महामारी के मुकाबले में सहायता देने से चीन-अफ़्रीका संबंधों का विकास किया जाएगा

2020-09-06 18:26:25
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/4

स्थानीय समयानुसार 5 सितंबर को दक्षिण सूडान और गिनी दोनों देशों में कोविड-19 महामारी के मुकाबले में सहायता देने का काम पूरा करके चीनी चिकित्सा विशेषज्ञ दल के आठ सदस्य गिनी की राजधानी कोनाक्री से रवाना होकर चीन वापस लौटे। इस विशेषज्ञ दल के अध्यक्ष ल्यांग छाओचाओ ने गिनी से रवाना होने से पहले सीएमजी संवाददाता को दिये इन्टरव्यू में कहा कि महामारी के मुकाबले में चीन द्वारा दी गयी सहायता से चीन-अफ़्रीका संबंधों के विकास को मजबूत किया जाएगा।

ल्यांग ने कहा कि हमारे विशेषज्ञ दल ने अस्पतालों, प्रयोगशालाओं, बाजारों समेत संबंधित चिकित्सा संस्थाओं का अध्ययन किया, और दोनों देशों के स्वास्थ्य मंत्रालयों को कुछ सुझाव पेश किये। गिनी की सरकार से जनता तक सभी लोगों ने हमारे दल पर बड़ा ध्यान दिया, हमारा हार्दिक स्वागत किया, और हमें बड़े समर्थन के साथ उच्च मूल्यांकन भी किया।

इसके दौरान विशेषज्ञ दल के आठ सदस्यों ने गहन रूप से चीनी जनता के प्रति दक्षिण सूडान व गिनी दोनों देशों की जनता की गहरी मित्रता व बड़ा विश्वास महसूस किया है। हम न सिर्फ़ स्वास्थ्य के दूत हैं, बल्कि मित्रता के दूत भी हैं। काम करने में हमने हाल के कई वर्षों में चीन के विकास, चीन की चिकित्सा तकनीक व क्षमता के विकास को दिखाया है, खास तौर पर कोविड-19 महामारी के इलाज में कुछ तरीके अफ़्रीकी जनता के लिये बहुत लाभदायक हैं।

चंद्रिमा

शेयर