टिप्पणीः चीन ने उपभोक्ता के हितों की सुरक्षा के लिए फेडएक्स का मामला दर्ज किया

चीन के संबंधित विभाग ने 1 जून को घोषणा की कि अमेरिकी कंपनी फेड एक्स ने नाम और पते के अनुसार एक्सप्रेस पार्सल नहीं भेजा और उपभोक्ता के कानूनी हितों को गंभीर नुकसान पहुंचाया और चीनी एक्सप्रेस डाक उद्योग के संबंधित नियमों का उल्लंघन किया

टिप्पणीः हमले के बारे में चीन जो कहता है, वही करता है

गौरतलब है कि अमेरिकी ने किसी प्रमाण के बिना अनेक चीनी उद्यमों को निर्यात नियंत्रण की इकाइयों की सूची में शामिल किया। इसके जवाब में चीन को अपने कानूनी अधिकारों की सुरक्षा के लिए जवाबी प्रहार करना पड़ा।

टिप्पणी :अमेरिकी विदेश मंत्री की झूठी बातों से अमेरिका की गिरावट तेज होगी

अमेरिकी विदेश मंत्री मिचेल पोम्पेइ ने 29 मई को फोक्स के बिज़नेस चैनल के साथ हुई एक बातचीत में दावा किया कि हुआ वेइ अमेरीकी अर्थव्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा है ।

टिप्पणीः अमेरिका की जगह लेने का चीन का कोई इरादा नहीं है

फिलहाल किसी अमेरिकी राजनीतिज्ञ ने दावा किया कि चीनी अर्थव्यवस्था तेजी से विकसित हो रही है ।चीन अमेरिका से अधिक शक्तिशाली होगा ।

टिप्पणीः अंतरराष्ट्रीय पूंजी ने चीनी अर्थव्यवस्था के पक्ष में विश्वास मत डाला

विश्व में सबसे बड़ी सूचकांक प्रस्तुतकर्ता एमएससीआई ने 28 मई को योजनानुसार अपनी वैश्विक मूल सूचकांक में चीनी ए-शेयरों का अनुपात उन्नत किया। इस तरह एमएससीआई चाइना इंडेक्स में और 26 चीनी कंपनियां शामिल करायी गयी हैं।

टिप्पणी:लांग मार्च की भावना से अमेरिका के अत्याधिक दबाव को तोड़ेगा चीन

हाल ही में चीनी राष्ट्रपति शी चिन फिंग ने च्यांग शी प्रांत के निरीक्षण दौरे के दौरान 1934 के अक्तूबर में चीनी श्रमिक और किसानों की लाल सेना के लांग मार्च शुरू होने के स्मारक को फूलों की टोकरी अर्पित की और लांग मार्च की भावना हमेशा से चमकते रहने पर भी ज़ोर दिया।

टिप्पणी :उत्पीड़ित होने का घोर भ्रम चीन-अमेरिका संबंधों की नींव को हिला रहा है

अमेरिकी येल युनिवर्सिटी के अध्यक्ष पीटर सालोवे ने हाल ही में खुला पत्र जारी कर इधर कुछ हफ्ते चीन अमेरिका संबंधों के तनाव और अध्ययनकर्ताओं की आवाजाही में दिन ब दिन सख्त हो रही जांच के प्रति चिंता व्यक्त की ।

टिप्पणीः बोल्टन आदि लोगों ने अमेरिकी कूटनीति को अव्यवस्थित जंगली घोड़ा बनाया

अमेरिकी नौ सेना के सैन्य अकादमी के प्रोफेसर टॉम निकोर्स ने हाल में अख़बार में लेख जारी कर अमेरिका के निकट कुछ समय की कूटनीति का विश्लेषण करने के बाद नतीजा प्राप्त किया कि अमेरिका की कूटनीति का नियंत्रण न करने की प्रवृत्ति नज़र आयी है। 

टिप्पणीः 1.4 अरब आबादी वाले बाजार पर पाबंदी लगाना नामुमकिन

इधर के दिनों में कई विदेशी कारोबारों ने हुआवेइ कंपनी के साथ सहयोग  बंद करने की दलील को ठुकरा दिया और कहा कि वे अमेरिकी सरकार के प्रतिबंध ऐलान से हुआवेइ को सप्लाई बंद नहीं कर सकते हैं। 

टिप्पणीः टैरिफ़ लाठी चीन में विदेशी कारोबारों को डरा कर पीछे नहीं हटा सकेगी

अमेरिका ने हाल में कहा कि चीन द्वारा निर्यातित वस्तुओं पर टैरिफ़ बढ़ाने की स्थिति में कुछ कारोबार चीन से वियतनाम और अन्य एशियाई देशों में स्थानांतरित होंगे। जबकि कुछ अमेरिकी कारोबार अमेरिका वापस लौटेंगे।

टिप्पणीः तकनीकी बदमाशी से चीन पर दबाव डालना बेकार

हुआवेइ कंपनी के खिलाफ़ निर्यात पाबंदी लगाने के बाद हाल में अमेरिका ने फिर एक बार चीन के शनजन के डीजे-इनोवेशन्स कंपनी द्वारा उत्पादित यूएवी में निहित सूचना जोखिम होने की निंदा की। 

रन जंगफ़ेईः चीन-अमेरिका व्यापार का मूल सवाल शैक्षिक स्तर है

हुआवेइ के संस्थापक और सीईओ रन जंगफ़ेई ने 21 मई को हुआवेइ मुख्यालय में चाइना मीडिया ग्रुप के साथ साक्षात्कार में कहा कि बुनियादी शिक्षा और व्यावसायिक शिक्षा पर और बड़ा ध्यान देने योग्य है। 

HomePrev123456...NextEndTotal 17 pages