30 हजार भेड़ें उपहार में चीन को देगा मंगोलिया

2020-08-18 17:23:38
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
3/3

इस वर्ष के आरंभ में चीन में कोविड-19 महामारी का प्रकोप हुआ। उस समय कई देशों ने चीन को सहायता दी। उनमें मंगोलिया ने 30 हजार भेड़ें उपहार के रूप में चीन को देने का फैसला किया। हाल ही में मंगोलिया स्थित चीनी राजदूत छाए वनरेई ने सीएमजी को विशेष इन्टरव्यू में यह बात कही।

राजदूत छाए ने कहा कि मंगोलियाई लोगों के विचार में उपहार के रूप में भेड़ का अर्थ सच्चाई और उत्साह होता है। साथ ही भेड़ का मांस स्वास्थ्य के लिये अच्छा होता है। आशा है कि चीनी जनता इसे खाकर अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाकर जल्द ही महामारी को दूर कर सकेंगी।

30 हजार भेड़ें चीन को देने का फैसला किये जाने के बाद मंगोलियाई मीडिया ने इस पर काफ़ी रिपोर्ट दी। मंगोलियाई जनता ने सक्रिय रूप से भेड़ें दान की। केवल एक महीने से कम समय में 30 हजार भेड़ें दान की गयी हैं। लेकिन ये भेड़ें मंगोलिया के विभिन्न क्षेत्रों से आयी हैं, जिन की गुणवत्ता भी भिन्न-भिन्न है। चीनी जनता को सब से अच्छी भेड़ें देने के लिये अंत में मंगोलिया सरकार ने विशेष पूंजी लगाकर सब से अच्छी भेड़ें, यानी गोबी क्षेत्र में रहने वाली भेड़ों को खरीदा।

गौरतलब है कि भेंड़ों को सौंपने के लिये चीन व मंगोलिया के बीच पहले से एक संगरोध समझौता तैयार है। इसके आधार पर ये भेड़ें दोनों देशों की सीमा से नज़दीक एक पृथक चरागाह में 30 दिनों तक अलग रहेंगी, और वहां भेड़ों का संगरोध और टीकाकरण किया जाएगा। फिर भेड़ों को गाड़ी से अरेंहोट में भेजा जाएगा, वहां 10 दिनों तक एकांत में रहेंगी। अगर कोई समस्या नहीं हुई, तो भेड़ों को क़साईख़ाने में भेजा जाएगा।

चंद्रिमा

शेयर