यान श्याओहोंग“दृश्य-श्रव्य प्रदर्शन पेइचिंग संधि”के अध्यक्ष नियुक्त

2020-09-24 16:33:51
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी राष्ट्रीय कॉपीराइट प्रशासन से 24 सितंबर को मिली खबर के अनुसार, स्विट्जरलैंड के जिनेवा में विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार संगठन के सदस्य देश सम्मेलन के 61वें सिलसिलेवार अधिवेशन आयोजित हो रहे हैं। इसी दौरान चीनी कॉपीराइट संघ के अध्यक्ष यान श्याओहोंग को“दृश्य-श्रव्य प्रदर्शन पेइचिंग संधि”पर हस्ताक्षरित पक्ष के पहले सम्मेलन के अध्यक्ष चुने गए। यह चीनी प्रतिनिधि के विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार संगठन में कॉपीराइट क्षेत्र की संधि पर हस्ताक्षरित पक्षों के सम्मेलन का पहली बार अध्यक्ष बनना है।

साल 2012 में “दृश्य-श्रव्य प्रदर्शन पेइचिंग संधि” पर हस्ताक्षर किए गए, जो इस वर्ष 28 अप्रैल को औपचारिक तौर पर प्रभावी हुई। इस संधि का उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में कलाकारों के अधिकारों के संरक्षण का स्तर व्यापक तौर पर बढ़ावा देना, दृश्य-श्रव्य उद्योग और सांस्कृतिक विविधता के विकास को आगे बढ़ाना है, जो अंतर्राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार के संरक्षण कार्य में मील के पत्थर वाला महत्व होता है। मौजूदा सम्मेलन इस संधि के प्रभावी होने के बाद हस्ताक्षरित पक्षों का पहला सम्मेलन है, जिसमें संधि में भाग लेने वाले 34 देशों ने भाग लिया।

चीनी राष्ट्रीय कॉपीराइट प्रशासन के संबंधित अधिकारी ने कहा कि “दृश्य-श्रव्य प्रदर्शन पेइचिंग संधि” सन् 1949 नए चीन की स्थापना के बाद से लेकर अब तक चीन में हस्ताक्षरित, और चीनी शहर के नाम से नामांकित अंतरराष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार की संधि है। इस संधि पर हस्ताक्षर करने, प्रभावी होने और प्रचार करने के पहलुओं में चीन ने बहुत से रचनात्मक काम किए, और अंतरराष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार के संरक्षण व्यवस्था को संपूर्ण करने में भी सक्रिय योगदान दिया। इससे चीन के ज्ञान का सम्मान, नवाचार की रक्षा वाला रूख और दृढ़ संकल्प जाहिर हुए।

(श्याओ थांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories