महामारी की वजह से विश्व में एक तिहाई स्कूली बच्चे शिक्षा से वंचित

2020-08-31 16:32:33
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष द्वारा हाल में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोविड-19 महामारी की वजह से स्कूल बंद होने के दौरान विश्व भर में एक तिहाई यानी 46.3 करोड़ स्कूली बच्चे शिक्षा से वंचित हो गये हैं। जब लॉकडाउन के उपाय सबसे सख्त थे, तो दुनिया भर में लगभग 1.5 अरब विद्यार्थी स्कूल बंद होने से प्रभावित हुए।

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष की कार्यकारी निदेशक हेनरीटा एच. फ़ोर ने कहा कि बड़ी संख्या में बच्चों के लगातार कुछ महीनों में शिक्षा से वंचित होने से जाहिर है कि शिक्षा व्यवसाय वैश्विक संकट में पड़ रहा है, इससे अर्थतंत्र और समाज पर कई दशक सालों में प्रभावित होगा।

इस रिपोर्ट में 100 देशों से प्राप्त आंकड़ों के जरिए, टीवी, रेडियो और नेटवर्क के माध्यम से दूरस्थ शिक्षा वाले उपकरणों का प्रयोग तथा स्कूल निलंबन के दौरान विभिन्न प्लेटफार्मों की पाठ्यक्रम सेटिंग्स का मूल्यांकन किया गया। जाहिर है कि भौगोलिक वितरण से बड़ा फर्क मौजूद है। सहारा के दक्षिणी अफ्रीका में छात्र सबसे अधिक प्रभावित हैं, कम से कम आधे छात्र दूरस्थ शिक्षा सेवाओं से वंचित हैं।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि सबसे गरीब परिवार और ग्रामीण क्षेत्र में बच्चों को दूरस्थ शिक्षा के कम अवसर मिलता है। दुनिया भर में प्रभावित 72 प्रतिशत बच्चे सबसे गरीब परिवार से आते हैं। उच्च आय और मध्यम आय वाले देशों में दूरस्थ शिक्षा से वंचित छात्रों में 86 प्रतिशत सबसे गरीब परिवार से आते हैं, वहीं दुनिया भर में दूरस्थ शिक्षा न पाने वाले तीन चौथाई विद्यार्थी ग्रामीण इलाकों में रहते हैं।

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष ने विभिन्न देशों की सरकार से सुरक्षा की पूर्वशर्त पर स्कूलों को फिर से खोलने को प्राथमिकता देने की अपील की। स्कूलों और शिक्षा प्रणाली को भविष्य में शैक्षिक संकट का मुकाबला करने की क्षमता को मजबूत करना चाहिए।

(श्याओ थांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories