क्या कमजोर हो रहा है कोरोना वायरस ?

कोरोना का संक्रमण भले ही तेजी से फैल रहा है, लेकिन यह उतना घातक नहीं है। दुनियाभर में दहशत फैलाने वाला कोरोना वायरस जल्द ही खत्म हो जाएगा। कई देशों के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि यह वायरस तेजी से कमजोर हो रहा है। महामारी की शुरू में इसका संक्रमण जितना घातक था, अब वह वैसा नहीं है। इटली के प्रमुख संचारी रोग विशेषज्ञ मेटियो बाशेट्टी का कहना है कि इटली के मरीजों में ऐसे साक्ष्य मिल रहे हैं, जो बताते हैं कि वायरस अब उतना घातक नहीं रहा है। संक्रमण के बाद अब ऐसे बुजुर्ग मरीज भी ठीक हो रहे, पहले जिनमें यह बीमारी गंभीर रूप ले लेती थी और प्रायः मौत हो जाती थी।

अमेरिकी राजनेताओं का अपने मित्रों से भी विश्वासघात

जर्मनी और फ्रांस ने हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन के सुधार संबंधी वार्ता से हटने का फैसला लिया, क्योंकि अमेरिका ने इस वार्ता का नेतृत्व लेना चाहा। इससे यह जाहिर है कि वैश्विक महामारी होने की स्थिति में अमेरिका और पश्चिमी मित्र देशों के बीच खटास पैदा हुई है।

चीन का अमेरिकी व्यक्तियों पर जवाबी प्रतिबंध लगाना सही और जरूरी

चीनी विदेश मंत्रालय ने 10 अक्टूबर को घोषणा की कि चीन हांगकांग के सवाल पर बुरा प्रदर्शन करने वाले 11 अमेरिकी व्यक्तियों के खिलाफ प्रतिबंध लगाएगा। यह इससे पहले अमेरिका द्वारा चीन की केंद्र सरकार और हांगकांग सरकार के 11 अफसरों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने का जवाब है।

अमेरिकी राजनेता का "ताइवान कार्ड" खेलना आग से खेलना जैसा

अमेरिकी स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स अज़ार 9 अगस्त को ताइवान दौरे पर गये और योजनानुसार वे ताइवानी नेताओं के साथ भेंट मुलाकात करेंगे। इससे चीन और अमेरिका के बीच संपन्न तीन विज्ञप्तियों का उल्लंघन हुआ। अमेरिकी राजनेताओं ने अपने राजनीतिक हितों के लिए ताइवानी स्वाधीनता को गलत संकेत भेजा। उनका "ताइवान कार्ड" खेलना सचमुच आग से खेलने जैसा है। 

अमेरिकी राजनेताओं के "प्रतिबंधों" की चाल व्यर्थ साबित होगी

7 अगस्त को अमेरिकी वित्त मंत्रालय ने हांगकांग स्थित चीनी केंद्र सरकार तथा हांगकांग सरकार के अनेक अफसरों को तथाकथित प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। अमेरिका ने एक बार फिर चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप किया और अंतर्राष्ट्रीय कानून तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध के आम मापदंड को रौंदा।

क्या अमेरिकी राजनीतिज्ञ स्वच्छ साइबर पर चर्चा करने लायक हैं

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने 5 अगस्त को राष्ट्रीय सुरक्षा के बहाने स्वच्छ साइबर योजना की घोषणा की ,जिसका उद्देश्य चीनी साइबर कंपनियों का प्रभाव मिटाना है।

अमेरिकी राजनीतिज्ञों द्वारा कोविड-19 महामारी की जिम्मेदारी चीन पर थोपना सिर्फ राजनीतिक तमाशा

विश्व में मशहूर पेशेवर चिकित्सा पत्रिका द लानसेट के प्रमुख संपादक रिचर्ड होर्टन ने 4 अगस्त को ब्रिटिश अख़बार द गार्डियन पर एक आलेख जारी कर कहा कि अमेरिका सरकार के नेतृत्व में पश्चिमी राजनीतिज्ञ चीन के खिलाफ प्रहार बढ़ा रहे हैं ।

अमेरिकी राजनीतिज्ञों के मनमाने फैसले पूरे विश्व के लिए खतरा

कोविड-19 महामारी से पहले अमेरिका विश्व अर्थव्यवस्था का मुख्य इंजन था ,लेकिन अब वह विश्व के लिए सबसे बड़ा खतरा बन गया है।रायटर्स के संवाददाता श्रीटी सर्कर ने एक हालिया रिपोर्ट में यह बात कही ।

चीनी अर्थव्यवस्था दोहरे चक्र के रास्ते पर चलेगी

चीनी वाणिज्य मंत्रालय के एक हालिया सर्वे के परिणाम से जाहिर है कि चीन स्थित 99.1 प्रतिशत विदेशी पूंजी वाले उद्यम चीन में कारोबार बरकरार रखेंगे ।क्वालकॉम और बोल्स्टन कंसल्टिंग ग्रुप समेत दस विदेशी उद्यमों के प्रमुखों ने साफ बताया कि वे चीनी आर्थिक विकास के भविष्य के प्रति आशावान हैं ।

विश्व शांति के लिए और बड़ा योगदान देगी चीनी सेना

1 अगस्त को चीनी जन मुक्ति सेना की स्थापना की 93वीं जयंती है। 

चीनी सेना के विकास और भव्यता की कुंजी है सुधार

आज 1 अगस्त को चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की स्थापना की 93वीं वर्षगांठ है। 

चुनाव को स्थगित करने का निर्णय अंतर्राष्ट्रीय नियमावलियों से मेल खाता है

कोविड-19 की गंभीर स्थिति को मद्देनजर चीन के हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र की प्रमुख प्रशासक कैरी लैम ने 31 जुलाई को हांगकांग की 7वीं कानून समिति के चुनाव को स्थगित करने की घोषणा की। 

1234...NextEndTotal 59 pages