25 अगस्त 2019

2019-08-25 21:11:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn


पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेला : पुस्तकों के माध्यम से आदान-प्रदान का मंच

26वां पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेला 21 से 25 अगस्त तक आयोजित हुआ। 95 देशों और क्षेत्रों से आए 2600 से अधिक देसी-विदेशी प्रकाशकों ने इस में भाग लिया। जहां 3 लाख से अधिक तरह की प्रकाशित नई पुस्तकें प्रदर्शित की गईं। पारंपरिक पुस्तक प्रदर्शनी के अलावा, मेले के दौरान एक हज़ार से अधिक रंग-बिरंगी सांस्कृतिक गतिविधियां भी आयोजित की गईं। यह मेला देसी-विदेशी प्रकाशकों के बीच आदान-प्रदान और सहयोग का मंच बन गया है।

मौजूदा पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में भागीदारी प्रकाशक 95 देशों और क्षेत्रों से आए हैं, 1600 से अधिक विदेशी प्रकाशन संस्थाओं ने हिस्सा लिया। विदेशी प्रकाशकों का अनुपात 60 प्रतिशत से ज्यादा है। भारत के सपना प्रकाशन गृह के प्रमुख अमन चावला ने संवाददाता से कहा कि पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले ने एक अच्छा मंच प्रदान किया। उन्होंने कहा:“यह एकस्पो बहुत अच्छा है। भारत की बाल पुस्तकों को चीनी प्रकाशक बहुत पसंद कर रहे हैं। मुझे लगता है कि इस मंच के माध्यम से अच्छी भारतीय पुस्तकों को चीनी प्रकाशकों को बेचा जा सकता है। एकस्पो ने हमें अच्छा मौका दिया है। इसी दौरान हमने भारतीय पुस्तकों के बारे में विचार-विमर्श किया। आशा है कि भविष्य में हम चीनी प्रकाशकों के साथ सहयोग कर सकेंगे।”

पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले का इतिहास 33 वर्ष पुराना है, जो अब तक विश्व में दूसरा बड़ा पुस्तक मेला बन गया है। इधर के सालों में पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेला चीनी पुस्तकों के विदेशों में प्रवेश करने को प्रोत्साहित करता है। अधिकाधिक चीनी प्रकाशन संस्थाएं सक्रिय रूप से अंतर्राष्ट्रीय सहयोग में जुटी हुई हैं। मौजूदा एकस्पो में भाग लेने वाले चीनी प्रकाशन संस्थाओं ने खास तौर पर अपने-अपने अंतरराष्ट्रीय सहयोग के फलों को दिखाने वाले प्रदर्शन क्षेत्र स्थापित किया। चीनी विदेशी भाषा प्रकाशन ब्यूरो के उप प्रधान लू छाईरोंग ने संवाददाता को बताया कि विदेशी भाषा प्रकाशन ब्यूरो अंतरराष्ट्रीय प्रकाशन जगत में सहयोग के लिए सक्रिय रूप से खोजता है। उनका कहना है:“अभी तक हमने विदेशों के उन्मुख चीन के विषय वाले करीब 50 संपादकीय विभाग स्थापित किए। संबंधित देशों के साथ चीन के विषय वाले चीनी पुस्तकों का समान रूप से संपादन, प्रकाशन और वितरण करते हैं। पहली खेप वाली 300 से अधिक पुस्तकें हो चुकी हैं, जिनकी बिक्री अभी दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों में हो रही है और जिन्हें स्थानीय पाठकों का स्वागत मिला। इसके साथ ही हम विदेशों में चीनी पुस्तकों के विस्तार वाले कार्य पर जोर देते हैं। 10 देशों में चीनी पुस्तक केंद्र की स्थापना की गई। सबसे पहले पोलैंड में दुनिया भर में पहला पुस्तक केंद्र स्थापित हुआ, फिर पेरू, थाईलैंड, स्विट्जरलैंड, कंबोडिया और ईरान आदि। हम तरह-तरह के उपायों से अंतरराष्ट्रीय प्रकाशन जगत के साथ सहयोग कर रहे हैं। लक्ष्य है कि चीनी पुस्तकों को विश्व के ज्यादा से ज्यादा स्थलों तक पहुंचाया जा सकेगा।”

चीनी पुस्तकें विदेशों में प्रवेश करने के साथ-साथ अधिक से अधिक श्रेष्ठ विदेशी पुस्तकें भी पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले के माध्यम से चीन में आने लगी हैं। मौजूदा मेले में भाग लेने वाली एक चीनी बाल पुस्तक कंपनी की उप प्रमुख य्वी लीली ने जानकारी देते हुए कहा कि उनकी कंपनी ने“ब्रिटिश पुस्तक पुरस्कार”हासिल करने वाले“रहस्यमय लॉग”शीर्षक वैज्ञानिक पुस्तकों की श्रृंखला आयात की, जिसे चीनी बच्चों ने बहुत पसंद किया। य्वी लीली ने कहा:“इस प्रकार वाली खास वैज्ञानिक पुस्तकों की बिक्री पुस्तक एकसपो में बहुत अच्छी है। मौजूदा एक्सपो में प्रदर्शित पुस्तकों में यह बहुत विशेष उत्पाद है, जहां कम मिलता है। इस तरह हर बार आयोजित एक्सपो में या मेले में सप्ताहांत के समय हमारे प्रदर्शन स्थल पर बच्चों की भीड़ होती है। इस तरह की पुस्तकें चीनी बच्चे बहुत पसंद करते हैं।”

मौजूदा पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में खास तौर पर बाल पुस्तक क्षेत्र और चित्र पुस्तक प्रदर्शन क्षेत्र स्थापित किया गया है। पुस्तकों की प्रदर्शनी और इंटरएक्टिव गतिविधियों के माध्यम से चीनी बच्चों की पुस्तकों के प्रति रुचि बढ़ी है। कुछ माता-पिता अपने बच्चे को लेकर पुस्तक मेले की यात्रा करने आते हैं। दक्षिण चीन में क्वांगतोंग प्रांत के शनचन शहर से आई मैडम सू ने संवाददाता से कहा:“मैं विमान से बच्चे को लेकर शनचन से आई हूं। उद्देश्य है कि बच्चे इस दौरान कुछ सीख सकेंगे। हम मुख्य तौर पर बाल चित्र पुस्तक देखते हैं। अगले साल अगर मौका मिला, तो हम जरूर एक बार फिर आएंगे।”

अंतरराष्ट्रीय प्रकाशन उद्योग के विकसित रुझान के अनुकूल मौजूदा पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में औद्योगिक एकीकरण विकास पर भी ध्यान देता है। यहां खास तौर पर “5जी पढ़ना” शीर्षक प्रदर्शन क्षेत्र स्थापित किया गया। जहां 5जी के युग में “पुस्तकों का इन्टरनेट, मानव और पुस्तक का इंटरएक्टिव, कागज़ और इलेक्ट्रोनिक का एकीकरण, हर लोग का पढ़ने” वाला भावी पढ़ने की नई दृश्य दिखाई जाती है। इसके साथ ही मानव कर्तव्य रहित स्मार्ट पुस्तक स्टोर, सामुदायिक स्मार्ट पुस्तक मकान आदि दृश्य अनुभव उत्पाद और सेवा भी दिखाई जाती है।

26वें पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले के आयोजन के साथ-साथ, 17वां पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक महोत्सव और 9वां चीनी डिजिटल प्रकाशन मेला भी 21 से 25 अगस्त तक पेइचिंग में आयोजित हुए। रोमानिया मौजूदा पुस्तक मेले का अतिथि देश है।

मौजूदा पुस्तक मेले की थीम“70 साल का विकास, पुस्तक का नया युग”है, इस दौरान नए चीन की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में प्रकाशित श्रेष्ठ पुस्तकों का प्रदर्शन क्षेत्र, “बेल्ट एंड रोड” से संबंधित प्रकाशित वस्तुओं का अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शन क्षेत्र, शीतकालीन ओलंपिक प्रकाशन क्षेत्र और पुस्तक सड़क आदि प्रमुख विषय वाले क्षेत्र स्थापित किए गए हैं। पेइचिंग शहर के प्रचार विभाग के प्रधान तू फ़ेई ने जानकारी देते हुए कहा:“मौजूदा पुस्तक मेले में 1600 विदेशी व्यापारी समेत 2600 से अधिक देसी-विदेशी व्यापारी भाग लेने आए हैं। जहां 3 लाख से अधिक तरह की प्रकाशित नई पुस्तकें प्रदर्शित की जा रही हैं, जो पेइचिंग पुस्तक मेले के इतिहास में एक रिकॉर्ड है।”

रोमानिया मौजूदा पेइचिंग पुस्तक मेले का अतिथि देश है, जिसकी थीम है “रोमानिया-- एक पुस्तक का फ़ासला”। रोमानियाई सांस्कृतिक अकादमी के प्रधान मिरेल तालो ने कहा:“चीन और रोमानिया के बीच दूरी बहुत ज्यादा है, लेकिन संस्कृति के प्रति प्यार और समादर से दोनों देश घनिष्ठ रूप से जुड़े हैं। नए रेशम मार्ग पर आपस में आदान-प्रदान के ज्यादा मौके मौजूद हैं। “बेल्ट एंड रोड” एक खुला, समावेशी और शांतिपूर्ण मंच है, इस मंच पर विभिन्न देशों के लोग समर्थन और सहयोग करते हुए एक वैश्विक सार्वजनिक उत्पाद का निर्माण कर सकेंगे।”

जानकारी के अनुसार, मौजूदा पुस्तक मेले में अतिथि देश के प्रदर्शन क्षेत्र का क्षेत्रफल 300 वर्ग मीटर है। रोमानिया के 20 से अधिक प्रकाशन गृह, सांस्कृतिक इकाइयां, कुछ लेखक और कलाकार भाग लेने आए हैं। रोमानियाई सांस्कृतिक विभाग ने अतिथि देश के प्रदर्शन मंच, रोमानियाई सांस्कृतिक केंद्र, चीनी तेल-चित्र ललितकला भवन आदि स्थलों में साहित्य, कला और प्रकाशन व्यापार से संबंधित 20 से ज्यादा आदान-प्रदान गतिविधियों का आयोजन करेगा।

पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले के दौरान चीनी प्रकाशन उद्योग द्वारा“चीनी पुस्तकों के लिए विशेष योगदानकर्ता पुरस्कार” सम्मानित किया गया। 15 देशों से आए 5 लेखकों, 6 अनुवादकों और 4 प्रकाशकों को पुरस्कार मिला। यह पहली बार है कि इजरायल, कजाखस्तान, ग्रीस और इराक से पुरस्कार विजेताओं को चुना गया है।

उल्लेखनीय बात यह है कि 26वें पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले के आयोजन के साथ-साथ, 17वां पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय पुस्तक महोत्सव और 9वां चीनी डिजिटल प्रकाशन मेला भी 21 से 25 अगस्त तक एक ही स्थल पर आयोजित किया जा रहा है। तीनों मेले के आयोजन से पेइचिंग अंतरराष्ट्रीय आदान-प्रदान और सहयोग का पुल बन गया है।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories