बहुध्रुवीकरण की दुनिया में सत्ता की राजनीति का कोई रास्ता नहीं

2020-07-31 19:13:18
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ ने हाल में निक्सन पुस्तकालय के सामने दिये भाषण में चीनी कंपनी हुआवेई का खंडन किया कि वह अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा की धमकी है। इससे पहले अमेरिकी एफबीआई के जांच ब्यूरो के प्रभारी क्रिस्टोफर वरेई, अमेरिका के कानून मंत्री विलियन बार ने भी चीनी उद्यमों की बराबर आलोचना की।

उन अमेरिकी राजनयिकों की नजर में राष्ट्रीय सुरक्षा एक बहाना है, जो सभी चीज़ों को इस में रखा जा सकता है, लेकिन उनके पास कोई सबूत नहीं है। विश्व की सबसे बड़ी टेलिकॉम उपकरण की सप्लाई कंपनी होने के नाते हुआवेई ने पिछले 30 सालों में विश्व के 170 से अधिक देशों और क्षेत्रों में 1500 से ज्यादा नेटों का निर्माण किया और विश्व के 500 शक्तिशाली कंपनियों में से 228 कंपनियों की सेवा दी थी। लेकिन एक ही बार विकीलीक्स की साइबर सुरक्षा की घटना कभी घटित नहीं हुई थी।

29 जुलाई को अमेरिकी कांग्रेस में आयोजित एक सुनवाई सम्मेलन में एप्पल, गूगल और अमेजन तीन अमेरिकी वैज्ञानिक व तकनीक कारोबारों के सीईओ ने पूछने पर जवाब दिया कि उनके पास कोई सबूत नहीं है कि चीन ने अमेरिकी उद्यमों की तकनीक की चोरी की है। उपरोक्त तीन कंपनियों के सीईओ के गवाही ने प्रबल रूप से पोम्पेओ जैसे राजनीतिज्ञों का खंडन किया है।

पिछले अनेक सालों में चीनी उद्यमों ने बाजार के नियमों के मुताबिक अमेरिकी पक्ष के साथ सहयोग किया है, अमेरिकी अर्थतंत्र और रोजगार के बढ़ने में मदद दी है। अमेरिकी आर्थिक विकास में चीन ने भारी योगदान भी दिया है। लोगों ने देखा है कि अमेरिकी राजनीतिज्ञों के बार-बार बाधा डालने से अमेरिका में चीन के निवेश में भारी गिरावट आयी है। अमेरिकी रणनीति और अंतर्राष्ट्रीय मामलों के अनुसंधान केंद्र के विशेषज्ञ स्कॉट केनेदी ने कहा कि चीन के साथ संपर्क तोड़ना अमेरिकी अर्थतंत्र के लिए एक गलती है, जो अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचा सकता है।

हम पोम्पेओ जैसे लोगों को सलाह देते हैं कि परिस्थिति को गलत न समझें, यथाशीघ्र ही उपनिवेशवाद की लाठी को छोड़ें और अमेरिकी जनता, अमेरिकी उद्यमों और अमेरिकी हितों के लिए सही विकल्प चुनें।

(श्याओयांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories