टिप्पणीः चीन के विशाल बाजार को कोई नजरअंदाज नहीं कर सकता

आंकड़े बताते हैं कि इस साल के जनवरी से अप्रैल तक चीन ने वास्तविक रूप से 3.0524 खरब चीनी युआन की विदेशी पूंजी का इस्तेमाल किया, जिसमें पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 6.4 प्रतिशत का इज़ाफ़ा हुआ। 

टिप्पणीः अमेरिका वैश्विक घाटे का प्रमुख निर्माता है

चोर का उल्टे कोतवाल को डांटना अमेरिका द्वारा प्रतिद्वंद्वियों पर दबाव डालने का हमेशा का हथकंडा है।

टिप्पणीः शांतिकाल में भी चौकस रहे चीन

अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय ने 16 मई को चीन के हुआवेइ कंपनी और संबंधित अन्य 70 उपक्रमों को निर्यात पाबंदी की सूची में शामिल करने की घोषणा की। 

टिप्पणी:अमेरिका पर विश्व का विश्वास घटेगा

संयुक्त राष्ट्र संघ में मिली खबर के मुताबिक चीन ने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र नियमित बजट में 12 प्रतिशत का अपना भाग भुगतान किया है। महासचिव के प्रवक्ता ने इस पर चीन का आभार प्रकट किया। उधर अमेरिका ने इस वर्ष की 1 जनवरी तक अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र बजट में अपने 38.1 करोड़ अमेरिकी डालर का बकाया नहीं दिया है, और शांति मिशन के खर्च में 77.6 करोड़ डॉलर का बकाया देना बाकि है। अमेरिका का बकाया संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के कुल बजट में एक तिहाई भाग है।

टिप्पणी: अमेरिका का असली दुश्मन ही है स्टीव बैनन

अमेरिकी राष्ट्रपति के भूतपूर्व राष्ट्रपति के वरिष्ठ सलाहकार स्टीव बैनन ने वर्ष 2017 के अगस्त में त्यागपत्र देने के बाद इधर-उधर भाषण देते हुए चीन पर लगातार आरोप लगाया। हाल ही में जब अमेरिकी सरकार ने चीनी मालों के खिलाफ अतिरिक्त कर वसुली लगाना चाहा, तब स्टीव बैनन ने जल्द ही एक लेख जारी कर अमेरिका से चीन के साथ अंत तक आर्थिक युद्ध करने की मांग की।

टिप्पणी:मानव सभ्यता की अच्छाई और बुराई में कोई फ़र्क नहीं

“हम खुद की सभ्यता में जीवन शक्ति से भरकर दूसरे देश की सभ्यता के विकास को अनुकूल स्थिति तैयार करें, ताकि विश्व की सभ्यता वाले उद्यान में रंगबिरंगे फूल खिल सके।”यह राष्ट्रपति शी चिनफिंग के भाषण में व्यापक मान्यता वाला विचार है। 

टिप्पणी:अमेरिका से चोरी की बात है बिल्कुल निराधार

हाल ही में अमेरिका के कुछ राजनीतिज्ञों ने यह दावा किया है कि अमेरिका एक कैश बॉक्स जैसा है, चीन समेत दूसरे देशों ने इसमें से पैसा चोरी करते रहे हैं। ऐसा कथन बिल्कुल निराधार है।

टिप्पणी:सभ्यताओं को बदनाम मत करो

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के तहत नीति नियोजन अधिकारी किरोन स्किनर ने हाल ही में यह दावा किया कि अमेरिका और चीन के बीच जो घर्षण है, वह अलग अलग सभ्यताओं के बीच मुठभेड़ ही है। उन के बयान ने लोकमत में सनसनी पैदा कर दी है।

टिप्पणीः व्यापारी युद्नध के लिए चीन ने पूरी तैयारी की है

चीन द्वारा अमेरिका के प्रति 2 खरब अमेरिकी डॉलर मूल्य वाले उत्पादकों पर लगाये गये टैरिफ़ को 10 से 25 प्रतिशत तक बढ़ाने के बाद अमेरिका ने आगे धमकी दी कि वह बाकी 3.25 खरब अमेरिकी डॉलर के चीनी उत्पादकों पर 25 प्रतिशत का टैरिफ़ लगाने की प्रक्रिया भी शुरू करेगा और निकट भविष्य में सूची जारी करेगा। 

टिप्पणीः चीन-अमेरिका व्यापार संघर्ष के समाधान की कुंजी एक दूसरे की चिंताओं पर ध्यान देना

11वें दौर की चीन-अमेरिका व्यापार उच्च स्तरीय वार्ता 10 मई को वाशिंगटन सम्पन्न हुई ।चीनी उप प्रधानमंत्री ल्यू ह ने वार्त के बाद बताया कि दोनों पक्षों ने अच्छा संपर्क और सहयोग किया।

टिप्पणी:टैरिफ बढ़ाने से खुद को और दूसरों को नुकसान पहुंचेगा

10 मई को अमेरिका ने 2 खरब अमेरिकी डालर के चीनी उत्पादों पर टैरिफ 10 प्रतिशत से 25 प्रतिशत तक बढ़ाया। इस के जवाब में चीन ने एक वक्तव्य जारी कर आवश्यक जवाबी उपाय उठाने की घोषणा की।

टिप्पणीः थाईवान सवाल के सहारे चीन को रोकने की कार्यवाई आशाहीन विकल्प है

अमेरिकी प्रतिनिधि सदन ने 7 मई को तथाकथित "2019 थाईवान आश्वासन नियम", "थाईवान और थाईवान संबंध नियम के कार्यांवयन पर अमेरिका के वचन की फिर से पुष्टि" के प्रस्ताव को पारित किया। यह अमेरिका द्वारा फिर एक बार थाईवान सवाल के सहारे चीन के अंदरूनी मामलों में धृष्ठतापूर्वक हस्तक्षेप करने और चीन के शांतिपूर्ण विकास पर रोक लगाने की खतरनाक राजनीतिक कार्रवाई है। 

HomePrev1234567...NextEndTotal 17 pages