 इंच है।इस मशीन में कपड़े 5-6 कपड़े सिर्फ 5 मिनट में साफ किए जा सकते हैं।

 

अंजली – श्रोता मित्रों हमारे अगले श्रोता भी बहुत पुराने श्रोता हैं और इन्होंने भी हमें बहुत दिनों बाद याद किया है ये हैं, आदर्श श्रीवास रेडियो श्रोता संघ के पारस राम श्रीवास और इनके ढेर सारे साथी आप सभी ने हमें पत्र लिखा है ग्राम लहंगाबाथा, पोस्ट बेलगहना, ज़िला बिलासपुर, छत्तीसगढ़ से आप सभी ने सुनना चाहा है फिल्म दीवाने (2000) का गाना जिसे गाया है जसपिंदर नरूला ने और इसे संगीत से संवारा है संजीव-दर्शन ने गीत के बोल हैं -------

 

5. ऐ दिल .......

पंकज -  इसके लिए 10 लीटर पानी और थोड़े-से डिटर्जेंट पाउडर की जरूरत होगी।इस मशीन में एक पैडल दिया गया है जिसे पैर से चलाकर कपड़े साफ किए जा सकेंगे। साथ ही इसे आप कहीं भी आसानी से ले जा सकते हैं। वैसे इस मशीन को 2014 में ही तैयार किया गया था लेकिन अब इसे कई सारे बदलावों के साथ पेश किया गया है।

इसकी कीमत $229 यानी करीब 14,895 रुपये है। हालांकि यह मशीन फिलहाल अमेरिका में अमेजॉन और कंपनी की साइट से खरीदी जा सकती है। भारत में यह मशीन कब आएगी इसकी अभी कोई जानकारी नहीं है।

अंजली- मित्रों हमारे पास अगला पत्र आया है आज़ाद नगर लक्सर हरिद्वार, उत्तराखंड से जिसे लिखा है ताज मोम्मद अंसारी, गुलाम साबिर राही, मेहराज जहां और इनके साथियों ने आप सभी ने सुनना चाहा है फिल्म राजू बन गया जेंटलमैन (1992) का गाना जिसे गाया है कुमार शानू और अल्का याग्निक ने गीतकार हैं महेन्द्र देहलवी और संगीत दिया है जतिन ललित ने गीत के बोल हैं -----

6. तू मेरे साथ साथ आसमां से आगे चल ....... 

पंकज तो मित्रों इसी के साथ हमें आज का कार्यक्रम समाप्त करने की आज्ञा दीजिये अगले सप्ताह आज ही के दिन और समय पर हम एक बार फिर आपके सामने लेकर आएंगे कुछ नई और रोचक जानकारियां साथ में आपको सुनवाएँगे आपकी पसंद के फिल्मी गीत तबतक के लिये नमस्कार।

अंजली - नमस्कार। 

 

 

 

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories