अमेरिकी जनता को सबसे अँधेरी सर्दियों में खींच रहे हैं अमेरिकी राजनेता

2020-10-10 20:03:00
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अमेरिका की जानी-मानी पत्रिका ‘टाइम’ ने अपने हालिया अंक के कवर पेज़ को वायरस को समर्पित कर दिया है। कवर पेज़ के बीच में व्हाइट हाउस बना है, जिसमें चार चिमनियां वायरस का गुबार ऊपर की ओर छोड़ रही हैं। यहां तक कि टाइम शब्द भी वायरस के जाल से लगभग घिरा हुआ है। वह मानों विश्व को बता रही है कि ह्वाइट हाउस के राजनेताओं की लापरवाही से अमेरिका में महामारी की स्थिति नियंत्रण के बाहर हो गयी है। वायरस अब अमेरिका के विभिन्न कोनों में फैल रहा है।

पिछले एक हफ्ते में अमेरिका में रोज 46 हज़ार नये पुष्ट मामले आए हैं, जिसमें दो हफ्तों से पहले के औसत स्तर से 12 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। अमेरिका का प्रतीक माना जाने वाला ह्वाइट हाउस भी कोविड-19 से संक्रमित हो गया है। 7 अक्तूबर तक अमेरिकी नेता समेत ह्वाइट हाउस के 34 लोग कोविड-19 से संक्रमित हैं। अमेरिकी शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ एंटोनी एस. फाउसी ने कहा कि 26 सितंबर को ह्वाइट हाउस के गुलाब उद्यान में आयोजित मुख्य न्यायाधीश नामांकन समारोह एक "सुपर स्प्रेडिंग इवेंट" है। उधर पेंटागन ने भी कहा कि अमेरिकी तटरक्षक बल के एक वरिष्ठ अधिकारी भी संक्रमित हैं। अमेरिकी चीफ ऑफ स्टाफ संयुक्त बैठक के अध्यक्ष समेत अनेक जनरल घर पर अलग-थलग हैं।

ह्वाइट हाउस और पेंटागन के अधिकारियों के संक्रमित होने का कारण अमेरिकी राजनेताओं द्वारा विज्ञान को स्वार्थ की खोज करने का परिणाम है। इसने फिर एक बार साबित किया है कि उन की महामारी रोकथाम नीति बिलकुल विफल हो गयी है।

पिछले छह महीनों में महामारी मुकाबला की प्रक्रिया का सिंहावलोकन करने पर पता लग सकता है कि महामारी की रोकथाम के दौरान राजनीतिक स्वार्थ को प्राथमिकता देना अमेरिका सरकार का विकल्प है। यही अमेरिका में 2.1 लाख लोगों की जान खोने और 76 लाख लोगों के संक्रमित होने का मूल कारण है।

महामारी की असली स्थिति को छिपाने और आम चुनाव में जीतने के लिए अमेरिकी राजनेता विज्ञान विरोधी रास्ते में दौड़ते रहे। पेशवर सीडीसी को राजनीतिक झोंपड़ियों में डाल दिया गया है। अमेरिका सरकार के प्रदर्शन से उसकी समर्थन दर में गिरावट आयी है। शिकागो विश्वविद्यालय और एसोसिएटेड प्रेस द्वारा संयुक्त रूप से किये गये एक जनमत संग्रह से जाहिर है कि 56 प्रतिशत अमेरिकी लोग मानते हैं कि अमेरिका सरकार को हालिया गंभीर महामारी स्थिति की जिम्मेदारी उठानी चाहिए। अब विश्व को चिंता है कि अमेरिका वैश्विक महामारी की रोकथाम और आर्थिक पुनरुत्थान में सबसे बड़ी बाधा बना रहेगा।

लेकिन अमेरिकी जनता के सामने असली अंधेरा अभी तक छाया नहीं है। अमेरिकी शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ एंटोनी एस. फाउसी ने चेतावनी दी कि यदि अमेरिका शरत और सर्दियों के मौसम में तदनुरुप रोकथाम के कदम नहीं उठाता है, तो अमेरिका में कोविड-19 से मरने वाले लोगों की संख्या संभवतः 4 लाख तक पहुंच जाएगी।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories