वृद्धाश्रम में प्यार, रचाई शादी

2017-09-24 23:20:59
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

कहते हैं कि प्यार करने की कोई उम्र नहीं होती, कब हो जाए पता नहीं चलता। जब प्यार होता है तब ना उम्र देखा जाता है और ना ही रुतबा। दक्षिणी पश्चिम चीन में सछ्वान प्रांत के कांजी तिब्बती स्वायत्त क्षेत्र के कांजी काउंटी में स्थित कांजी वृद्धाश्रम में दो बुजुर्ग जोड़ों ने शादी रचाई। इस वृद्धाश्रम में गरीब और निस्संतान बुजुर्ग रहते हैं।

73 वर्षीय बुजुर्ग महिला तुओची पामू और 67 वर्षीय बुजुर्ग पुरूप चोंगना को एक दूसरे से प्यार हो गया और दोनों ने शादी रचा ली। उनकी शादी को अब तक 3 महीने हो गये हैं। शादी के बाद दोनों एक साथ रहते हैं, जबकि इस वृद्धाश्रम के नियम के अनुसार पुरूष और महिला अलग-अलग रहते हैं।

वृद्धाश्रम में प्यार, रचाई शादी

तुओची पामू (बुजुर्ग महिला) और  चोंगना (बुजुर्ग पुरूष)


तुओची पामू से जब उनकी शादी और रिश्ते के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि उनके पति चोंगना बेहद अच्छे और मददगार इंसान हैं। वे पानी भरने, सामान उठाने में उनकी मदद करते थे। जब वह बिमार हो गई थीं, तो उन्होंने उनकी काफी देखभाल की। इस तरह वे दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे और बाद में शादी कर ली। दोनों को कोई संतान नहीं है।

वृद्धाश्रम में प्यार, रचाई शादी

शानपा (बुजुर्ग पुरूष) और तुओ चिए (बुजुर्ग महिला)


वहीं, 72 वर्षीय बुजुर्ग महिला तुओ चिए और 66 वर्षीय बुजुर्ग पुरूष शानपा ने एक दूसरे को पसंद किया और शादी की। उनकी शादी को 3 वर्ष हो गये हैं। तुओ चिए ने बताया कि शादी के बाद उनके पति शानपा ने मिठाई बांटी और सभी को दावत दी। शानपा ने कहा कि शादी के बाद एक बार फिर वो बहुत खुश है, क्योंकि उन्हें जीने की वजह मिल गई है।

(अखिल पाराशर)

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories