मध्य-पूर्व देशों में मनाया गया ईद उल अजहा

2020-08-01 16:41:47
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

31 जुलाई को मध्य पूर्व के अधिक देशों में ईद उल अजहा मनाया गया। महामारी के तेजी फैलाव के कारण अनेक देशों ने लोगों से स्वच्छता और महामारी-विरोधी नियमों का पालन करने की अपील की।

इराकी स्वास्थ्य मंत्रालय ने 31 जुलाई को कहा कि पिछले 24 घंटे में इराक में पहली बार कोरोना वायरस के 3000 से अधिक नए मामले सामने आए और महामारी के प्रकोप के सर्वाधिक मामले हैं। पिछले कुछ दिनों में इरान में हर दिन पुष्ट मामलों की संख्या 2000 से अधिक तक जा पहुंची है और ईरान व सऊदी अरब की तुलना में और ज्यादा है।

अब मध्य-पूर्व में इराक में पुष्ट मामलों की बढ़ती संख्या सबसे बड़ी बनी हुई है। साथ ही, महामारी की स्थिति गंभीर बन रही है। इराकी जन स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि ईद उल अजहा समाप्त होने के बाद इराकी सरकार आंशिक कर्फ्यू नीति जारी रखेगी।

वहीं, कतर ने 31 जुलाई को रिपोर्ट दी कि उसी दिन पूरे देश में कोरोना वायरस के 235 नए मामले दर्ज हुए इसीलिये कतर में पुष्ट मामलों की कुल संख्या बढ़कर 110695 तक जा पहुंची है, जबकि कुल 174 मरीज़ों की मौत हुई है।

कतर के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि हाल ही में हर दिन कतर में 50 से 100 मरीज उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती होते हैं। इनमें से अधिक गंभीर रूप से बीमार मरीज हैं। उन्होंने अपील की कि महामारी का अगला दौर आने से बचने के लिये लोगों को महामारी-रोधी कदमों का पालन जारी रखना चाहिये।

पहले तुर्की में हर दिन पुष्ट मामलों की संख्या में गिरावट आने लगी थी, लेकिन हाल ही में नये मामलों की संख्या बढ़ने लगी है। अभी तक तुर्की में पुष्ट मामलों की कुल संख्या 230873 तक जा पहुंची है। देश भर में 17 मरीज़ों की मौत हुई है। इसीलिये मौत के मामलों की कुल संख्या 5691 तक जा पहुंची है।

(हैया)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories