75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा की आम बहस उद्घाटित

2020-09-23 11:35:32
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/4

75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा की आम बहस 22 सितंबर को न्यूयार्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में उद्घाटित हुई। 170 देशों के नेता कोविड-19 की स्थिति, 2030 अनवरत विकास कार्यक्रम और जलवायु परिवर्तन आदि अहम अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर भाषण देंगे।

75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोल्कान बोज़किर ने उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर विभिन्न देशों को बहुपक्षवाद को मजबूत करना चाहिए और बहुपक्षवाद में प्राप्त उपलब्धियों को मान्यता देनी चाहिए। कोविड-19 ने पूरी मानव जाति को अभूतपूर्व चुनौती दी है। विभिन्न देशों को मतभेदों को किनारे रखकर बहुपक्षवाद का समर्थन करना चाहिए और एकजुट होकर कोविड-19 का मुकाबला करना चाहिए।

बोज़किर ने सदस्य देशों से बहुपक्षवाद, संयुक्त राष्ट्र मानवतावादी कार्यक्रम, अनवरत विकास लक्ष्य और लैंगिक समानता को आगे बढ़ाने को प्राथमिकता देने की अपील की।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने अपने भाषण में कोविड-19 को भू-सामरिक तनावपूर्ण परिस्थिति, जलवायु परिवर्तन संकट, वैश्विक दायेरे में अविश्वास और डिजिटल तकनीक के काले पहलू के साथ मानव जाति के सामने आयी पाँच अहम धमकियां बताया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 न सिर्फ एक चेतावनी है, साथ ही भविष्य में दुनिया द्वारा विविध चुनौतियों का सामना करने का एक अभ्यास भी है। गुटेरेस ने नये शीत युद्ध से बचने और टीके के राष्ट्रवाद का विरोध करने की अपील भी की।

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र महासभा संयुक्त राष्ट्र संघ में परामर्श, निगरानी और जांच की संस्था है, जो सभी सदस्य देशों से गठित है। इस साल महासभा की आम बहस का मुख्य थीम है भविष्य हम चाहते हैं, संयुक्त राष्ट्र हम चाहते हैः बहुपक्षवाद पर हम सामूहिक वचनों को दोहराते हैं---कारगर बहुपक्षवाद वाली कार्यवाई से कोविड-19 महामारी का मुकाबला करें। गौरतलब है कि कोविड-19 के प्रभाव के चलते विभिन्न देशों के नेता वीडियो भाषण के जरिए आम बहस में हिस्सा ले रहे हैं।

(श्याओयांग)

शेयर