ब्रिक्स में प्रेस कांफ्रेंस का सीधा प्रसारण

2017-09-05 14:29:44
नेटीजनों की टिप्पणी
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
14:29

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 5 सितंबर को ब्रिक्स संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ब्रिक्स पाँच देशों के नेताओं को यह एहसास हुआ है कि ब्रिक्स सहयोग के दूसरे दशक में प्रवेश करते समय ब्रिक्स प्रणाली के निर्माण को आगे बढ़ाया जाना चाहिए, ताकि विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग और गहरा और मजबूत किया जा सके। उन्होंने कहा कि अगले साल दक्षिण अफ्रीका ब्रिक्स देशों का अध्यक्ष देश बनेगा। जोहानसबर्ग में 10वें ब्रिक्स सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। हमें विश्वास है कि अगले साल की भेंटवार्ता में अवश्य ही प्रचुर उपलब्धियां हासिल होंगी। चीन विभिन्न पक्षों के साथ मिलकर दक्षिण अफ्रीका का समर्थन करेगा और ब्रिक्स सहयोग को आगे विकसित करने की कोशिश करेगा।

14:28

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 5 सितंबर को ब्रिक्स संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ब्रिक्स के पाँच देशों के नेताओं ने यह मंजूरी दी कि हमें राजनीतिक सुरक्षा सहयोग को गहराना और आपसी विश्वास को प्रगाढ़ करना चाहिए। यह पाँच देशों के समान हितों और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की प्रतिक्षा में है। इस साल से हमने अंतर्राष्ट्रीय परिस्थिति, वैश्विक प्रशासन, अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय गर्म मुद्दों और देश की सुरक्षा, विकास जैसे मुद्दों पर गहन रूप से विचार विमर्श किया और अहम सहमतियां हासिल कीं। इस साल हमने सफलतापूर्ण रूप से सुरक्षा मामलों के वरिष्ठ प्रतिनिधियों की बैठक और पहली विदेश मंत्रियों की औपचारिक भेंटवार्ता की, जिन्होंने ब्रिक्स राजनीति और सुरक्षा के सहयोग में नयी प्रेरणा शक्ति डाली है। हमने न्यूयॉर्क, जेनेवा, वियना स्थित स्थायी प्रतिनिधियों की सलाह मश्विरा प्रणाली की स्थापना की और समान दिलचस्पी वाले अहम मुद्दों पर रवैये का समन्वय किया। आतंक विरोधी, इंटरनेट सुरक्षा, शांति की रक्षा और मध्य-पूर्व सवालों पर सहयोग सुभीतापूर्ण रूप से आगे बढ़ते रहते हैं। इन सभीने ब्रिक्स देशों के प्रभाव को उन्नत किया है। हम राजनीतिक और सुरक्षा सहयोग की अच्छी प्रवृत्ति का समर्थन करते रहेंगे और अपनी भूमिका निभाते रहेंगे, ताकि विश्व शांति और स्थिरता के लिए और बड़ा योगदान दिया जा सके।

14:21

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 5 सितंबर को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चीन द्वारा आयोजित नवोदित बाज़ार वाले देशों और विकासशील देशों के बीच वार्ता में दक्षिण-दक्षिण सहयोग और विश्व विकास सहयोग को गहन करने का सशक्त संकेत दिया गया है। वार्ता में भाग लेने वाले विभिन्न देशों के नेताओं की समान राय है कि नवोदित बाज़ार वाले देशों और विकासशील देशों का विकास अच्छी तरह से चल रहा है। उन्हें वर्ष 2030 के अनवरत विकास कार्यक्रम का लागू करने और विश्व आर्थिक शासन में सुधार करने में ज्यादा बड़ी भूमिका निभानी चाहिये, दक्षिण-दक्षिण सहयोग को गहन करने, ब्रिक्स प्रेस की स्थापना करने, व्यापक साझेदार संबंधों का निर्माण करने, और एक सृजन, समन्वय, हरित, खुला और साझा अनवरत विकास का रास्ता ढूंढ़कर विश्व आर्थिक वृद्धि और विभिन्न देशों के समान विकास के लिये ज्यादा रचनात्मक ऊर्जा डालनी चाहिये।

14:14

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 5 सितंबर को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस वर्ष ब्रिक्स व्यवस्था के निर्माण में नयी प्रगति हासिल हुई है। शी चिनफिंग के अनुसार ब्रिक्स देशों ने पहली बार विदेश मंत्री स्तरीय औपचारिक भेंट वार्ता की व्यवस्था और संयुक्त राष्ट्र संघ स्थित प्रतिनिधियों के नियमित रूप से विचार-विमर्श व्यवस्था की स्थापना की। उनके अलावा इलेक्ट्रॉनिक पोर्ट नेटवर्क, ई-वाणिज्य कार्य दल, संग्रहालय संघ, कला संग्रहालय संघ, पुस्तकालय संघ आदि सहयोग मंचों की स्थापना भी की गयी है। ये नयी व्यवस्थाएं पांच ब्रिक्स देशों के लिये राजनीतिक, आर्थिक, सांस्कृतिक क्षेत्रों में सहयोग को अच्छी सुनिश्चितता प्रदान करेंगी।

14:13

चीनी राष्ट्राध्यक्ष शी चिनफिंग ने 5 सितंबर को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ब्रिक्स देशों के नेताओं का यह मानना है कि व्यावहारिक सहयोग ब्रिक्स सहयोग की नींव है। ब्रिक्स देशों को परस्पर लाभ और समान जीत के सिद्धांत पर मैक्रो-पॉलिसी समन्वय को मज़बूत करने और विकास रणनीति डॉकिंग करना चाहिए। साथ ही आर्थिक और व्यापार, वित्त, उद्योग, सतत विकास के क्षेत्रों में मौजूद सहयोग को चौतरफा गहराते हुए एक लिंकेज विकास पैटर्न बनाने की जरूरी है। इस साल ब्रिक्स सहयोग में एक नई प्रगति हासिल हुई है, हमने व्यापार सुलभता, सेवा व्यापार, मुद्रा विनिमय, मुद्रा निपटान, सरकार और सामाजिक पूंजी सहयोग सहित केई क्षेत्रों में एक रोडमैप योजना बनायी है। साथ ही ब्रिक्स नए विकास बैंक के अफ्रीका क्षेत्रीय केंद्र खोला और ब्रिक्स देशों के कोऑपरेटिव एक्शन प्लान तैयार किया। एक साल से ब्रिक्स देश एक बड़ी निवेश बाज़ार, मौद्रिक और वित्तीय परिसंचरण, बुनियादी ढांचे एक साथ जोड़ने के लक्ष्य पर पहुंचने में एक नया कदम उठाया है।

13:31

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 5 सितंबर को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वर्तमान में विश्व में गहन व जटिल बदलाव आया है। विश्व आर्थिक वृद्धि की व्यापक संभावना दिखती है। लेकिन तरह-तरह की वैश्विक चुनौतियां पैदा हुईं हैं। ब्रिक्स के पांच देशों के नेताओं का मानना है कि सभी ब्रिक्स देशों की अपनी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्हें महत्वपूर्ण व बड़े मामलों पर आदान-प्रदान व समन्वय करते हुए निष्पक्ष व युक्तिसंगत अंतर्राष्ट्रीय इंतज़ाम रखने को बढ़ावा देना चाहिये। ब्रिक्स देशों को अंतर्राष्ट्रीय संबंधों की बुनियादी नीति-नियमों की रक्षा, अंतर्राष्ट्रीय निष्पक्षता की रक्षा में रचनात्मक भूमिका अदा करनी चाहिये। सहयोग करके विश्व स्तरीय चुनौतियों का मुकाबला करना, आर्थिक वैश्वीकरण को बढ़ावा देना विश्व आर्थिक शासन व सुधार को तेजी से करना, विश्व में नवोदित बाजार वाले देशों व विकासशील देशों की आवाज़ उठाने का अधिकार बढ़ाना, और विभिन्न देशों के विकास के लिये अच्छा बाहरी माहौल तैयार करना चाहिये।

13:30
चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने आगे कहा कि ब्रिक्स पांच देशों के नेताओं कहा कि ब्रिक्स देशों का लम्बा इतिहास और रंगीन संस्कृति है, इस पर सभी सहमत हैं। यह हमारी मूल्यवान संपत्ति है। हमें इसका संरक्षण करना चाहिए। इस साल पांच देशों का मानवीय और सांस्कृतिक आदान प्रदान व सहयोग व्यापक रूप से हो रहा है। खेल समारोह, फिल्म उत्सव, संस्कृति उत्सव और परम्परागत चिकित्सा व औषधि संबंधी उच्च स्तरीय बैठकों का पांचों देशों की जनता ने स्वागत किया है। हम विभिन्न क्षेत्रों के सूत्रों के ब्रिक्स सहयोग में भाग लेने के लिए प्लेटफार्म की स्थापना करने की कोशिश कर रहे हैं। हम मानव व सांस्कृतिक आवाजाही व सहयोग को सामान्य करने का समर्थन करेंगे, पांच देशों की जनता की आपसी समझ व मैत्री को गहरा करने का समर्थन करेंगे, ताकि साझेदारी संबंधों की विचारधारा जनता के दिल में पैदा हो सके। 
13:12

5 सितंबर के दोपहर को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने देशी-विदेशी संवाददाताओं के लिये न्यूज़ ब्रीफिंग आयोजित की। उन्होंने ब्रिक्स देशों के नेताओं की भेंट व नवोदित बाजार वाले देशों व विकासशील देशों के बीच वार्ता की स्थिति के बारे में बताया। शी चिनफिंग ने कहा कि दस वर्ष पहले ब्रिक्स सहयोग विश्व ढांचे के गहन परिवर्तन के अवसर पैदा हुए, जिस पर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का ध्यान केंद्रित हुआ है। अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संकट आदि बड़े बदलाव से होकर ब्रिक्स देशों ने नवोदित बाजार देशों व विकासशील देशों में मिल-जुलकर सहयोग करने और आपसी लाभ व दोनों जीत प्राप्त करने का रास्ता ढूंढा। विभिन्न देशों के नेताओं ने यह फैसला किया कि वे श्यामन शिखर सम्मेलन के मौके पर एक साथ और घनिष्ठ, विस्तृत व व्यापक रणनीतिक साझेदार संबंधों की स्थापना करेंगे, और ब्रिक्स सहयोग के दूसरे स्वर्णिम दशक की स्थापना करेंगे।

11:58

ब्रिक्स में प्रेस कांफ्रेंस के लिए तैयार हैं संवाददाता


11:50

ब्रिक्स श्यामन शिखर सम्मेलन 5 सितंबर को समाप्त होगा। विभिन्न देशों के संवाददाता इसकी रिपोर्टिंग करने में व्यस्त हैं।


11:47

ब्रिक्स सम्मेलन के संवाददाता सम्मेलन का सीधा प्रसारण सीआरआई हिंदी वेबसाइट पर उपलब्ध होगा। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग श्यामन में ब्रिक्स सम्मेलन में मिली उपलब्धियों के बारे में बताएंगे। ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने ब्रिक्स की सिलसिलेवार गतिविधियों में भाग लिया। ब्रिक्स व्यापार मंच के उद्घाटन समारोह में उन्होंने भाषण देकर पिछले दस सालों में ब्रिक्स के इतिहास का सिंहावलोकन किया, ब्रिक्स सहयोग के अनुभव का निचोड़ निकाला और भविष्य के उन्मुख योजना पेश की। ब्रिक्स सम्मेलन में ब्रिक्स पाँच देशों के नेताओं ने गहन रूप से अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय सवालों पर विचार विमर्श किया और श्यामन घोषणा पत्र जारी किया। नवोदित बाज़ार देशों और विकासमान देशों के बीच वार्ता में ब्रिक्स देशों के नेताओं ने मिस्र, मैक्सिको, ताजिकिस्तान, गिन्नी और थाईलैंड के नेताओं के साथ दक्षिण दक्षिण सहयोग को मजबूत बनाने, साझेदारी संबंधों की रचना करने और वैश्विक आर्थिक प्रशासन समेत कई मुद्दों पर सहमतियां बनाईं। आयोजित होने वाले सम्मेलन में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग श्यामन सम्मेलन की सिलसिलेवार उपलब्धियों का परिचय देंगे। हम इन्तज़ार कर रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय